• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • टकराने से बचीं वर्धमान-हटिया, गया-आसनसोल
--Advertisement--

टकराने से बचीं वर्धमान-हटिया, गया-आसनसोल

धनबाद रेलवे स्टेशन पर रविवार की सुबह एक बड़ा हादसा होने से बच गया। प्लेटफाॅर्म संख्या तीन पर वर्धमान-हटिया मेमू...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:55 AM IST
धनबाद रेलवे स्टेशन पर रविवार की सुबह एक बड़ा हादसा होने से बच गया। प्लेटफाॅर्म संख्या तीन पर वर्धमान-हटिया मेमू ट्रेन खड़ी थी। अचानक डाउन लाइन में गया-आसनसोल मेमू ट्रेन भी उसी प्लेटफाॅर्म पर पहुंच गई। वर्धमान-हटिया मेमू टेन का आने का समय 11 बजे है। यह ट्रेन अपने निर्धारित समय से धनबाद प्लेटफाॅर्म पर पहुंच चुकी थी। इसके खुलने का समय ग्यारह बजकर 20 मिनट है। इसी बीच निर्धारित समय से एक घंटा बीस मिनट विलम्ब से चल रही गया-आसनसोल मेमू ट्रेन प्लेटफार्म संख्या तीन पर पहुंच गयी। तीन नम्बर प्लेटफार्म के पहले ही चालक की नजर प्लेटफाॅर्म पर खड़ी ट्रेन पर पड़ने से गया-आसनसोल मेमू ट्रेन के चालक को मामला समझा में आ गया। उसने स्वविवेक का उपयोग करते हुए इमरजेंसी ब्रेक लगा कर प्लेटफाॅर्म शुरू होने के पहले ही ट्रेन को रोक दिया, जिससे बड़ा हादसा टल गया।

वर्धमान हटिया मेमू में धनबाद से सवार होने वाले यात्री अपनी जगह ले चुके थे। चालक के अचानक ब्रेक लगाने से ट्रेन में सवार यात्रियों में खलबली मच गई। स्टेशन पर मौजूद यात्री कुछ समझ पाते, इसके पहले ही चालक ने हादसे को टाल दिया। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। आधुनिक सिग्नल प्रणाली के बावजूद इस तरह की गड़बड़ी होने के कारणों का पता लगाने के लिए जांच दल को आदेश दिया गया है। रेलवे ट्रैक में गड़बड़ी या फिर सिग्नल विभाग की कर्मियों की लापरवाही के कारण हादसा होने से बचा। इसका खुलासा जांच के बाद ही हो पाएगा।

लोकाे पायलट की सुझबूझ से बची सैकड़ों यात्रियों की जान, सामने दूसरी ट्रेन देखते ही लगा दिया इमरजेंसी ब्रेक

सात घंटे विलम्ब से चलकर आठ बजे सुबह आएगी डाउन दून एक्सप्रेस

सिटी रिपोर्टर | धनबाद

देहरादून से चलकर हावड़ा को जाने वाली दून एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय रविवार रात एक बजे के बजाय सोमवार को आठ बजे सुबह में धनबाद पहुंचेगी। यह ट्रेन सात घंटे विलम्ब से चल रही है। दून पिछले कई दिनों से अपने निर्धारित समय से विलम्ब से चल रही है। एक अप्रैल को दूर साढ़े दस घंटा विलम्ब से चलकर साढ़े गयारह बजे दिन में धनबाद पहुंची थी। उसी तरह फिरोजपुर से चलकर धनबाद को आने वाली लुधियाना एक्सप्रेस चार बजकर पचपन मिनट के बजाय बारह बजे दिन में धनबाद पहुंची। 31 मार्च को यह ट्रेन साढ़े आठ धंटा विलम्ब से चलकर डेढ़ बजे धनबाद आयी थी। गर्मी के मौसम में भी ट्रेनों के विलम्ब से चलने के कारण यात्री परेशान हैं।