तस्करी / तस्करों के नाम-पते पुलिस रिकाॅर्ड में, कार्रवाई के नाम पर पत्राचार



कोयला तस्कर। (फाइल फोटो) कोयला तस्कर। (फाइल फोटो)
X
कोयला तस्कर। (फाइल फोटो)कोयला तस्कर। (फाइल फोटो)

  • धनबाद-बोकारो क्षेत्र में खुलेआम हो रही है कोयले की तस्करी 
  • सीआईडी रिपोर्ट में जिम्मेदार, खनन और तस्करी की जानकारी 

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 01:15 PM IST

रांची. धनबाद-बोकारो क्षेत्र में कोयले की खुलेआम तस्करी हो रही है। कोयला तस्करों के नाम, पता-ठिकाने सब पुलिस रिकाॅर्ड में है। लेकिन कार्रवाई के नाम पर सिर्फ चिट्ठी चल रही है। आज तक इन तस्करों के खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई नहीं हुई। दिखावे के नाम पर छोटे-मोटे केस दर्ज होते हैं। ताकि पुलिस पर उंगली न उठे। और दूसरी ओर तस्करी का खेल बेरोकटोक चलता है। 

तस्करी पर रोक लगाने के लिए हुई थी बैठक

  1. कोयला तस्करी पर रोक लगाने के लिए हाल ही में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बैठक हुई थी। इसमें पुलिस की कार्रवाई की समीक्षा की गई। दावा किया गया कि कुछ क्षेत्रों में कोयले की तस्करी रुक गई है। जबकि वास्तविकता इसके बिल्कुल उलट है। इससे पहले सीआईडी ने अपनी रिपोर्ट में कोयला तस्करी की पुष्टि की थी। तस्करी में शामिल लोगों के नाम, अवैध डिपो, अवैध खनन क्षेत्रों की सूची पुलिस के आला अफसरों को उपलब्ध कराई थी। लेकिन इसके बाद भी पुलिस विभाग इस पर रोक नहीं लग पाई। 

  2. कहां कौन है कोयले के काले धंधे में लिप्त

    सीआईडी ने अवैध कोयला डिपो के संचालनकर्ताओं के रूप में कुछ लोगों को चिह्नित कर पुलिस मुख्यालय को सूची भेजी है। ये हैं - निरसा के मुन्ना तिवारी, मुन्ना खान, बबलू तिवारी, दिवाकर मंडल, माखू सिंह, छोटू मिश्रा, रमाशंकर सिंह, शिवशंकर सिंह, आसनसोल के जगदीश तिवारी, अल्लारखा, गोविंदपुर के इशाक अंसारी, बबलू, रूस्तम, मनीर, नसीम, हाजी हुसैन, सबीर, कलाम, रफीक, हफाजुद्दीन, निरंजन अंसारी, बरवाअड्डा के विनय मंडल, विश्वजीत मंडल, सरायढेला के प्रेम केसरी, कालूबथान के रोबिन गोराई, झरिया के लालबहादुर सिंह, कुंभ सिंह, प. बंगाल के राजेंद्र सिंह। 

  3. दामोदर तट से अवैध खनन कर नाव से बंगाल जा रहा कोयला

    सीआईडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि कालूबथान थाना क्षेत्र के दामोदर नदी के घाटों से नावों पर अवैध कोयला लोड कर पश्चिम बंगाल के रघुनाथपुर, चिलियामा आदि क्षेत्रों में भेजा जा रहा है। घाट तक कोयला साइकिल से पहुंचा कर डंप किया जाता है। दामोदर नदी तट पर निरसा, तिसरा, सिंदरी इलाके से अवैध खनन कर कोयला पहुंचाया जा रहा है। 

  4. बंद पड़ी खदानों से निकाल रहे हैं कोयला

    झरिया, सुदामडीह, पाथरडीह, भौंरा, कतरास थाना क्षेत्र के आसपास के इलाकों में संचालित आउटसोर्सिंग खदानों एवं बंद खदानों से कोयले का अवैध खनन कर ईंट भट्ठों और सॉफ्ट कोल भट्ठों में खपाया जा रहा है। केंदुआडीह थाना क्षेत्र के कुसुंडा एवं जोधर बस्ती के आसपास के बीसीसीएल खदानों से भी कोयले का अवैध खनन हो रहा है। 

COMMENT