• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • हत्या के विरोध में उग्र भीड़ ने की आगजनी और पत्थरबाजी, पुलिस समेत मीडिया कर्मी घायल
--Advertisement--

हत्या के विरोध में उग्र भीड़ ने की आगजनी और पत्थरबाजी, पुलिस समेत मीडिया कर्मी घायल

अपराधियों की गोली से घायल मुन्ना सिंह। भास्कर न्यूज|देवघर देवघर जिले के वार्ड नंबर 25 के पार्षद लक्ष्मी देवी के...

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 02:25 AM IST
अपराधियों की गोली से घायल मुन्ना सिंह।

भास्कर न्यूज|देवघर

देवघर जिले के वार्ड नंबर 25 के पार्षद लक्ष्मी देवी के भाई रमेश हरि की मंगलवार सुबह 10 बजे बाइक सवार अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। रमेश के साथ आ रहे मुन्ना सिंह को भी अपराधियों ने दो गोलियां मारी जिससे वे घायल है। उन्हें रांची स्थित रिम्स रेफर कर दिया गया है। घटना के बाद बैजनाथपुर चौक पर लोगों की भीड़ जुटने लगी और सड़क को जाम कर दिया। भीड़ इतनी बेकाबू हो गई कि मौके पर पहुंची पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। भीड़ इतनी बेकाबू थी कि पुलिस को भी पीछे हटना पड़ा। पथराव में कई पुलिसकर्मी व पत्रकार घायल हो गए। एसडीपीओ विकास चंद्र मिश्र एसडीओ रामनिवास यादव सारठ एसडीपीओ अशोक सिंह के साथ नगर कुंडा मोहनपुर सहित अन्य कई थानों के थाना प्रभारी एवं पुलिस निरीक्षक पुलिस बल के साथ पहुंचे। मौके पर पहुंचे भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अधिकारियों द्वारा अतिरिक्त बल को मंगाया गया। कई पुलिसकर्मी के साथ मारपीट की गई स्थिति उत्पन्न होने पर माहौल तनावपूर्ण हो गया। आक्रोशित भीड़ ने सड़क पर आगजनी की। एसडीओ एवं एसडीपीओ ने अपनी सूझबूझ से भीड़ को नियंत्रित किया। वहीं आरोपी विजय मंडल के घर में रह रहे एक छात्र के कमरे को भी भीड़ ने आग लगा दी। चार घंटे तक बिनापुर चौक जाम रहा। चार घंटे बाद एसडीओ रामनिवास यादव ने विजय मंडल की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया जिसके बाद लोग शांत हुए।

हत्या के बाद अस्पताल के बाहर हंगामा करते आक्रोशित परिजन व ग्रामीण।

भास्कर न्यूज|देवघर

देवघर जिले के वार्ड नंबर 25 के पार्षद लक्ष्मी देवी के भाई रमेश हरि की मंगलवार सुबह 10 बजे बाइक सवार अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। रमेश के साथ आ रहे मुन्ना सिंह को भी अपराधियों ने दो गोलियां मारी जिससे वे घायल है। उन्हें रांची स्थित रिम्स रेफर कर दिया गया है। घटना के बाद बैजनाथपुर चौक पर लोगों की भीड़ जुटने लगी और सड़क को जाम कर दिया। भीड़ इतनी बेकाबू हो गई कि मौके पर पहुंची पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। भीड़ इतनी बेकाबू थी कि पुलिस को भी पीछे हटना पड़ा। पथराव में कई पुलिसकर्मी व पत्रकार घायल हो गए। एसडीपीओ विकास चंद्र मिश्र एसडीओ रामनिवास यादव सारठ एसडीपीओ अशोक सिंह के साथ नगर कुंडा मोहनपुर सहित अन्य कई थानों के थाना प्रभारी एवं पुलिस निरीक्षक पुलिस बल के साथ पहुंचे। मौके पर पहुंचे भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अधिकारियों द्वारा अतिरिक्त बल को मंगाया गया। कई पुलिसकर्मी के साथ मारपीट की गई स्थिति उत्पन्न होने पर माहौल तनावपूर्ण हो गया। आक्रोशित भीड़ ने सड़क पर आगजनी की। एसडीओ एवं एसडीपीओ ने अपनी सूझबूझ से भीड़ को नियंत्रित किया। वहीं आरोपी विजय मंडल के घर में रह रहे एक छात्र के कमरे को भी भीड़ ने आग लगा दी। चार घंटे तक बिनापुर चौक जाम रहा। चार घंटे बाद एसडीओ रामनिवास यादव ने विजय मंडल की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया जिसके बाद लोग शांत हुए।

आरोपी के घर के बाहर आगजनी व पथराव करते लोग।

विजय मंडल, पूर्व पार्षद सचिन मिश्रा समेत अन्य पर हत्या का आरोप

घटना के विषय में एसडीपीओ विकास चंद्र मिश्र ने बताया कि ऑटो से रमेश हरि अपने साथी मुन्ना सिंह के साथ रंगा मोड़ की ओर से आ रहे थे। रास्ते में झा एंड ठाकुर पेट्रोल पंप के समीप बाइक सवार छह लोगों ने टेंपो को रोककर रमेश के सीने में गोली मारी एवं मुन्ना सिंह को भी घायल कर दिया। परिजनों द्वारा विजय मंडल पर आरोप लगाया जा रहा है पुलिस छानबीन कर रही है। घटना को लेकर मृतक के भाई राजू हरिनिया आवेदन देते हुए विजय मंडल के साथ उसके आठ से दस साथी एवं पूर्व पार्षद सचिन मिश्रा को गिरफ्तार करने की मांग की पुलिस को दिया। आवेदन में राजू हरि ने बताया है कि मंगलवार सुबह रमेश हरि अपने भाई राजू दोस्त मुन्ना सिंह एवं राजेंद्र यादव के साथ ऑटो पर आ रहा था तभी रास्ते में विजय मंडल अपने आठ से दस साथियों के साथ आकर रमेश हरिपुर गोली चला दी।

भीड़ द्वारा जलायी गयी मोटरसाइकिल और साइकिल।

पथराव में घायल पुलिस जवान।

पथराव में घायल पुलिस अधिकारी।