Hindi News »Jharkhand »Dhanbad» अब भी साढ़े 27 लाख ग्रामीण घरों तक नहीं पहुंच पाया है बिजली कनेक्शन

अब भी साढ़े 27 लाख ग्रामीण घरों तक नहीं पहुंच पाया है बिजली कनेक्शन

राज्य सरकार भले ही ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत संपूर्ण ग्रामीण क्षेत्रों में दीपावली तक बिजली पहुंचाने की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 12, 2018, 02:20 AM IST

राज्य सरकार भले ही ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत संपूर्ण ग्रामीण क्षेत्रों में दीपावली तक बिजली पहुंचाने की बात कह रही है, लेकिन सच्चाई यह है कि अब तक झारखंड के मात्र 27.40 लाख घरों तक ही बिजली कनेक्शन पहुंच पाया है। चूंकि दीपावली आने में महज पांच माह बचे हैं, ऐसे में बिजली वितरण निगम के लिए बचे घरों में बिजली कनेक्शन पहुंचाना चुनौती है।

बताते चलें कि 31 दिसंबर 2017 तक कुल 29,376 रेवन्यू गांवों तक विद्यतीकरण का काम पूर्ण हो चुका है। इसके बाद हाउसहोल्ड को बिजली कनेक्शन देने का काम शुरू हुआ है। सौभाग्य योजना 11 अक्तूबर 2017 को लांच होने के बाद अब तक महज 27,40026 घरों बिजली पहुंचाने का दाव किया जा रहा है। नेशनल वेब पोर्टल के डाटा के अनुसार अब भी 27,53,896 घरों तक कनेक्शन देने काम बाकी है। बिजली निगम के अनुसार, सौभाग्य योजना और ग्राम स्वराज अभियान के तहत गांव-गांव कैंप लगाकर, प्रज्ञा केंद्र, पंचायत भवन तथा नेट-वेब के जरिए भी कनेक्शन दिए जाने का काम युद्ध स्तर पर जारी है। निगम ने दावा किया है कि हर हाल में दीपावली तक लक्ष्य पूरा किया जाएगा।

इन जिलों में इतना बाकी है कनेक्शन देने का काम

रांची - 2,49,125

गिरिडीह - 2,28,614

पलामू - 2,32,790

हजारीबाग - 1,51,394

दुमका - 1,23,739

पश्चिम सिंभहूम - 1,92,099

देवघर - 63,963

बोकारो - 89,636

गोडडा - 86,967

गढ़वा - 1,87,773

सरायेकला-खरसावां - 95,240

धनबाद - 1,62,235

पूर्वी सिंहभूम - 96,394

चतरा - 1,07,986

साहेबगंज - 91,067

पाकुड़ - 88,746

गुमला - 87,570

जामताड़ा - 65,305

सिमडेगा - 88,017

लातेहार - 48,432

रामगढ़ - 67,000

खूंटी - 63,639

कोडरमा - 35,303

लोहरदगा - 52,853

नेशनल वेब पोर्टल का डाटा अब तक अपटूडेट नहीं हो पाया है, इसलिए डाटा और हाउस होल्ड वेरी करेगा। क्योंकि यह 2011 के जनगणना के अनुसार डाटा है। निश्चित ही दीपावली तक हर हाल में शत-प्रतिशत घरों तक बिजली कनेक्शन देने का काम पूरा कर लिया जाएगा। शत-प्रतिशत बिजली कनेक्शन कार्य पूरा होने के बाद ही वास्तविक घरों की संख्या सामने आ पाएगी। हमारी पूरी कोशिश है कि हम तय समय तक अपने लक्ष्य को हासिल कर सकें। - ओपी अंबष्ट, चीफ इंजीनियर, (आरई) बिजली वितरण निगम

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhanbad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×