विज्ञापन

अपराध / ई-वॉलेट अकाउंट बंद होने का झांसा देकर लोगों से करते थे ठगी, दो साइबर ठगों को दबोचा

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 07:18 PM IST


Giridih news Two cyber thugs arrested by police
X
Giridih news Two cyber thugs arrested by police
  • comment

  • घटना को अंजाम दे रांची में किराए के मकान में छिप जाते थे दोनों, छह मोबाइल जब्त

गिरिडीह. पेटीएम धारकों से पेटीएम अधिकारी बनकर साइबर ठगी करने वाला दो शातिर अपराधी को साइबर थाना पुलिस गिरिडीह ने अपराध को अंजाम देते रंगे हाथ रविवार को गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपी पेटीएम के ई-वॉलेट अकाउंट बंद होने का झांसा देकर लोगों से ठगी करते थे। आरोपियों के पास से पांच मोबाइल और दो डेबिट एटीएम कार्ड बरामद किया है। गिरफ्तार किए गए अपराधियों में जामताड़ा के नारायणपुर थाना क्षेत्र के झिलुआ निवासी प्रदीप कुमार मंडल और गिरिडीह के गांडेय थाना क्षेत्र के रकसकुट्‌टाे निवासी प्रेमचंद मंडल शामिल हैं। दोनों को गांडेय थाना क्षेत्र के रकसकुट्‌टा के जमुनियाबाद से गिरफ्तार किया गया। दोनों को पूछताछ के बाद रविवार को जेल भेज दिया गया है। इसे लेकर रविवार को साइबर डीएसपी सुमन समदर्शी के पुलिस लाइन स्थित सभागार में एक प्रेसवार्ता कर जानकारी दी। 

गुप्त सूचना के बाद की गई कार्रवाई

  1. उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी गांडेय थाना क्षेत्र के जमुनियांबाद बांसबाड़ी में दो साइबर अपराधी अपने मोबाइल से पेटीएम ऐप के माध्यम से पेटीएम खाता धारकों को पेटीएम बंद होने के नाम पर गुमराह कर ठगी कर रहे थे। सूचना के आधार पर साइबर थाना के सअनि राकेश रौशन पांडेय के नेतृत्व में एक टीम बनाया गया, जिसमें आरक्षी मंतोष कुमार महतो, मिथलेश कुमार, प्रमोद कुमार झा, सौरभ सुमन शामिल थे। टीम को छापेमारी के लिए भेजा गया। पुलिस को देखते ही साइबर अपराध को अंजाम दे रहे दोनों अपराधी भागने लगे। पुलिस ने दोनों को खदेड़कर गिरफ्तार किया।  

  2. पेटीएम अधिकारी बन करते थे ठगी

    डीएसपी संदीप सुमन समदर्शी ने बताया कि दोनों पेटीएम के अधिकारी बनकर लोगों को ठगने का काम करते थे। दोनों लोगों को पहले पेटीएम लॉक होने की बात कह कर गुमराह कर ठगी करते थे। चूंकि पेटीएम से रुपए की निकासी नहीं की जा सकती है, इसलिए लोगों को अपनी जाल में फंसाकर पेटीएम का डिटेल लेकर ओटीपी जेनरेट कर ऑनलाइन रिचार्ज और खरीदारी कर लेते थे। बताया कि दोनों के मोबाइल को खंगाला जा रहा था ताकि पता चल सके की कितने लोगों के पेटीएम से कितने की खरीदारी और रिचार्ज  किया गया है। 

  3. रांची के बरियातू में किराए पर मकान लेकर करते थे ठगी

    गिरफ्तार किए गए दोनों अपराधी पुलिस की नजरों से बचने के रांची जिले के बरियातू स्थित पॉश इलाके में भाड़ा पर एक फ्लैट लिया था। फ्लैट भी एेसा स्थान पर लिया गया था जहां किसी को कोई शक नहीं हो सकता था। डीएसपी ने बताया कि पुलिस को इसकी जानकारी मिली तो दो-तीन बार दोनों को पकड़े के लिए रांची में भी दबिश दी थी लेकिन आरोपी भाग निकले थे। बताया कि दोनों यहां साइबर अपराध को अंजाम देने के बाद कुछ दिनों के लिए उक्त फ्लैट में चले जाते थे। बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि दोनों गिरिडीह आकर साइबर अपराध को अंजाम देने में लगे हैं। उसी सूचना पर दोनों को गिरफ्तार किया गया।

  4. आरोपियों के पास से क्या-क्या हुआ बरामद

    गिरफ्तार किए गए साइबर अपराधी प्रदीप मंडल के पास से दो स्मार्ट मोबाइल, एक बंधन बैंक का रूपे डेबिट एटीएम कार्ड, प्रेमचंद मंडल के पास से चार स्मार्ट फोन सहित एक एक्सिस बैंक का वीसा प्लेटिनम कार्ड बरामद किया गया है।  

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन