• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • 12 लाख रुपए की ठगी में बांका का नौशाद धराया
--Advertisement--

12 लाख रुपए की ठगी में बांका का नौशाद धराया

जिले के बच्चों को शिक्षा दिलाने के नाम पर जिले में भारतीय जन सेवा संस्था नामक एनजीओ चलाने वाले संचालक को मुफस्सिल...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:15 AM IST
जिले के बच्चों को शिक्षा दिलाने के नाम पर जिले में भारतीय जन सेवा संस्था नामक एनजीओ चलाने वाले संचालक को मुफस्सिल थाना की पुलिस ने बुधवार की देर शाम 12 लाख की ठगी करने के आरोप में हिरासत में लिया है। बांका जिलान्तगर्त शंभूगंज थाना क्षेत्र के बैलारी निवासी दानिश परवेज से पुलिस पूछताछ कर रही है। दानिश ने एक सितंबर 17 को शिवपहाड़ में कार्यालय खोला। संस्था एनजीओ के नाम पर जिले में 283 केंद्र खोलें। इन केंद्र में दो से सात साल के बच्चों को शिक्षा दी जानी थी। संचालक हर केंद्र में एक शिक्षक और कुल 14 समन्वयक की नियुक्त की। समन्वयक को आठ हजार और शिक्षक को 16 सौ रुपया वेतन दिया जाता था। इन सभी से नियुक्त के लिए 551 रुपया भी लिया गया। हर केंद्र में 40 बच्चों को शामिल किया गया और हर बच्चे से प्रवेश के नाम पर 70 रुपया भी लिया गया। संचालक ने सभी शिक्षक और समन्वयक को एक माह का वेतन दिया और फिर पैसा देना बंद कर दिया। जब सभी ने वेतन की मांग की तो उसने सभी से आधार कार्ड मांगा। दो माह का वेतन नहीं मिलने पर चिताडीह गांव की इमामी मुर्मू ने थाने में शिकायत की। पुलिस ने दानिश को बुलाकर पूछताछ की तो पुलिस को शक हुआ। दानिश ने बताया कि उसकी संस्था दिल्ली से निबंधित है और दुमका के उपायुक्त को केंद्र चलाने की मौखिक सूचना दी। जांच के क्रम में उसकी सारी बात गलत साबित होने के बाद पुलिस ने हिरासत में लिया। थाना प्रभारी केके सिंह ने बताया कि संस्था कहीं पर भी निबंधित नहीं है। उसने शिक्षक, समन्वयक और बच्चों से प्रवेश के नाम पर करीब 12 लाख रुपया ठगा है। उससे पूछताछ की जा रही है। उसने पहले अपना नाम नौशाद आलम बताया और उसी नाम से पैसा वसूला।