• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • विज्ञान-प्रौद्योगिकी से आई क्रांति: प्रो पांडेय
--Advertisement--

विज्ञान-प्रौद्योगिकी से आई क्रांति: प्रो पांडेय

सिंफर में मनाया गया राष्ट्रीय विज्ञान दिवस एजुकेशन रिपोर्टर | धनबाद सिंफर ऑडिटोरियम में बुधवार को राष्ट्रीय...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:05 AM IST
सिंफर में मनाया गया राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

एजुकेशन रिपोर्टर | धनबाद

सिंफर ऑडिटोरियम में बुधवार को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस का आयोजन किया गया। सुप्रसिद्ध वैज्ञानिक डॉ सीबी रमन ने अपने रमन प्रकीर्णन नामक खोज का घोषणा 28 फरवरी 1928 को की थी। इसलिए इसी दिन राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय हर साल विज्ञान दिवस समारोह का आयोजन करते हैं। इसका उद्देश्य विज्ञान से होने वाले लाभों के प्रति समाज में जागरूकता लाना और वैज्ञानिक सोच पैदा करना है। सिंफर में आयोजित इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बीएचयू के सेवानिवृत्त डीन प्रो धनंजय पांडे उपस्थित थे। उन्होंने सतत भविष्य के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी के विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किया। उन्होंने पिछले 100 वर्षों में इंजीनियरिंग की चुनौतियों पर बात की। कहा कि हमारे दैनिक जीवन में विज्ञान और प्रौद्योगिकी का काफी महत्व है। इससे पिछली एक सदी में मानव जीवन में क्रांति ला दी है। डॉ पांडेय ने कहा कि ऊर्जा का हद से ज्यादा इस्तेमाल और टेक्नोलॉजी की वजह से बदली जीवन शैली से प्रदूषण बढ़ रहा है। कार्यक्रम की शुरुआत में डॉ आरवीके सिंह ने प्रो धनंजय पांडेय का स्वागत उन्हें किताब भेंट में देकर किया।