• Hindi News
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • आठ महीने पहले दो लाख से बनी पीसीसी सड़क में आ गईं दरारें
--Advertisement--

आठ महीने पहले दो लाख से बनी पीसीसी सड़क में आ गईं दरारें

विपिन मुखर्जी

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:40 AM IST
आठ महीने पहले दो लाख से बनी पीसीसी सड़क में आ गईं दरारें
विपिन मुखर्जी
जरीडीह प्रखंड कीे बांधडीह उत्तरी पंचायत के भुचुंगडीह में आरईओ रोड से सीताराम सिंह के घर तक आठ महीने पहले बनी पीसीसी सड़क जगह-जगह क्रेक हो गई। लगभग दो लाख की लागत से बनी इस पीसीसी सड़क में यहां के ग्रामीण घोटाला करने का आरोप लगा रहे हैं। ग्रामीणों ने कहा कि हम लोग सड़क निर्माण के दौरान ही अनियमितता का विरोध किया था, लेकिन ठेकेदार ने मनमानी कर काम पूरा कर दिया। जनहित का ख्याल छोड़ ठेकेदार और अधिकारियों से शिकायत करने पर मुकदमे में फंसाने की धमकी देने लगे।

बनने के तीन माह बाद ही होने लगी दरार

ग्रामीणों की शिकायत पर जब डीबी स्टार टीम पीसीसी सड़क देखने पहुंची, तो स्थानीय लोगों में आक्रोश दिखा। बांधडीह उत्तरी पंचायत के आरईओ रोड से सीताराम सिंह के घर तक 14वें वित्त आयोग की राशि से बनी 200 फीट पीसीसी सड़क पर 8 महीने बाद ही दर्जनों जगह दरार आ गई। बनने के समय ग्रामीणों ने बीडीओ और प्रखंड बीस सूत्री अध्यक्ष से शिकायत की थी। उस समय ही घटिया बंगला भट्टा का ईंट व घटिया बालू व सीमेंट का इस्तेमाल करने की शिकायत की गई थी। सीमेंट, बालू व गिट्टी का अनुपात 1:2:3 के जगह 1:5:8 अनुपात से इस्तेमाल किया गया है। बीडीओ और बीस सूत्री अध्यक्ष ने ठेकेदार को चेतावनी भी दिया, लेकिन ठेकेदार ने घटिया काम ही किया।

ग्रामीण लगा रहे घोटाले का आरोप, मुखिया काम से संतुष्ट

दरार को दिखाते बीस सूत्री अध्यक्ष।

क्या कहते हैं ग्रामीण

ग्रामीण सीताराम सिंह, उढ़ल देवी, सोमी देवी, चंदा देवी आदि ने कहा कि इस पीसीसी को बनाने के नाम पर महज खानापूर्ति हुई, सरकारी फाइल में सिर्फ इंट्री हो गई कि यहां सड़क बन गई। लेकिन सड़क निर्माण में शुरुआत से काम पूरा होने तक कोई जिम्मेदार अधिकारी या अभियंता सड़क का हाल जानने नहीं आए। लोगों का कहना है कि दो लाख में एक लाख रुपए खर्च कर ही जैसे तैसे पीसीसी बनाकर सरकारी राशि का घपला कर लिया गया। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि तीन साल पहले ही इसी सड़क के किनारे सरकारी स्तर से एक नाली का निर्माण हुआ है। नाली निर्माण में भी काफी अनियमितता बरती गई, जिसके चलते इन दिनों नाली जाम है, नाली से पानी निकासी नहीं होने से स्थानीय लोगों के लिए यह बीमारी का कारण बना हुआ है।

जगह-जगह क्रेक हो चुकी पीसीसी सड़क लाल घेरे में।

सीधी बातचीत

मुखिया रूबी कुमारी से

सवाल- कितने की लागत से यह सड़क बनी है?

जवाब- 8 महीना पहले ही 14 वें वित्त आयोग से 170 फीट पीसीसी सड़क बनाई गई है, जिसका प्राक्कलन लगभग एक लाख 88 हजार रुपए था। सड़क का ठेकेदार विनय ठाकुर था।

सवाल- जगह-जगह पीसीसी सड़क पर दरार आ गई, सही काम नहीं हुआ क्या?

जवाब-पीसीसी सड़क के क्रेक होने का मुख्य कारण, भारी वाहन घुस गया था। भारी वाहनों के कारण दरार आ गई होगी।

सवाल- क्या आप इस पीसीसी निर्माण से संतुष्ट हैं।

जवाब-हां संतुष्ट हैं, लेकिन हम सभी लोगों को खुश नहीं कर सकते, अगर कोई शिकायत करता है, तो मैं चुनौती देने के लिए तैयार हूं, काम पूरी गुणवत्ता के साथ किया गया है।

जांच कर कार्रवाई करूंगा

अाठ महीने में ही पीसीसी पथ में दरार आ गई है, यह तो आपसे ही पता चला। मैं जांच कर कार्रवाई करूंगा।

सदानंद महतो, बीडीओ, जरीडीह

X
आठ महीने पहले दो लाख से बनी पीसीसी सड़क में आ गईं दरारें
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..