--Advertisement--

कोचांग गैंग रेप मामले में एक और खुलासा: कोचांग में हुए सामूहिक दुष्कर्म की 5 पीड़िताओं में एक उग्रवादी की भाभी भी

दरअसल नेता की बहू पत्थलगड़ी के नाम पर उपद्रव करने वालों के खिलाफ नुक्कड़ नाटकों के जरिए लोगों को जागरूक कर रही थीं।

Danik Bhaskar | Jul 08, 2018, 03:59 PM IST
रांची। पत्थलगड़ी के नाम पर उपद्रव करने वालों की अगुवाई करने वाले एक बड़े नेता और पीएलएफआई उग्रवादी की रिश्तेदार से भी कोचांग में सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। पांच दुष्कर्म पीड़िताओं में इस नेता की बहू और उग्रवादी की भाभी शामिल हैं। यह दावा पुलिस ने किया है। दरअसल नेता की बहू पत्थलगड़ी के नाम पर उपद्रव करने वालों के खिलाफ नुक्कड़ नाटकों के जरिए लोगों को जागरूक कर रही थीं। जबकि नेता ने उसे पत्थलगड़ी के पक्ष में नुक्कड़ नाटक करने की सलाह दी थी। न मानने पर वह बहू के साथ उसकी नाट्य मंडली में शामिल अन्य सदस्यों से भी चिढ़ा हुआ था। लिहाजा उसने अन्य नेताओं के साथ बैठक कर उन्हें सबक सिखाने के लिए सामूहिक दुष्कर्म जैसी घटना को अंजाम देने का तानाबाना बुना। इन नेताओं ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के लिए जिस पीएलएफआई संगठन की मदद ली, उसके एक सक्रिय उग्रवादी की भाभी से भी सामूहिक दुष्कर्म किया गया। पुलिस के पास उस उग्रवादी की तस्वीर है और कोचांग कांड में पुलिस उसकी तलाश कर रही है।


जंगल बचाओ आंदोलनकारी की बेटी भी हुई थी गैंगरेप की शिकार
राज्य महिला आयोग की पूर्व सदस्य और सामाजिक कार्यकर्ता वासवी किड़ो ने 4 और 7 जुलाई को घाघरा गांव में दर्जनों ग्रामीणों और पुलिस से बात की थी। वहां से लौटने के बाद उन्होंने भास्कर को बताया कि कोचांग में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार लड़कियों में एक जंगल बचाओ आंदोलन से जुड़ी एक सक्रिय कार्यकर्ता की बेटी भी है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने उन्हें पीड़िताओं से मिलने नहीं दिया। लेकिन यह सच्चाई जल्दी ही सामने आ जाएगी।

पीड़िताओं में एक चुटिया की
कोचांग सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई पांच में से एक लड़की रांची के चुटिया थाना क्षेत्र की रहने वाली बताई जा रही है। वह शादीशुदा है। एक बच्चे की मां है। वहीं एक अन्य पीड़िता नाबालिग है, जो दिल्ली से रेस्क्यू कर एक बंगले से मुक्त कराई गई थी। दिल्ली से लाने के बाद उसे खूंटी रोड में आशा किरण नामक संस्था के शेल्टर होम में रखा गया था। वह भी नाट्य मंडली की नियमित सदस्य बन चुकी थी।

उपद्रव के खिलाफ बहू की नुक्कड़ नाटकों से चिढ़ा था नेता
कोचांग में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई एक लड़की उसी गांव की रहने वाली है, जहां पत्थलगड़ी समर्थक एक बड़े नेता का घर है। वह नेता पीड़िता के पत्थलगड़ी विरोधी नुक्कड़ नाटकों से चिढ़ा हुआ था। इसी कारण उस नेता ने साजिशन पीएलएफआई की मदद लेकर सामूहिक दुष्कर्म जैसी वारदात को अंजाम दिलाया। साजिश में उसने घर-गांव की महिला तक को नहीं छोड़ा। -रणवीर सिंह, एसडीपीओ, खूंटी

जोसेफ पूर्ति समेत 14 के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट
सरायकेला| पत्थलगड़ी मामले में मुख्य आरोपी जोसेफ पूर्ति समेत 14 आरोपियों के खिलाफ सरायकेला कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। पूर्ति के अलावा बलराम सामंत, पतरस हेस्सा, जीरण कंडेल, जेवियर सोय, सिंहराय मुंडा, गुरबा मुंडा, हलान मुंडा, बलराम मुंडा अमित मुंडा, चेतन मुंडा, बिरन सांडिल व दीपक सोनी के खिलाफ भी वारंट जारी हुआ है। वहीं शुक्रवार को सरकार द्वारा खूंटी के घाघरा गांव पहुंचने के बाद शनिवार को विपक्षी दलों की समन्वय समिति भी गांव पहुंची।