विज्ञापन

हादसा / एंबुलेंस ने पांच लोगों को मारी टक्कर, एक की मौत, तीन जख्मी

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 05:46 PM IST


शव के साथ ग्रामीण पहुंचे समाहरणालय। शव के साथ ग्रामीण पहुंचे समाहरणालय।
X
शव के साथ ग्रामीण पहुंचे समाहरणालय।शव के साथ ग्रामीण पहुंचे समाहरणालय।
  • comment

  • बुधवार की रात अनियंत्रित एंबुलेंस ने मारी थी पांच लोगों को टक्कर
  • हादसे के बाद नशे की हालत में ही भाग निकला एंबुलेंस ड्राइवर

जामताड़ा. तेजी व लापरवाही से दौड़ती एक एंबुलेंस ने बुधवार की रात पांच लोगों को टक्कर मार दी। इस घटना में 50 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई है। जबकि चार घायल हो गए। गंभीर रूप से घायल एक युवक को पीएमसीएच, धनबाद रेफर कर दिया गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, नशे की हालत में चालक ने एंबुलेंस भीड़ में घुसा दी। यह घटना जामताड़ा शहर के मालपाड़ा की है।

कुछ लोग सड़क पर खड़े होकर बात कर रहे थे

  1. मृतक की पहचान कार्तिक माल के रूप में की गई। टोला के मिथुन माल (27), अंगद माल (20) तथा फूची माल (30) घायल हो गए। दरअसल, मालपाड़ा में सरस्वती प्रतिमा विसर्जन के बाद खिचड़ी भोज का आयोजन किया गया था। उक्त भोज में शामिल होने के बाद लोग अपने घर लौट रहे थे। कुछ लोग सड़क पर खड़े होकर आपस में बात कर रहे थे। इसी दौरान तेज गति से एंबुलेंस मौके पर पहुंची और हादसा हुआ।

  2. एंबुलेंस 10 फीट तक घसीटती ले गई कार्तिक को

    गंभीर रूप से घायल अंगद ने बताया कि तेज गति से आ रही एंबुलेंस ने एक व्यक्ति को ठाेकर मारने के बाद उसे टक्कर मारी। वह जमीन पर किनारे गिर गया। एंबुलेंस आगे बढ़ते हुए एक महिला और फिर एक व्यक्ति को धक्का मारने के बाद कार्तिक को धक्का मारा और उन्हें लगभग 10 फीट तक घसीटती रही। बाद में एक घर के दीवार से टकराकर एंबुलेंस स्वत: रुक गई और चालक मौके से फरार हो गया। मृतक के बेटे विजन ने बताया कि एंबुलेंस की टक्कर से आसपास में खड़े मिथुन माल, अंगद माल तथा फूची माल बूरी तरह से घायल हो गए। उन्होंने कहा कि एंबुलेंस दृढ़ संकल्प नामक एक एनजीओ द्वारा संचालित है।

  3. शव के साथ ग्रामीण पहुंचे समाहरणालय

    ग्रामीण मुआवजे व एनजीओ के एंबुलेंस पर कार्रवाई की मांग को लेकर शव के साथ समाहरणालय पहुंचे। डीसी जटाशंकर चौधरी से मृतक के पुत्र विजन माल व अन्य ने मिलकर घटनाके संबंध में बात की। डीसी ने एसडीआे को पारिवारिक लाभ के तहत मुआवजा देने का निर्देश दिया। साथ ही एनजीओ पर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। एसडीओ उमाशंकर प्रसाद ने मृतक के पुत्र विजन माल को नकद 20 हजार रुपए दिए। साथ ही मृतक की पत्नी लतिका देवी काे विधवा पेंशन तथा अंबेडकर आवास देने का आश्वासन दिया। ग्रामीणों के अनुसार मृतक कार्तिक माल रसोइया का काम करता था। परिवार में एकमात्र कार्तिक माल ही कमाने वाला था।

  4. उल्लास मातम में हुई तब्दील

    सरस्वती विसर्जन का उमंग व उल्लास पलभर में ही मातम में तब्दील हो गया। सरस्वती पूजा के विसर्जन में टोला के सभी छोटे बड़े शामिल थे। लेकिन घटना के बाद सभी की आंखें नम हो गई तथा उल्लास मातम में तब्दील हो गया।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन