सड़क दुर्घटना में फुटबॉल के दाे खिलाड़ियाें की मौत, बाइक को तेज रफ्तार ट्रक ने मारी टक्कर

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुल पर जुटी भीड़। - Dainik Bhaskar
पुल पर जुटी भीड़।
  • अंडर 14 सुब्रतो मुखर्जी फुटबॉल के नेशनल में झारखंड टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके थे

दुमका. मंगलवार को एक भीषण सड़क हादसा में दो राष्ट्रीय स्तरीय फुटबॉल खिलाड़ी की मौत हो गई। घटना दुमका-देवघर मुख्य सड़क पर पुसारो पुल पर हुई। दो फुटबॉल खिलाड़ियों अजय हांसदा (13 वर्ष) एवं रोहित मुर्मू (15 वर्ष) स्कूली छात्र थे और अंडर 14 सुब्रतो मुखर्जी फुटबॉल के नेशनल में झारखंड टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके थे। सुबह चार बजे दोनों एक बाइक से देवघर जा रहे थे। इसी दौरान पुसारो पुल पर सामने से आ रहे ट्रक से भिडंत हो गई। ट्रक और बाइक पुल की रेलिंग तोड़ते हुए पुसारो नदी में जा गिरी। घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गई थी। दोनों को दुमका मेडिकल कॉलेज अस्पताल लाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 
 
अजय हांसदा दुमका प्रखंड के झिकटी गांव का रहने वाला था, जबकि रोहित मुर्मू जामा प्रखंड के फुलोपानी गांव का रहने वाला था। दोनों खिलाड़ी देवघर के लीलानंद (पागल बाबा) उच्च विद्यालय विद्यापीठ में पढ़ाई के साथ-साथ फुटबॉल की ट्रेनिंग भी ले रहे थे। सोमवार को दोनों दुमका के कुशपहाड़ी गांव में आयोजित घरेलू फुटबॉल मैच खेलने आए थे। दोनों रात में कुशपहाड़ी गांव में ही रुक गए थे और मंगलवार को तड़के बाइक से देवघर लौट रहे थे कि पुसारो पुल पर भीषण हादसा के शिकार हो गए। 
 

आक्रोशित लोगों ने एक घंटे तक रूकवाया पोस्टमार्टम 
हादसा के बाद ट्रक के ड्राइवर और कंडक्टर फरार हो गए। इधर, हादसा के 4-5 घंटे के अंदर ही पुलिस ने घटनास्थल से क्रेन की मदद से ट्रक को हटवा कर गैरेज में लगवा दिया। दोपहर बाद जब मृतकों के परिजनों और स्थानीय लोगों को जब ये बात पता चली तो वे आक्रोशित हो गए। लोगों को संदेह था कि पुलिस ट्रक वाले को बचाने के लिए तेजी दिखा रही है। आक्रोशित लोगों ने पोस्टमार्टम हाउस के पास यह कह कर विरोध करना शुरु कर दिया कि ट्रक को पुलिस घटनास्थल पर लगवाए तब पोस्टमार्टम होने दिया जाएगा। विरोध के कारण करीब एक घंटे तक पोस्टमार्टम का काम बाधित रहा। आक्रोशित लोगों ने कुछ देर के लिए सड़क जाम भी कर दिया। पुलिस ने आक्रोशित लोगों को समझा कर किसी तरह शांत कराया। मृतकों के परिजनों को 10-10 हजार रुपए की आर्थिक सहायता भी प्रशासन की ओर से उपलब्ध कराई गई।
 


 

खबरें और भी हैं...