बाघमारा / विधायक ढुल्लू महतो की गिरफ्तारी के लिए चिटाही से रांची तक छापे, 4 समर्थक गिरफ्तार

झाड़ू लेकर गिरफ्तारी का विरोध करने विधायक आवास पहुंची महिलाएं। झाड़ू लेकर गिरफ्तारी का विरोध करने विधायक आवास पहुंची महिलाएं।
विधायक की गिरफ्तारी के पहुंची बरोरा थाना पुलिस। विधायक की गिरफ्तारी के पहुंची बरोरा थाना पुलिस।
X
झाड़ू लेकर गिरफ्तारी का विरोध करने विधायक आवास पहुंची महिलाएं।झाड़ू लेकर गिरफ्तारी का विरोध करने विधायक आवास पहुंची महिलाएं।
विधायक की गिरफ्तारी के पहुंची बरोरा थाना पुलिस।विधायक की गिरफ्तारी के पहुंची बरोरा थाना पुलिस।

  • जेल भेजे गए चारों समर्थक, जानलेवा हमले और छेड़खानी के मामले में विधायक ढुल्लू फरार
  • युवक ने बरोरा थाना में 11 माह पूर्व दिया था आवेदन, 5 दिन पहले दर्ज हुई थी प्राथमिकी

दैनिक भास्कर

Feb 20, 2020, 10:10 AM IST

धनबाद. बाघमारा विधायक ढुल्लू महताे की गिरफ्तारी के लिए बुधवार की सुबह साढ़े चार बजे पुलिस ने चिटाही स्थित उनके अावास पर छापेमारी की। पुलिस ने आवास के एक-एक कमरे की तलाशी ली, लेकिन वे नहीं मिले। विधायक की तलाश में उनके रांची स्थित फ्लैट पर भी धावा बोला। 11 माह पूर्व जमीन विवाद में मारपीट की शिकायत पर 14 फरवरी काे बराेरा थाना में प्राथमिकी दर्ज हुई थी। प्राथमिकी में ढुल्लू महतो समेत अन्य पर हथियार दिखाकर मारपीट कर जख्मी करने व छेड़खानी के अाराेप हैं। काेर्ट ने मंगलवार को विधायक सहित अन्य अाराेपियाें के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट निर्गत किया था। 

छापेमारी के दौरान विधायक के चिटाही स्थित आवास के सामने भारी संख्या में स्थानीय महिलाएं झाड़ू लेकर एकत्रित हो गईं और पुलिस कार्रवाई का विरोध किया। वहीं पुलिस ने इसी केस में वांछित अजय गोरांई, डंपी मंडल और बिट्टू सिंह को गिरफ्तार कर लिया। एक अन्य केस में वांटेड ढुल्लू के समर्थक भाजयुमो के कतरास मंडल अध्यक्ष धर्मेंद्र गुप्ता को भी कतरास से गिरफ्तार किया। गिरफ्तार चारों आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

दुष्कर्म के प्रयास और मारपीट के दो केसों में ढुल्लू ने मांगी अग्रिम जमानत 
ढुल्लू महतो की ओर से दो अलग-अलग मामलों में प्रधान जिला जज की अदालत में अग्रिम जमानत याचिका दाखिल की गई। गुरुवार को सुनवाई हो सकती है। कतरास थाना कांड संख्या 178/19 में पूर्व भाजपा नेत्री ने ढुल्लू महतो के खिलाफ दुष्कर्म का प्रयास करने का आरोप है, वहीं कतरास थाना कांड संख्या 106/19 में ट्रकवालों ने ढुल्लू के खिलाफ मारपीट करने का आरोप लगाया था। ट्रक मालिक जगदीश राय ने ढुल्लू सहित 56 पर मुकदमा दर्ज कराया था। 

लोस चुनाव में मारपीट में धर्मेंद्र की गिरफ्तारी, सांसद के भाई भी आरोपी
वर्ष 2019 में लोस चुनाव के दाैरान मारपीट हुई थी। पीड़ित सुरेश महतो की शिकायत पर बरोरा थाना कांड संख्या 29/19 में गिरिडीह सांसद सीपी चौधरी के भाई रोशन लाल चौधरी, विधायक ढुल्लू महतो, रिजू चौधरी, अजय गोरांई, लक्ष्मण महतो, भरत महतो, शरत महतो, केदार महतो, भोला राय, प्रेम महतो, धर्मेंद्र गुप्ता, सनोज पांडेय, बसंत राय, विनय रविदास, सुरेश महतो, गुड्‌डू कुमार के खिलाफ मारपीट की प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

पुलिस जबरन घर में घुसी, दुर्व्यवहार भी किया : सावित्री देवी 
ढुल्लू की पत्नी सावित्री देवी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सुबह-सुबह पहुंची पुलिस ने दुर्व्यवहार करते हुए जबरन आवास में प्रवेश किया। गिरफ्तारी वारंट नहीं दिखाया। मंगलवार की रात को विधायक की तबीयत बिगड़ गई थी। वे उपचार कराने बाहर गए हैं। पुलिस का बर्ताव एेसा था, मानो वह किसी कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार करने पहुंची हो। विधायक की लोकप्रियता से घबराकर यह काम विरोधी पूर्व मंत्री ओपी लाल, जलेश्वर महतो, रणविजय सिंह, विजय झा के इशारे पर हो रहा है। सावित्री ने यह भी कहा कि एक महिला नेत्री ने जो आरोप लगाया है, उसमें तनिक भी सच्चाई होगी तो वे खुद विधायक को पुलिस के हवाले कर देंगी।

ढुल्लू ने कहा था; थाना और मुख्यमंत्री को जेब में रखते हैं 
ढुल्लू के गांव चिटाही में ही रहने डाेमन महताे ने 29 अप्रैल 2019 काे बराेरा थाना में आवेदन देकर कहा था कि चिटाही में रामराज मंदिर के पास वह अपनी जमीन पर दुकान बना रहा था। इस दाैरान विधायक अपने गार्ड के साथ पहुंचे। दुकान बनाने से मना करते हुए मारपीट की। धमकी दी कि बाप-बेटे के हाथ-पैर तुड़वा कर जान मरवा देगा। बरोरा थाना और मुख्यमंत्री को वे अपनी जेब में रखते हैं। उनके जाने के बाद ढुल्लू के कुछ समर्थक पहुंचे और अर्धनिर्मित दुकान से बाहर निकाल कर पटक कर उसका गला दबाने का प्रयास किया। उसके सिर पर बंदूक तान दी। बीच-बचाव करने अाई छाेटे भाई की पत्नी के कपड़े फाड़ दिए। इस आवेदन पर 14 फरवरी को दर्ज प्राथमिकी (बरोरा थाना कांड संख्या 11/20) में ढुल्लू महताे सहित अजय गोरांई, बूढ़ा राय, बिट्‌टू, सिंह, कृष्णा रविदास व डंपी मंडल को भादवि की धारा 147, 148, 341, 323, 307, 354, 504, 506, 427 एवं 27 आर्म्स एक्ट के तहत आरोपित किया गया। 

ढुल्लू के निर्वाचन को चुनौती देनेवाली याचिका हाईकोर्ट में सुनवाई के लिए स्वीकृत
रांची|बाघमारा के विधायक ढुल्लू महतो के निर्वाचन को चुनौती देने वाली याचिका हाईकोर्ट ने सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है। जस्टिस एके चौधरी की कोर्ट ने ढुल्लू महतो और पीठासीन अधिकारी को नोटिस जारी कर 22 अप्रैल तक जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। ढुल्लू के निर्वाचन को रद्द करने के लिए दो याचिकाएं दायर की गयी हैं। बुधवार को अदालत ने मोहम्मद निजामुद्दीन की ओर से दायर याचिका स्वीकार की है। दूसरी याचिका कांग्रेस उम्मीदवार जलेश्वर महतो ने दायर की है। इस पर चार मार्च को सुनवाई होगी।

निजामुद्दीन ने ढुलू पर आरोप लगाया है कि वह गलत आचरण अपनाकर चुनाव में जीते हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि वे जिस बूथ पर मतदान किए हैं उस मतदान केंद्र के ईवीएम की गिनती शून्य की गई है, यानी कि उसकी गिनती की ही नहीं। लोगों का कहना था कि 976 वोट उस मतदान केंद्र पर पड़ा था।

पुलिस की कार्रवाई कानूनसम्मत, जल्द होगी गिरफ्तारी
एसएसपी किशोर कौशल ने कहा कि कोर्ट से जारी वारंट पर विधायक ढुल्लू महताे काे गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की गई थी, लेकिन वे घर में नहीं मिले। अलग-अलग दाे मामले में चार की गिरफ्तार हुई है। पुलिस की कार्रवाई कानूनसम्मत है। विधायक के बाडीगार्डों को क्लाेज किया गया है। 

उधर, विधायक की पत्नी ने कहा- किस केस में करना है गिरफ्तार, पहले वारंट दिखाइए
बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो काे गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस काे सबसे पहले उनकी पत्नी सावित्री देवी से सामना हुआ। उस समय वे अन्य महिलाओं के साथ सुबह सैर में निकलने की तैयारी में थी। सुबह साढ़े चार बजे पुलिस विधायक को गिरफ्तार करने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल के साथ उनके आवास में पहुंची। पुलिस ने विधायक के आवास को चारों तरफ से घेर लिया और विधायक की गिरफ्तारी का प्रयास किया, लेकिन इस बीच विधायक की पत्नी सावित्री देवी ने मोर्चा संभाल लिया और पुलिस से गिरफ्तारी का कारण जानना चाहा। उन्होंने पुलिस से गिरफ्तारी वारंट दिखाने को कहा। बीच सूचना पाकर बड़ी संख्या विधायक समर्थक महिला व पुरुष मौके पर पहुंच गए और विरोध करने लगे। 

विराेध के कारण पुलिस को पहली बार लौट जाना पड़ा। तीन घंटे बाद फिर पुलिस ने लाव-लश्कर के साथ विधायक के आवास में प्रवेश करने का प्रयास किया। पुलिस को दोबारा देख मौके पर जुटी महिलाओं ने हाथों में झाड़ू लेकर विरोध करना शुरू कर दिया। मौजूद समर्थक पुलिस व राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इस बार भी पुलिस को लौट जाना पड़ा। समर्थकों का अाराेप है कि राज्य सरकार के इशारे पर पुलिस विधायक को बिना सबूत गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है।

घर की महिलाएं आरोप लगाएं तो निंदनीय है: जलेेश्वर 
कांग्रेसी नेता सह पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो ने विधायक ढुल्लू महतो की पत्नी द्वारा लगाए गए आरोप के जवाब में कहा कि वे महिलाओं का सम्मान करते हैं। घर की महिला यदि ऐसा कह रही हैं तो वह निंदनीय है।

वारंट की जानकारी विधायक काे दी गई थी: बरोरा थानेदार
बरोरा थाना प्रभारी बिनोद कुमार शर्मा ने कहा कि वारंट की जानकारी विधायक को दी गई थी। सावित्री देवी द्वारा जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं, वे बेबुनियाद हैं। पुलिस ने कानूनसम्मत कार्रवाई की है। विधायक के आवास के चारों ओर लगे सीसीटीवी कैमरा में ही खुलासा हो जाएगा कि पुलिस उनके दरवाजा या दीवार को भी छुआ है कि नहीं।

पुलिस पर अाराेप : विधायक का साथ छाेड़ने की धमकी दी
सावित्री देवी ने अपने अावास में मीडिया से बात करते हुए कहा कि सुबह लगभग पांच बजे अन्य महिलाओं के साथ टहलने जा रही थी। बरोरा थाना प्रभारी विनोद कुमार शर्मा अन्य पुलिसकर्मियों के साथ आए और दुर्व्यवहार करते हुए घर के अंदर जबरन घुसने का प्रयास करने लगे। गिरफ्तारी के बाद अजय गोराई, बिट्टू के परिजनों को धमकी भी दी कि विधायक का बहुत बड़ा समर्थक बनता है। विधायक का साथ छोड़ दो अन्यथा परिणाम बुरा होगा।

विधायक के समर्थन में महिलाएं झाड़ू निकालकर किया विरोध
पहुंच गए और विरोध करने लगे। विराेध के कारण पुलिस को पहली बार लौट जाना पड़ा। तीन घंटे बाद फिर पुलिस ने लाव-लश्कर के साथ विधायक के आवास में प्रवेश करने का प्रयास किया। पुलिस को दोबारा देख मौके पर जुटी महिलाओं ने हाथों में झाड़ू लेकर विरोध करना शुरू कर दिया। मौजूद समर्थक पुलिस व राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इस बार भी पुलिस को लौट जाना पड़ा। समर्थकों का अाराेप है कि राज्य सरकार के इशारे पर पुलिस विधायक को बिना सबूत गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है।

छापेमारी से अाधा घंटा पहले घर से भाग निकले विधायक ढुल्लू
मंगलवार की रात 10 बजे के बाद ही बाघमारा में पुलिस की चहल-कदमी बढ़ गई थी। रात 11 बजे के करीब बरोरा थाने में 5 थानों की पुलिस को एक बड़ी छापेमारी के लिए तैयार किया जा रहा था। छापेमारी दल को तीन टीमों में बांट कर 5 टारगेट दिए गए थे। सबसे बड़ा टारगेट... विधायक ढुल्लू महतो थे। पुलिस ने रणनीति बनाई कि पहले विधायक के अारोपी समर्थकों को गिरफ्तार किया जाए अौर फिर विधायक को...।

रात 3:30 बजे पुलिस टीम चिटाही पहुंची। पहला छापा सुबह 4:00 बजे मारा गया। विधायक समर्थक अारोपी अजय गोराई के अावास को दर्जनभर पुलिस ने चारों तरफ से घेर लिया। अजय पकड़ा गया। पुलिस का दूसरा टारगेट बिट्टु था। पुलिस ने चिटाही स्थित उसके घर में छापेमारी की। वहां बिट्टी समझ संतोष नामक व्यक्ति को धर दबोचा। जब तक पुलिस को इसकी जानकारी होती, बिट्टी अपने घर से दूसरे घर में छलांग लगाकर भागने लगा। पर वह पकड़ा गया। अब घड़ी की सुई सुबह के 4:30 बजा रही थी। पुलिस ने विधायक ढुल्लू को पकड़ने उनके घर पहुंची। पर विधायक नहीं मिले। पुलिस को बताया गया कि विधायक रात में ही घर से बाहर चले गए हैं। पर पुलिस का कहना है कि सुबह 4:30 बजे तक विधायक अावास में थे। छापेमारी से अाधा घंटा पहले वे घर से भाग निकले। चर्चा है कि एक सरकारी अंगरक्षक भी फरार विधायक के साथ है।

सुबह 9 बजे : पुलिस ने ढुल्लू को पकड़ने के लिए नाकेबंदी की 
फरार विधायक ढुल्लू महतो को पकड़ने के लिए पुलिस ने धनबाद से रांची तक नाकेबंदी की। विधायक को पकड़ने का निर्देश दिया गया। धनबाद से रांची तक वाहन जांच शुरू हुअा। पर विधायक पुलिस के हाथ नहीं लगे। पुलिस विधायक के मोबाइल के माध्यम से उनका लोकेशन पता करने में जुटी है, पर विधायक ने अपना मोबाइल स्वीच अॉफ रखा है।

दिन के 1 बजे : अाराेप लगाने वाली महिला काे मिली सुरक्षा 
छापेमारी के साथ ही विधायक ढुल्लू महतो पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली महिला नेत्री की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सुरक्षा के दृष्टिकाेण से प्रशासन की ओर से नेत्री को दो महिला सुरक्षा गार्ड मुहैया कराया गया है।

रात 9:30 बजे : एसएसपी ने बॉडीगार्ड व हाउस गार्ड हटाए 
पुलिस के अनुसार विधायक ढुल्लू महतो अपने साथ सरकारी बॉडीगार्ड नहीं ले गए हैं। बुधवार को रात 9:30 बजे एसएसपी के निर्देश पर विधायक के सभी बॉडीगार्ड अौर हाउस गार्ड हटा दिए गए। बॉडीगार्ड अौर हाउस गार्ड के रूप में तैनात पुलिस कर्मियों को पुलिस लाइन में योगदान देने को कहा गया है। सुबह तक वे सभी पुलिस लाइन में योगदान दे देंगे। ज्ञात हो कि विधायक ढुल्लू महतो काे जिला से तीन बॉडीगार्ड अौर 1/4 का हाउस गार्ड मिला था। वहीं, जैप से 1/4 का बॉडीगार्ड उपलब्ध कराया गया था। 

नई सरकार में विधायक के खिलाफ दो पुराने मामलों में हुअा केस 
हेमंत सरकार बनाने के बाद विधायक ढुल्लू व समर्थकों के खिलाफ पुलिस का रवैया कठोर हो गया है। पुराने मामलों में संज्ञान लिया गया। दो दिनों में दो पुराने मामलों में केस दर्ज किया गया। 14 फरवरी काे चिटाही के डाेमन महताे की शिकायत पर विधायक ढुल्ल्ू महताे सहित अन्य के खिलाफ मामला दर्ज हुअा। इसी मामले में विधायक के खिलाफ काेर्ट से गिरफ्तारी वारंट निर्गत है। वहीं दूसरा मामला अाउटसाेर्सिंग कंपनी अाेरिएंटल से जुड़ा हुअा है। 14 जून 2018 काे ओेरिएंटल कंपनी के तत्कालीन असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट एसएस सेठी ने धनबाद पुलिस से विधायक ढुल्लू महताे पर 10 कराेड़ रुपए रंगदारी मांगे जाने की शिकायत की थी। 15 फरवरी काे सदर थाना में विधायक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना