• Hindi News
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • बुनियादी साक्षरता मूल्यांकन परीक्षा कहीं उत्साह तो कहीं परीक्षा के नाम पर हुई सिर्फ खानापूर्ति
--Advertisement--

बुनियादी साक्षरता मूल्यांकन परीक्षा कहीं उत्साह तो कहीं परीक्षा के नाम पर हुई सिर्फ खानापूर्ति

भूली क्षेत्र के विभिन्न लोक शिक्षा केंद्रों मे शनिवार को बुनियादी साक्षरता मूल्यांकन परीक्षा आयोजित की गई। कई...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:30 AM IST
बुनियादी साक्षरता मूल्यांकन परीक्षा 
 कहीं उत्साह तो कहीं परीक्षा के नाम पर हुई सिर्फ खानापूर्ति
भूली क्षेत्र के विभिन्न लोक शिक्षा केंद्रों मे शनिवार को बुनियादी साक्षरता मूल्यांकन परीक्षा आयोजित की गई। कई केन्द्रों पर परीक्षा के नाम पर खानापूर्ति की गई तो कहीं नवसाक्षरों में उत्साह भी दिखा। किसी केंद्र पर परीक्षा देने वाली महिलाओं से अधिक उसकी कॉपी लिखने वाली छात्राओं की संख्या थी, तो कई केंद्र परीक्षा के दिन भी बंद पाया गया। परीक्षा को लेकर दक्षिणी भूली पंचायत एवं मध्य भूली पंचायत के लोक शिक्षा केंद्र मे नव साक्षरों में काफी उत्साह देखा गया। दक्षिणी भूली पंचायत के केंद्र मे कूल 50 नवसाक्षरों का रजिस्ट्रेशन हुआ था जिसमे शत प्रतिशत नवसाक्षर परीक्षा में शामिल हुए। वहीं मध्य भूली पंचायत के लोक शिक्षा केंद्र में कूल 100 नवसाक्षरों का रजिस्ट्रेशन हुआ था, जिसमें 98 नवसाक्षर परीक्षा मे शामिल हुए।

उत्तरी-पश्चिमी भूली पंचायत के लोक शिक्षा केंद्र मे 60 नवसाक्षरों मे 55 नवसाक्षरों ने परीक्षा दिया, तो पश्चिमी भूली पंचायत के केंद्र मे 100 मे 85 नवसाक्षर शामिल हुए। उत्तरी-पूर्वी भूली लोक शिक्षा केंद्र मे 120 नवसाक्षरों मे 84 नवसाक्षरों ने परीक्षा दिया, तो पांडरपाला भारत चैक स्थित लोक शिक्षा केंद्र परीक्षा के दिन भी बंद था। इधर पूर्वी भूली लोक शिक्षा केंद्र का नजारा ही कुछ अलग था इस केंद्र मे परीक्षा देने वाली महिलाओं से अधिक कई स्कूली छात्राएं नवसाक्षरों के काॅपी लिख रही थी।

परीक्षा के दिन भी बंद पांडरपाला स्थित लोक शिक्षा केंद्र।

बुढ़ापे में दिखा पढ़ाई का जुनून

आम तौर पर यह धारणा रहती है कि बुढ़ापे में पढ़ाई से कोई वास्ता नहीं है। इस रूढ़िवादी सोच को उत्तरी-पश्चिमी भूली पंचायत लोक शिक्षा केंद्र के बुजुर्गों ने बदल डाला। परीक्षा केन्द्र पर मुन्नी देवी अपने पति लखन ठाकुर के साथ पहुंची। मुन्नी देवी ने बताया कि वह पहली बार परीक्षा दे रही हैं। इसी तरह सलमा खातून भी अपनी बहु आशमां खातून के साथ परीक्षा देने इस केंद्र पर पहुंची थी, उसने बताया कि पढ़ाई में उम्र का पैमाना आड़े नहीं आता है।

पूर्वी भूली एक केंद्र मे नवसाक्षरों की काॅपी लिखती छात्राएं।

उमेश कुमार सिंह (बीपीएम, धनबाद प्रखंड साक्षरता वाहिनी) - निरीक्षण के लिए लोग गए थे। परीक्षा लेने वाले प्रेरकों को सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक केंद्र मे प्रश्न पत्र लेकर बैठना था। पांडरपाला का केंद्र पहले हीं बंद हो चुका है। पूर्वी भूली लोक शिक्षा केंद्र जिस विद्यालय में चलता है उसके प्रभारी प्रधानाचार्य नेहरु हेंब्रम की ड्यूटी उस केंद्र मे केंद्राधीक्षक के रुप मे थी वहां के बारे मे वही बता सकते है।

X
बुनियादी साक्षरता मूल्यांकन परीक्षा 
 कहीं उत्साह तो कहीं परीक्षा के नाम पर हुई सिर्फ खानापूर्ति
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..