• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • दुराचार से बची सेंद्रा की महिला का तीन महीने का गर्भ खराब
--Advertisement--

दुराचार से बची सेंद्रा की महिला का तीन महीने का गर्भ खराब

ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार को पूजा टॉकीज और धनसार में अभियान चला कर ऑटो चालकों की जांच की। पूजा टॉकीज के पास करीब 30...

Danik Bhaskar | Jul 10, 2018, 03:05 AM IST
ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार को पूजा टॉकीज और धनसार में अभियान चला कर ऑटो चालकों की जांच की। पूजा टॉकीज के पास करीब 30 आॅटो की जांच की गई। सभी ऑटो के कागजात दुरुस्त मिले। धनसार में 12 ऑटो चालकों के पास न तो लाइसेंस था और न ही वाहन के कागजात। पुलिस ने उन सभी ऑटो को धनसार थाने के हवाले कर दिया।

अल्ट्रासाउंड जांच के बाद डॉक्टर ने दिया वॉश कराने का परामर्श

दो अपराधी भेजे गए जेल, बाकी दो की तलाश में छापेमारी कर रही है पुलिस

धनबाद/भगतडीह | आॅटो पर धनबाद रेलवे स्टेशन से सेंद्रा बांसजोड़ा जा रही महिला अपराधियों की हवस का शिकार होने से तो बच गई, लेकिन उसका तीन माह का गर्भ खराब हो गया। टेलीफोन एक्सचेंज रोड स्थित हाजरा क्लिनिक में अल्ट्रासाउंड जांच में बच्चा खराब होने की जानकारी मिली। उसकी रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर ने वॉश कराने का परामर्श दिया है। महिला को लेकर परिजन फिलहाल सेंद्रा में अपने बहनोई के घर चले गए। बहनोई ने बताया कि उनके यहां उसकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है, इसलिए अब जो भी होगा जमुई के गिद्धौर में परिवार की देखरेख में होगा। उन्होंने कहा कि अपराधियों का विरोध करने पर उनसे हाथा-पाई में पेट में चोट लगी थी। इसी वजह से उसका गर्भ खराब हुआ होगा। इधर, इस मामले में बोर्रागढ़ ओपी में चार अपराधियों पर एफआईआर दर्ज की गई है। उनमें से रमेश ठाकुर और चालक विक्की राम को पुलिस ने सोमवार को जेल भेज दिया। फरार तरुण और बाबला की गिरफ्तारी का प्रयास पुलिस कर रही है।

12 ऑटो चालकों के पास नहीं मिला लाइसेंस

डॉक्टर ने कहा - एक्सीडेंटल को-इंसीडेंस

महिला का इलाज कर रहे डॉ विकास हाजरा ने बताया कि पहले भी उसका दो माह का गर्भ खराब हो चुका था। अब फिर उसके साथ ऐसा हादसा हो गया। संभव है कि महिला का गर्भ जेनेटिक समस्या के कारण खराब हुआ हो, लेकिन चोट लगने से भी ऐसा हो सकता है। यह एक्सीडेंटल को-इंसीडेंस भी हो सकता है।