• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • विज्ञान व शिल्प कला मेला में छात्र-छात्राओं ने दिखाई प्रतिभा
--Advertisement--

विज्ञान व शिल्प कला मेला में छात्र-छात्राओं ने दिखाई प्रतिभा

डीबी स्टार

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 02:25 PM IST
डीबी स्टार
डॉ. श्याम प्रसाद मुखर्जी इंटर कॉलेज सिंदरी में दो दिवसीय विज्ञान व शिल्प कला मेला 2018 का आयोजन बुधवार को किया गया। जिसका उद्‌घाटन बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. डीके सिंह व विशिष्ट अतिथि सेल डीजीएम शिवराज बनर्जी, लैंको के प्रोजेक्ट हेड कृष्णा प्रवीण कोटा ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। डॉ. डीके सिंह ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि विज्ञान मेला से छात्र प्रकृति से जुड़ जाते हैं। उन्होंने कहा कि आविष्कार ऐसा हो जिससे आम आदमी के जीवन स्तर में सुधार हो और जीवन स्तर उच्च हो। उन्होंनें ग्रामीणों बच्चों के प्रदर्शन की सराहना की। उन्होंने छात्र-छात्राओं को हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। इसके पूर्व प्राचार्य डॉ. जेके बनर्जी ने स्वागत भाषण में महाविद्यालय के विकास और प्रगति के लिए सहयोग मांगा। जबकि सचिव प्रो. ओमप्रकाश ने स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। जबकि डीजीएम बनर्जी को स्मृति चिन्ह डॉ. जेके बनर्जी लैंको के प्रोजेक्ट हेड कृष्णा प्रवीण कोटा को मिलंद ने स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। मौके पर सेल के प्रबंधक पंकज कुमार,केएन तिवारी ,लैको के मल्लिकार्जुन,मनीष रंजन, पीडीआईएल महाप्रबंधक एके सिंह, भारत विकास परिषद सिंदरी के सचिव रंजीत कुमार ,भाजपा प्रबुद्ध प्रकोष्ठ जिला संयोजक दिनेश सिंह, विदेशी सिंह, नरेन्द्र कुमार शर्मा, एस डी चटराज, शिक्षक एके सिंह सहित महाविद्यालय परिवार मौजूद थे। विज्ञान मेला में डॉ. राजेश मिश्रा के नेतृत्व में छात्र छात्राओं ने 58 प्रदर्शनी लगाए । प्रो पिंकी सिंह के नेतृत्व में शिल्प कला मेला का आयोजन किया गया। जिसमें 130 प्रदर्शनी लगाया गया ।शिल्प कला मेला के निर्णायक मंडली में प्रो. डॉ. विशु मेघनानी,शबनम, नीरा सिंह थी। जबकि विज्ञान मेला के निर्णायक मण्डली में अखिलेश सिंह,राधेश्याम प्रसाद, बीसी द्विवेदी,आरके झा थे। आयोजन को सफल बनाने में उप प्राचार्य वीपी सिंह,यूएल दास, अनिता रानी सिन्हा, बीके सिंह, एनके सिंह, एके सिंह, बीके सिंह, शिक्षक प्रतिनिधि संजय कुमार, विश्वनाथ प्रसाद सिंह, प्रो. एसके पाल, प्रो. हबीब, प्रो बी सिंह, मदन मोहन पाठक, डीसी बनर्जी सहित शिक्षकेतर कर्मचारी सक्रिय रहे ।