--Advertisement--

योजना / चंदनकियारी नेशनल ग्रिड से धनबाद को मिलेगी 100 एमवीए बिजली

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 01:22 PM IST


Dhanbad gets 100 MVA electricity from Chandankiyari National Grid
X
Dhanbad gets 100 MVA electricity from Chandankiyari National Grid

  • नागार्जुन कंपनी को सौंपी गई चंदनकियारी से पुटकी तक ट्रांसमिशन लाइन तैयार करने की जिम्मेवारी, 3 माह में पूरा होगा काम 

धनबाद. धनबाद को एक नया वैकल्पिक बिजली माध्यम मिलेगा। कांड्रा ही नहीं, चंदनकियारी नेशनल ग्रिड से भी धनबाद को जोड़ा जाएगा। चंदनकियारी ग्रिड पुटकी को जोड़ने की योजना को झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड ने मंजूरी प्रदान कर दी है। धनबाद को चंदनकियारी नेशनल ग्रिड से 100 एमवीए बिजली मिलेगी। बिजली विभाग के मुताबिक योजना को लेकर रूट मैप तैयार कर लिया गया है। 

नागार्जुन कंपनी को ट्रांसमिशन लाइन खिंचने की जिम्मेदारी

  1. चंदनकियारी से डिगवाडीह, झरिया होते हुए जेबीवीएनएल के पुटकी पावर स्टेशन तक ट्रांसमिशन लाइन तैयार किया जाएगा। नागार्जुन कंपनी को चंदनकियारी से पुटकी पावर स्टेशन तक ट्रांसमिशन लाइन खिंचने की जिम्मेवारी सौंपी गई है। पांच माह में ट्रांसमिशन लाइन तैयार करने का निर्देश दिया गया है। चंदनकियारी नेशनल ग्रिड से जुड़ने के बाद धनबाद में जीरो कट बिजली का सपना साकार होने की पूरी संभावना है। 

  2. ट्रांसमिशन लाइन तैयार करने में लगेंगे 60 करोड़

    चंदनकियारी से पुटकी नेशनल ग्रिड को जोड़ने की जिम्मेवारी नागार्जुन कंपनी को सौंपी गई है। ट्रांसमिशन लाइन में करीब 60 करोड़ रुपए खर्च होगा। चंदनकियारी से पुटकी के बीच ट्रांसमिशन लाइन खिंचने के लिए 200 रेल पोल और 600 से ज्यादा कंडक्टर का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके अलावे पहली बार बिजली के सभी खंभों में लाइटिंग अरेस्टर लगाए जाएंगे। ऐसे में खराब मौसम में भी ट्रांसमिशन लाइन से बिजली आपूर्ति सुचारू रहेगी। 

  3. पीटीपीएस से चंदनकियारी को मिलेगी बिजली

    चंदनकियारी में बन रहे नेशनल ग्रिड को पतरातू थर्मल पावर प्लांट से बिजली मिलेगी। चंदनक्यारी ग्रिड की क्षमता 200 मेगावाट की है। हालांकि, शुरुआती दौर में पीटीपीएस से चंदनकियारी ग्रिड को 150 मेगावाट बिजली मिलेगी। इसमें करीब 100 मेगावाट बिजली धनबाद को मिलेगा। वहीं, शेष बचे 50 मेगावाट बिजली जरूरत के अनुसार राज्य के अन्य सात एरिया बोर्ड में सप्लाई की जाएगी। 

  4. चंदनकियारी ग्रिड से जुड़ने के फायदे

    1. धनबाद में जीरो कट बिजली की संभावना : कांड्रा के बाद चंदनकियारी ग्रिड से जुड़ने के बाद धनबाद में 200 मेगावाट अतिरिक्त बिजली मिलना शुरू हो जाएगा। वहीं, जेबीवीएनएल को डीवीसी से भी बिजली मिलेगी। ऐसे में धनबाद में जीरो कट बिजली का सपना साकार हो सकता है। 
    2. राजस्व का होगा फायदा : फिलहाल जेबीवीएनएल के पास बिजली खरीदने का एकमात्र स्रोत डीवीसी है। 5.25 रुपए की दर से डीवीसी से बिजली खरीदी जा रही है। पीटीपीएस से बिजली लेने पर दर करीब 3.75 रुपए हो जाएगी। 

  5. जेबीवीएनएल के एमडी का कहना

    जेबीवीएनएल के एमडी राहुल पुरवार का कहना है कि बिजली व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए कई योजनाएं चल रही है। इसी दिशा में धनबाद सहित राज्य में चार नेशनल ग्रिड का निर्माण किया जा रहा है। इनमें दो धनबाद में है। धनबाद में जीरो कट बिजली उपलब्ध कराने के उद्देश्य से गोविंदपुर के कांड्रा के बाद चंदनक्यारी नेशनल ग्रिड से बिजली सप्लाई की जाएगी।

Astrology
Click to listen..