धनबाद

  • Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • ट्रेनिंग पूरी कर योगदान करने जा रही रेलकर्मी पर डीआरएम कार्यालय के पास जानलेवा हमला
--Advertisement--

ट्रेनिंग पूरी कर योगदान करने जा रही रेलकर्मी पर डीआरएम कार्यालय के पास जानलेवा हमला

धनबाद रेल मंडल कार्यालय के पास एक युवती पर सोमवार को एक युवक ने स्क्रू ड्राइवर से हमला कर दिया। स्क्रू ड्राइवर...

Danik Bhaskar

Jul 10, 2018, 03:05 AM IST
धनबाद रेल मंडल कार्यालय के पास एक युवती पर सोमवार को एक युवक ने स्क्रू ड्राइवर से हमला कर दिया। स्क्रू ड्राइवर उसके चेहरे पर लगा और खून बहने लगा। भीड़ जुट गई, तो हमलावर स्टेशन की ओर भाग निकला। मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती को रेलवे अस्पताल ले जाकर प्राथमिक उपचार कराया गया। चतरा के सिमरिया की रहनेवाली यह युवती रेलकर्मी है और प्रशिक्षण पूरा कर डीआरएम कार्यालय में असिस्टेंट स्टेशन मास्टर के पद पर योगदान करने पहुंची थी। इलाज के बाद उसने कार्यालय पहुंचकर योगदान दिया। खबर मिलने पर युवती के पिता अौर भाई हजारीबाग से पहुंचे। फिर उसने परिजनों के साथ धनबाद थाने जाकर हजारीबाग के रहनेवाले विशाल के खिलाफ छेड़छाड़ करने और हत्या की नीयत से हमला करने का आरोप लगाते हुए लिखित शिकायत की।

पुलिस ने रेलवे अस्पताल में कराया प्राथमिक उपचार, कर्मी ने असिस्टेंट स्टेशन मास्टर के पद पर दिया याेगदान

हजारीबाग से ही पीछा कर रहा था आरोपी

युवती के मुताबिक, विशाल हजारीबाग से ही उसका पीछा कर रहा था। वह धनबाद आने के लिए जिस बस में सवार हुई, विशाल भी उसमें सवार हो गया। रास्ते में भी उसने परेशान किया। बरटांड़ में बस से उतरने के बाद वह सिटी सेंटर के पास से डीआरएम चौक के लिए ऑटो में बैठी, तो विशाल भी उसी ऑटो में बैठ गया। ऑटो में भी उसने छेड़खानी की। डीआरएम चौक के पास ऑटो से उतरकर वह आॅफिस जाने लगी, तो विशाल ने हमला कर उसे जख्मी कर दिया।

आरआरबी रांची से हुई थी बहाली : युवती का रांची आरआरबी से स्टेशन मास्टर के रूप में चयन हुआ था। नया बाजार में रहते हुए उसने तीन माह की ट्रेनिंग भूली स्थित रेलवे के ट्रेनिंग स्कूल में की।

मैसेज भेज कर करता है परेशान : युवती ने बताया कि विशाल पूर्व परिचित है। दोनों एक कोचिंग सेंटर में साथ पढ़ते थे। दोनाें में बातचीत होती थी, लेकिन एक साल पहले युवती ने बात करनी छोड़ दी थी। इसके बावजूद वह फोन पर मैसेज भेज परेशान करता था और धमकी भी देता था। इसकी शिकायत उसने विशाल की मां और भाई से भी की थी। हमले के बाद भी उसने पुलिस में शिकायत नहीं करने की धमकी दी थी।

Click to listen..