धनबाद

--Advertisement--

गिरिडीह: ढाई लाख में मुखिया ने दी थी आजाद की हत्या की सुपारी, बीडीओ को भी लगी थी गोली

गोलीकांड में जख्मी हुए आजाद मंडल की पत्नी सुषमा देवी भी शामिल थी

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 07:38 PM IST
Giridih Gandey BDO Gun Shot case

गिरिडीह. गांडेय बीडीओ प्रभाकर मिर्धा समेत दो लोगों पर हुए गोलीकांड मामले का खुलासा गिरिडीह पुलिस ने कर दिया है। प्रेम संबध को लेकर हुए गोलीकांड को अंजाम देने वाले आरोपी मुखिया हरि मंडल और एक सुपारी किलर सुधीर मोदी समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गोलीकांड में जख्मी हुए आजाद मंडल की पत्नी सुषमा देवी भी शामिल थी। पुलिस के अनुसार अपराधियों के टारगेट पर आजाद मंडल ही था पर बीच में आने की वजह से बीडीओ को भी गोली मार दी गई। दासडीह पंचायत का मुखिया हरि मंडल अप्रैल में दासडीह को ओडीएफ घोषित करने के कारण पीएम नरेन्द्र मोदी से मध्य प्रदेश के जबलपुर में सम्मानित हो चुका है।

आजाद के रहते पत्नी ने किया था शादी से इनकार
रविवार को पुलिस लाईन में एसपी सुरेन्द्र झा, एसडीपीओ मनीष टोप्पो और डीएसपी प्रमोद मिश्रा ने संयुक्त प्रेसवार्ता में बताया कि शुरुआत में घटना सामान्य प्रतीत हो रही थी। लेकिन बाद में हाईप्रोफाइल निकला। गांडेय के मरगोडीह गांव निवासी आजाद मंडल की पत्नी सुषमा देवी का दासडीह पंचायत के मुखिया हरि मंडल के साथ करीब छह सालों से प्रेम संबध चल रहा था। इस बात की जानकारी आजाद मंडल को नहीं थी। एक ही गांव में होने के कारण आजाद की पत्नी सुषमा मुखिया हरि मंडल को ससुर मानती थी। बावजूद सुषमा और हरि मंडल के बीच प्रेम संबध प्रगाढ़ हो चुका था। मुखिया हरि ने कई बार सुषमा से शादी करने की इच्छा भी जताई। लेकिन सुषमा पहले आजाद से अलग होना चाहती थी। आजाद को हटाए बगैर वह शादी को राजी नहीं थी और उसकी हत्या कराने का सुझाव मुखिया को दिया। इसके बाद मुखिया हरि मंडल उसकी हत्या करने की तैयारी में जुट गया। जिसकी सुपारी उसने सीताराम मंडल काे दिया। सीताराम ने ही हरि मंडल को रामगढ़ के दो शूटर शिवदयाल सिंह और सुधीर मोदी से संपर्क कराया।

हरि मंडल के बताए अनुसार पहुंचे थे दोनों शूटर
हरि मंडल के बताए अनुसार दोनों शूटर बीते शनिवार 4 अगस्त की शाम गांडेय बीडीओ के आवास के समीप पहुंचे। जहां दो अज्ञात लोगों को देखकर बीडीओ ने आवास के सामने गाड़ी खड़ी करने का कारण पूछा। बीडीओ की आवाज सुनकर वहां मौजूद आजाद मंडल भी बाहर निकल आया। उसके पहुंचते ही दोनों शूटरों ने अपनी कमर में रखी माउजर व देसी कट्‌टा निकाला और फायरिंग शुरू कर दी। इसमें जान बचाकर भागने के दौरान आजाद की जांघ व बीडीओ के पैर में गोली लगी।

मुखिया ने बनवाया था आलीशान मकान, दरवाजा खुलता है रिमोट से
पुलिसिया जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि मुखिया हरि मंडल पहले साइबर अपराधी रह चुका है। साथ ही मरगोडीह गांव में आलीशान मकान बनाया, जिसका दरवाजा रिमोट से खुलता व बंद होता है। रामगढ़ के बरकाकाना थाना क्षेत्र के नया नगर निवासी सुपारी किलर सुधीर मोदी के पास से पुलिस ने गोलीकांड में इस्तेमाल दो रिवाॅल्वर, चार कारतूस, तीन मोबाइल और एक बाइक बरामद कर लिया है। जबकि दूसरा सुपारी किलर शिवदयाल सिंह अब भी फरार है। मुखिया हरि मंडल ने आजाद मंडल की हत्या के लिए सुधीर कुमार को 10 हजार रुपए दिए थे। जबकि दोनों सुपारी किलर ने आजाद मंडल की हत्या के लिए 2.5 लाख रुपए मांगे थे। एसपी ने बताया कि रामगढ़ से गिरफ्तार सुपारी किलर सुधीर मोदी पूर्व में गिरिडीह के हीरोडीह थाना क्षेत्र के धुरैता गांव का रहने वाला था। सुधीर के पिता स्व: जागेशवर मोदी रामगढ़ में सीसीएल में पदस्थ थे।

X
Giridih Gandey BDO Gun Shot case
Click to listen..