हादसा / भैंसा धोने तालाब गए चार बच्चे डूबे, दो की मौत



रोते बिलखते परिजन। रोते बिलखते परिजन।
X
रोते बिलखते परिजन।रोते बिलखते परिजन।

  • मृतक दोनों बच्चे चचेर भाई, युवक ने दो बच्चों की बचाई जान

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2019, 08:11 PM IST

गिरिडीह. गिरिडीह जिले के कैरीडीह गांव में जहां एक ओर रामनवमी की तैयारी चल रही थी, वहीं दूसरी ओर गांव के तालाब में डूबने से दो बच्चों की मौत से गांव में मातम पसर गया। सूचना पर लोग दौड़े-भागे तालाब की ओर पहुंचे। तब तक दोनों बच्चों की मौत हो चुकी थी। मृतकाें में 9 साल का मनीष कुमार और 9 साल का ही वीरेंद्र कुमार यादव शामिल हैं। दोनांे बच्चे सगे चचेरे भाई थे। मामला जमुआ थाना क्षेत्र के नवडीहा ओपी के कैरीडीह गांव का है। 

 

युवक ने दो बच्चों की बचाई जान
शनिवार दोपहर करीब एक बजे अगल-बगल के चार बच्चे गांव के पश्चिम दिशा स्थित तेलो आहार में भैंसा धोने गये थे। भैंसा धोने के क्रम में चारों बच्चे भैस के साथ गहरे पानी में चले गए और डूबने लगे। जब बच्चे डूबने लगे तो जोर-जोर से चिखने-चिल्लाने लगे। आवाज सुनकर बगल में काम कर रहे सुधीर साव दौड़ते हुए वहां पहुंचे और तालाब मंे छलांग लगा दी। जिसमें चार में से दो बच्चों को तो उसने तालाब से किसी तरह निकाला। लेकिन जब तक अन्य दो बच्चों को निकाला जाता तब तक दोनों ने दम तोड़ दिया था। 

 

पहली क्लास में पढ़ते थे दोनों बच्चे
मृतकों में मनीष कुमार यादव (9) पिता नेपाली यादव और वीरेंद्र कुमार यादव (9) पिता नागेश्वर यादव हैं। दोनों खुट्टाबांध स्थिति केएम पब्लिक स्कूल के पहली कक्षा के छात्र थे। रामनवमी की छुट्टी के कारण शनिवार को दोनों घर पर ही थे और भैंसा धोने व नहाने के लिए तालाब गए थे। बताया जाता है कि तेलो आहार का जीर्णोद्धार हाल ही में किया गया है, जिससे उसकी गहराई अधिक होने के कारण पानी का स्टॉक अधिक था। जिसमें दोनों गहराई में चले गए, नेपाली यादव सूरत में मजदूरी करता है और अभी भी वह सूरत में ही है। जबकि नागेश्वर यादव गांव में रहकर मजदूरी कर अपना जीवन यापन करता है। घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। देर शाम को परिजनों द्वारा मृतक बच्चों को दफन कर दिया गया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना