Hindi News »Jharkhand »Dhanbad» एजेंसियां बोलीं- बिल का भुगतान नहीं हुआ प्रबंधन ने कहा- जरूरी कागजात नहीं दिए

एजेंसियां बोलीं- बिल का भुगतान नहीं हुआ प्रबंधन ने कहा- जरूरी कागजात नहीं दिए

पीएमसीएच में आउटसोर्स कर्मियों को जून माह का वेतन नहीं दिया गया है। इससे वे काफी गुस्से में हैं। अाउटसोर्सिंग...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 11, 2018, 03:05 AM IST

पीएमसीएच में आउटसोर्स कर्मियों को जून माह का वेतन नहीं दिया गया है। इससे वे काफी गुस्से में हैं। अाउटसोर्सिंग एजेंसियों ने उन्हें वेतन देने में असमर्थता जताई है। उन्होंने पत्र के जरिए इसकी सूचना पीएमसीएच प्रबंधन को दी है। एजेंसियों का कहना है कि प्रबंधन ने फरवरी से दिसंबर 2017 तक के बिल का भुगतान ही नहीं किया गया है। अब तक कर्ज लेकर कर्मियों को वेतन दिया जा रहा था, और कर्ज लेने की स्थिति में नहीं हैं।

जानकारी के मुताबिक, कर्मियों के वेतन मद में स्वास्थ्य विभाग की ओर से आवंटन तो दिया गया, फिर भी एजेंसियों को भुगतान नहीं किया गया। इस बारे में पूछने पर पीएमसीएच अधीक्षक डॉ तुनुल हेमरोम ने मंगलवार को बताया कि एजेंसियां कई जरूरी कागजात उपलब्ध नहीं करा रही हैं। इसी वजह से उनका भुगतान रोका गया है। मांगे जाने के बावजूद वे कर्मियों की संख्या, उनकी उपस्थिति विवरणी आदि नहीं दे रही हैं। प्रबंधन कहता रहा है कि एजेंसियों ने उन्हें बताया ही नहीं है कि उनके जरिए पीएमसीएच में कितने कर्मी काम करते हैं। विभिन्न विभागों के एचओडी ने भी कर्मियों की उपस्थिति विवरणी नहीं दी है। साथ ही, भुगतान के पहले कर्मियों के ईपीएफ, ईएसआई आदि की जानकारी भी हर माह प्रबंधन को मिलनी चाहिए, लेकिन नहीं मिल रही है।

घोटाले की चल रही है जांच

पीएमसीएच में मैनपावर उपलब्ध करानेवाली दोनों एजेंसियों पर अपने कर्मियों के वेतन भुगतान में घोटाले का आरोप है। एडीएम लॉ एंड ऑर्डर के नेतृत्व वाली चार सदस्यीय टीम जांच कर रही है। संभव है कि जांच को प्रभावित करने के इरादे से ही एजेंसियों ने अपने कर्मियों को वेतन देना बंद कर दिया हो।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhanbad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×