• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • खनन के क्षेत्र में तीन महत्वपूर्ण तिथियां
--Advertisement--

खनन के क्षेत्र में तीन महत्वपूर्ण तिथियां

कोलियरी 2006 में आग 2012 में आग का नाम की स्थिति की स्थिति ब्लॉक टू ओसीपी 0.0891 0.0530 इस्ट बसुरिया 0.0162 0.0000 बसुरिया 0.0003 0.0000...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 03:00 AM IST
कोलियरी 2006 में आग 2012 में आग

का नाम की स्थिति की स्थिति

ब्लॉक टू ओसीपी 0.0891 0.0530

इस्ट बसुरिया 0.0162 0.0000

बसुरिया 0.0003 0.0000

इंडस्‍ट्री 0.0193 0.0119

कुसुंडा 0.7816 0.4243

सेंद्रा-बांसजोड़ा 0.1221 0.0796

गोलकडीह 0.3109 0.0301

कुजामा 0.0988 0.0398

साउथ झरिया 0.1254 0.0244

गोंदूडीह 0.0844 0.0395

ऐना 0.1972 0.0918

नार्थ तिसरा 0.1244 0.0098

लोदना 0.1689 0.0000

साउथ तिसरा 0.0156 0.0000

पाथरडीह 0.0020 0.0000

सुदामडीह 0.0547 0.0000

(स्रोत : एनआरएससी का सर्वे, आंकड़ा - किलोमीटर स्क्वायर में)

1890

पहली बार धनबाद में कोयला होने का पता चला

1916 भौरा कोलियरी में पहली बार आग का प्रमाण मिला

आंकड़े की नजर में आग

17 किलोमीटर स्क्वायर क्षेत्र में 32 साल पहले थी आग

595

स्थल हैं भू-धंसान और अग्नि प्रभावित

15% बढ़ा फायर प्रोजेक्टों में खनन

16 फायर प्रोजेक्ट... जहां जलते कोल को निकाला, बल्कि आग भी कम की

1930

अंग्रेजों द्वारा धनबाद में पहला माइंस शुरू हुआ

32

हजार टन कोयले का खनन हर दिन फायर प्रोजेक्ट से