Hindi News »Jharkhand »Dhanbad» विश्व बंधुता की मिसाल है हज

विश्व बंधुता की मिसाल है हज

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 10, 2018, 02:20 AM IST

इस बार 19 से 24 अगस्त तक हज होगा (तिथि संभावित है, चांद देखने के बाद तिथि में परिवर्तन संभव)

स्वामी विवेकानंद

का जन्म 12 जनवरी, 1863 को कोलकाता में हुआ।

आध्यात्मिक गुरु

वेदांत के विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु।

झारखंड के हजयात्री 30 जुलाई से 4 अगस्त तक बिरसा मुंडा एयरपोर्ट से जेद्दाह रवाना होंगे, वापसी 15 से 21 सितंबर तक होगी

शिकागो

धर्म महासभा में भारत का प्रतिनिधित्व किया।

नरेंद्रनाथ दत्त

उनका वास्तविक नाम था।

हज अरबी भाषा का शब्द है, जिसका शाब्दिक अर्थ है-पवित्र स्थान की यात्रा करना

4 जुलाई 1902

को 39 वर्ष की उम्र में

बेलूर मठ में निधन हुआ।

रांची एयरपोर्ट से करीब 2003 लोग उड़ान भरेंगे, गोड्‌डा, देवघर, साहेबगंज, जमशेदपुर, रांची और धनबाद के लगभग 666 यात्री कोलकाता से उड़ान भरेंगे

धनबाद, मंगलवार, 10 जुलाई, 2018

7

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhanbad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×