• Hindi News
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • Chirkanda News dead bodies of uncle and nephew found floating between railway bridge and barakar bridge on third day

तीसरे दिन रेलवे ब्रिज और बराकर पुल के बीच तैरते मिले मामा और भांजे के शव

Dhanbad News - बराकर नदी में कार्तिक पूर्णिमा के दिन डूबे मामा-भगिना का शव गुरुवार की अल सुबह लगभग पांच बजे नदी में रेलवे ब्रिज व...

Nov 15, 2019, 08:40 AM IST
Chirkanda News - dead bodies of uncle and nephew found floating between railway bridge and barakar bridge on third day
बराकर नदी में कार्तिक पूर्णिमा के दिन डूबे मामा-भगिना का शव गुरुवार की अल सुबह लगभग पांच बजे नदी में रेलवे ब्रिज व बराकर पुल के बीच तैरते मिला। सुबह शाैच के लिए गए लाेगाें ने शाेर मचाया। इसके बाद मंदिर में शरण लिए परिजन घाट पर पहुंचे। मामा-भगिना का शव बंगाल के घाट पर सात से अाठ मीटर की दूरी पर तैर रहा था।

परिजन शवाें काे नदी से निकाल वाहन में लाद कर धनबाद के लिए रवाना हाे गए। हालांकि बंगाल अाैर झारखंड पुलिस के बीच सीमा विवाद में मामला उलझ गया। परिजनाें के अनुराेध पर पुलिस धनबाद में पाेस्टमार्टम कराने के बाद दाेनाें शवाें काे उसके घरवालाें काे साैंप दिया। बता दें कि 12 नवंबर काे प्राेफेसर काॅलाेनी के राजू कुमार दास अाैर भूदा महावीर नगर के राजू कुमार स्नान करने के दाैरान बराकर नदी में डूब गए थे। दाेनाें की खाेजबीन के लिए बंगाल एनडीअारएफ द्वारा रेस्क्यू चलाया गया था।

लाश पहुंचते ही प्रोफेसर कॉलोनी स्थित मृतक के घर के पास जुटी भीड़।

बंगाल व झारखंड पुलिस के बीच सीमा काे लेकर विवाद

जिस समय दाेनाें शव मिला, माैके पर पुलिस माैजूद नहीं थी। सूचना पर बंगाल पुलिस जबतक पहुंचती परिजन शव लेकर धनबाद रवाना हाे चुके थे। बंगाल पुलिस जीटी राेड मैथन टाेल प्लाजा के पास परिजनाें के वाहनाें काे राेक कर शवाें का अासनसाेल में पाेस्टमार्टम कराने की बात कही। इस बीच मैथन पुलिस भी पहुंची। बंगाल व झारखंड पुलिस के बीच सीमा काे लेकर विवाद हाे गया। परिजनाें ने दाेनाें शवाें का पाेस्टमार्टम धनबाद में कराने का अनुराेध किया। बंगाल पुलिस भी मान गई। इसके बाद मैथन पुलिस शव काे पाेस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

शिव मंदिर में शरण लिए हुए थे परिजन

घटना के बाद से दाेनाें के परिजन बंगाल के बराकर घाट के किनारे स्थित शिव मंदिर में शरण लिए हुए थे। दिनभर रेस्क्यू अभियान काे देखते अाैर रात में मंदिर में ठहर जाते। यही कारण है कि शव मिलने की सूचना पर वे खुद घाट पर पहुंचे अाैर उसे लेकर धनबाद के लिए रवाना हाे गए।

लाश पहुंचते ही परिजन चीत्कार मारकर रो पड़े।

एक साथ निकली मामा अाैर भाजे की शवयात्रा

इधर, मामा-भगिना का शव एक साथ प्राेफेसर काॅलाेनी पहुंचने पर मातम छा गया। महावीर नगर के राजू का भी शव प्राेफेसर काॅलाेनी स्थित नानी के अावास पर लाया गया। शव के पहुंचते ही काफी संख्या में लाेग जुट गए। घर की महिलाअाें का राे-राेकर बुरा हाल था। महिलाअाें की चीत्कार से लाेगाें की अांखें भी नम हाे गई। लोगों दोनों के परिजनों को सांत्वना दे रहे थे। घर से मामा-भगिना की एक साथ शवयात्रा निकाली गई। दाेनाें काे तेलीपाड़ा स्थित श्मशान घाट ले जाया गया, जहां दाेनाें का एक साथ दाह संस्कार किया गया।

Chirkanda News - dead bodies of uncle and nephew found floating between railway bridge and barakar bridge on third day
X
Chirkanda News - dead bodies of uncle and nephew found floating between railway bridge and barakar bridge on third day
Chirkanda News - dead bodies of uncle and nephew found floating between railway bridge and barakar bridge on third day
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना