झरिया / ढाई साल का बच्चा खुली नाली में गिरा, तभी जलापूिर्त होने से भर गया पानी; डूबने से मौत

दिव्यांश। (फाइल) दिव्यांश। (फाइल)
X
दिव्यांश। (फाइल)दिव्यांश। (फाइल)

  • फोटो दिखाकर बेटे को ढूंढती रही मां, 3:30 घंटे बाद नाले में मिला शव
  • ऐना की रहने वाली आरती झरिया गई थी दादी-सास से मिलने

दैनिक भास्कर

Feb 05, 2020, 10:57 AM IST

धनबाद.  झरिया के मानबाद में मंगलवार को नाले के ऊपर बने दो स्लैबों के बीच गैप में गिर जाने से ढाई साल के एक बच्चे की मौत हो गई। मृत बच्चा का नाम दिव्यांश था। वह ऐना बीसीसीएल क्वार्टर में रहने वाले रवि मिश्रा का छोटा पुत्र था। बच्चे के गायब होने पर उसे सभी काफी देर से ढूंढ़ रहे थे। इसी बीच शाम करीब 6:30 बजे उज्ज्वल नामक युवक की नजर घर से चंद कदम दूर स्थित स्लैब के बीच गैप में पड़ी। शक होने पर टॉर्च जलाकर उसने देखा तो बच्चा नाली में औधे मुंह गिरा हुआ था। उसने बच्चे को नाली से बाहर निकाला। बच्चे को परिजन स्थानीय नर्सिंग होम ले गए, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया।

बताया जा रहा है कि रवि मिश्रा की पत्नी आरती देवी अपने बड़े पुत्र विधान और छोटे पुत्र दिव्यांश को लेकर दिन के 1:45 बजे मानबाद में भाड़े पर रह रही अपनी दादी सास बनारसी देवी से मिलने आई थी। करीब 3 बजे के आसपास दिव्यांश घर में नहीं दिखा। मां और परिवार के अन्य सदस्य बच्चे को खोजने लगे। पर उसका कोई पता नहीं चला। ऐसी स्थिति में परिवार वालों ने सोशल मीडिया में बच्चे की फोटो डाल कर लोगों से उसे खोजने की अपील की। इधर, झरिया पुलिस को भी सूचना दी गई।

इस मौत का जिम्मेदार कौन
खाली नाली ने आखिरकार एक बच्चे की जान ले ही ली। लोग बताते हैं कि वर्षों पहले नाली का स्लैब टूट गया था। बारिश के दिनों में नाली का पानी रोड पर बहता था। शिकायत के बाद भी कुछ नहीं किया गया।

घरों और सार्वजनिक नलों के पानी से भर गई थी नाली
मानबाद की जिस नाली में गिरने से दिव्यांश की मौत हुई, वह नाली छोटी है। इसमें पानी भी तभी अाती है, जब जलापूर्ति शुरू हो। अब इसे अनहोनी ही कहेंगे कि जब बच्चा गायब हुआ था, ठीक उसके कुछ देर पहले ही झमाडा की जलापूर्ति शुरू हुई थी। घरों और सार्वजनिक नलों का पानी नाले में आने के कारण उस समय पानी का बहाव तेज था।

बच्चा कब और कैसे गायब हुआ परिवार को पता नहीं
मृतक बच्चे के दादा चांदमारी कोलियरी में कार्यरत हैं। वे फिलहाल धनबाद में रहते हैं। ऐना में बीसीसीएल के मिले घर में उनका पुत्र रवि मिश्रा अपने परिवार के साथ रहते हैं। रवि मिश्रा एक व्यापारी के प्रतिष्ठान में कार्य करते हैं। झरिया के मानबाद में बहुत दिनाें से भाड़े के मकान में रवि मिश्रा की दादी रहती हैं। बच्चे उन्हीं से मिलने पहुंचे थे। परिवार वालों ने बताया कि घर में लोग अापस में बातचीत कर रहे थे, इसी दौरान दिव्यांश गायब हो गया अौर यह हादसा हो गया।

फिर पहुंची मां के दरबार...
धरती के भगवान जब बच्चे की जिंदगी नहीं लौटा सके तो यह मां भागते हुए मां मनसा की मंदिर पहुंच गई। मां मनसा से बच्चे की जिंदगी की गुहार करने लगी। भीड़ ने भी मां मनसा की प्रार्थना शुरू कर दी। झाल व मंजिरा बजाए जाने लगे। भाजपा नेत्री रागिनी सिंह और शिशु रोग विशेषज्ञ डां. नरेश प्रसाद मंदिर पहुंचे। मां के सामने बच्चे की जांच की गई। फिर मां को बताया गया कि उनका पुत्र जीवित नहीं है। परिजनाें ने भी उसे समझाया। रात 8:30 बजे के करीब वह बच्चे को मृत मानने को तैयार हुई अौर घर लौटी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना