Hindi News »Jharkhand »Dhanbad» मौत हुई थी, बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो ने मदद के नाम पर 2 हजार देकर गरीबी का अपमान किया, उनका पैसा उनको लौटा दूंगा

मौत हुई थी, बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो ने मदद के नाम पर 2 हजार देकर गरीबी का अपमान किया, उनका पैसा उनको लौटा दूंगा

नारायणपुर में शनिवार को सड़क हादसे के बाद लोगों ने रोड जाम कर दिया था। इस जाम में साहेबगंज से लौट रहे बाघमारा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 09, 2018, 02:30 AM IST

मौत हुई थी, बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो ने मदद के नाम पर 2 हजार देकर गरीबी का अपमान किया, उनका पैसा उनको लौटा दूंगा
नारायणपुर में शनिवार को सड़क हादसे के बाद लोगों ने रोड जाम कर दिया था। इस जाम में साहेबगंज से लौट रहे बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो भी फंसे थे। उन्होंने मृतक के परिजन को सहायता के तौर पर 2 हजार रुपए दिए थे। रविवार को इस पर विवाद हो गया। जामताड़ा के विधायक डॉ इरफान अंसारी ने ढुल्लू की सहायता राशि को गरीबी का अपमान करार दिया। उन्होंने कहा कि ढुल्लू ऐश-मौज पर लाखों-करोड़ों रुपए खर्च करते हैं। गरीब की मदद के लिए उनकी जेब से दो हजार रुपए ही निकलते हैं। डॉ. इरफान ने कहा कि रविवार को मृतक के परिवार से मिलने उनके घर गए थे। मृतक के परिवार ने विधायक ढुल्लू की सहायता राशि उन्हें सौंप दी है। परिवार वाले चाहते हैं कि राशि ढुल्लू तक पहुंचा दी जाए। परिवार ने रखने से इंकार कर दिया है। विधानसभा में जब उनकी मुलाकात विधायक ढुल्लू से होगी, तो वे उन्हें सौंप देंगे। डॉ इरफान ने कहा कि विधायक के व्यवहार से भाजपा पार्टी का चरित्र दिखता है। यह पार्टी ऐसी ही है। अगर वे बाघमारा गए और उनके सामने कोई हादसा हुआ तो 10 हजार रुपए की सहायता देंगे। जामताड़ा की जनता को ढुल्लू की सहायता राशि की जरूरत नहीं है।

नारायणपुर में रविवार को पीड़ित परिवार के बीच विधायक डॉ इरफान अंसारी।

नारायणपुर में हादसे के बाद ढुल्लू की ओर से मृतक के परिजन को 2 हजार देने पर जामताड़ा विधायक डॉ इरफान भड़के, कहा-

विधायक ढुल्लू का पलटवार: इरफान अनुकंपा पर विधायक बने हैं, जितना उनके पिता ने काम नहीं किया, उससे ज्यादा तो हम 9 वर्षों में ही कर चुके हैं

जामताड़ा के विधायक डॉ. इरफान अंसारी के बयान पर विधायक ढुल्लू महतो ने पलटवार किया है। विधायक ढुल्लू महतो ने कहा कि इरफान क्या हैं...? वे अनुकंपा पर विधायक बने हैं। अपनी औकात में रहें। उनकी क्या औकात है कि वे रुपए लौटाएंगे। जितना उनके पिता ने अपने राजनैतिक कैरियर में काम नहीं किया होगा, उससे ज्यादा काम हम बाघमारा में कर चुके हैं। रही बात सहायता राशि की तो बता दे कि वहां सड़क जाम था और वे भी इस जाम में फंसे हुए थे। लोग अंतिम संस्कार के लिए पैसे जुटा रहे थे। उनके पास भी लोग आए और कहा कि दाह-संस्कार के लिए कुछ निकालिए- दीजिए। सभी कुछ दे रहे थे, तो उन्होंने भी 2 हजार रुपए दे दिए। अंतिम संस्कार 5 से 7 हजार में हो जाता है। कितना देते...? इरफान को नहीं पता होगा कि उन्होंने मृतक की बेटी की शादी में 50 हजार रुपए देने की घोषणा की है। जब उन्होंने यह घोषणा की थी, तब वहां इरफान के कार्यकर्ता भी मौजूद थे। मृतक की बेटी की जब भी शादी होगी, उनके तरफ से 50 हजार रुपए दिया जाएगा। विधायक ढुल्लू महतो ने कहा कि इरफान पागल हैं। उनके पास दिमाग ही नहीं है। वे बात क्या करेंगे। पिता के बदौलत राजनीति कर रहे हैं। उनके पास अपनी काबिलियत क्या है? इरफान रुपए लौटाएंगे...? उनके पिता तो रुपए लौटा ही नहीं सकते। 500 लोगों के सामने घोषणा किए हैं। जब भी बेटी की शादी होगी, वे मदद करेंगे।

नारायणपुर में शनिवार को समर्थकों के साथ पहुंचे ढुल्लू महतो।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhanbad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×