• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • 36 माह बाद निगम को समझ में आया कि नहीं हो रहा काम, कामकाज देखने के लिए बनाई गईं 10 कमेटियां
--Advertisement--

36 माह बाद निगम को समझ में आया कि नहीं हो रहा काम, कामकाज देखने के लिए बनाई गईं 10 कमेटियां

सफाई, जलापूर्ति और अन्य सुविधाओं पर कार्य नहीं हो रहा है...। योजनाओं की समीक्षा नहीं हो पा रही है...। विकास कार्यों की...

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 03:10 AM IST
सफाई, जलापूर्ति और अन्य सुविधाओं पर कार्य नहीं हो रहा है...। योजनाओं की समीक्षा नहीं हो पा रही है...। विकास कार्यों की गति संतोषजनक नहीं है...। यह सबकुछ निगम को 36 माह बाद समझ में आया। निगम ने मंगलवार को कामकाज देखने के लिए 10 कमेटियां बनाई। 10 पार्षदों को इन कमेटियों का चेयरमैन बनाया गया है। मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने इन कमेटियों में 29 पार्षदों को जगह दी है। पार्षद प्रियरंजन कुमार और संजय यादव को दो - दो समितियों का अध्यक्ष बनाया है। वहीं, मेयर ने पार्षद विनोद कुमार गोस्वामी और मौसमी कुमारी को दो कमेटियों में जगह दी है। शहर की सरकार को पहली बार मंत्रीमंडल मिला है। इन कमेटियों के गठन के साथ ही काम टालने के बहाने भी खत्म हो गए हैं। मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल का कहना है कि कमेटियों के माध्यम से कार्यों की निगरानी में आसानी होगी। कमेटियों के पास अपने अधिकार होंगे। जिम्मेवारी और कार्यक्षेत्र तय कर दिया गया है। इन कमेटियों से निगम की कार्यप्रणाली बदलेगी। पर सवाल यह है कि क्या ये कमेटियां विकास कार्यों की तस्वीर भी बदल पाएगी...? गंदगी और पेयजल संकट झेल रही जनता को राहत मिलेगी। राजस्व बढ़ पाएगा...? योजनाओं का कार्यान्वयन होगा...? प्रधानमंत्री आवास योजना को गति मिलेगी...? शहरी क्षेत्रों में अवैध भवन निर्माण की जांच हो जाएगी...? ऐसे कई सवाल हैं, जिसका जवाब आने वाला समय देगा।

शहर की सरकार को पहली बार मिला मंत्रिमंडल, 10 पार्षद चेयरमैन बनाए गए, पार्षद प्रियरंजन व संजय बने दो-दो कमेटियों के अध्यक्ष, मौसमी और विनोद गोस्वामी को मिली दो कमेटियों में जगह

जानिए, गठित समितियां, उनके काम और उनके चेयरमैन को...


कार्यक्षेत्र : यह समिति होल्डिंग टैक्स व एसएएफ का प्रगति एवं सत्यापन का काम देखेगी। दुकानों की बंदोबस्ती और सैरात संबंधित मामलों को भी देखेगी।


अध्यक्ष

नंदलाल पासवान

सदस्य

प्रियंका देवी, विनय रजवार


अध्यक्ष

महावीर पासी

सदस्य

जयकुमार, अनुरंजन सिंह


अध्यक्ष : अंकेश राज

सदस्य : चंपा देवी, मेनका सिंह, राममूर्ति सिंह


अध्यक्ष : अशोक कुमार पाल सदस्य : नंदलाल सेनगुप्ता, मंजु देवी, पुष्पा देवी

समितियों के लिए जारी 2 निर्देश

कार्यक्षेत्र : यह समिति व्यक्तिगत शौचालय निर्माण तथा भुगतान, सीटी, पीटी, एमटी और ओडीएफ सहित अन्य स्वच्छता से संबंधित मामलों को देखेगी।

कार्यक्षेत्र : यह समिति बोर्ड बैठक व स्थायी समिति के निर्णय का अनुपालन संबंधित काम देखेगी। महापौर कोषांग के पत्रों पर कार्रवाई की स्थिति पर भी नजर रखेगी।

अध्यक्ष : निर्मल कुमार मुखर्जी सदस्य : धर्मेंद्र कुमार महतो, विनोद गोस्वामी

कार्यक्षेत्र : यह इस समिति को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के संपूर्ण घटक से संबंधित मामलों को देखने की जिम्मेवारी सौंपी गई है।

कार्यक्षेत्र : यह समिति राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (एनयूएलएम) के संपूर्ण घटक से संबंधित मामलों का काम देखेगी।

1. कार्यों के नियमों का अनुपालन, सुझाव या परामर्श की कार्यवाही तैयार करेंगे। 2. प्रत्येक सोमवार को समिति समीक्षा के लिए कार्यालय में प्रस्तुत होगी।

समिति को क्या नहीं मिलेगा

समिति को कार्य के एवज में अलग से कोई मानदेय अथवा किसी भी प्रकार का कोई भत्ता नहीं मिलेगा।

...और समिति को क्या मिलेगा

क्षेत्र भ्रमण के लिए वाहन उपलब्ध कराया जाएगा। वाहन की उपलब्धता नगर आयुक्त सुनिश्चित करेंगे।

15 सितंबर 2017 को भास्कर में छपी खबर।


कार्यक्षेत्र : यह समिति जल संयोजन, लंबित जल संयोजन, पाइप लाइन विस्तार, चापानल मरम्मति, अवैध जल संयोजन से संबंधित मामलों को देखेगी।


अध्यक्ष : शिवकुमार यादव

सदस्य : आरसी तब्बसुम, मौसमी कुमारी


अध्यक्ष : प्रियरंजन कुमार पाल सदस्य : सुजित कुमार, मौसमी कुमारी

समिति की बैठक आज


अध्यक्ष

संजय यादव

सदस्य

अनुरंजन सिंह, सुमन अग्रवाल


अध्यक्ष

प्रियरंजन कुमार

सदस्य

चंदन महतो, निसार आलम

गठित 10 समितियों की पहली बैठक बुधवार को होगी। मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने इस बाबत सभी समितियों को पत्र भेजा है। इस पहली बैठक में मेयर समितियों के सदस्यों को उनका कार्यक्षेत्र, अधिकार और जिम्मेवारी बताएंगे।

अध्यक्ष : संजय यादव सदस्य : प्रियरंजन, विनोद गोस्वामी, सावित्री देवी, सुमित्रा देवी

कार्यक्षेत्र : यह समिति जनस्वास्थ्य, साफ-सफाई, सफाई उपकरण एवं वाहन, मजदूरी, ईंधन विपत्र एवं डस्टबिन से संबंधित कार्यों की निगरानी करेगी।

कार्यक्षेत्र : इस समिति के जिम्मे नगर निवेशन, भवन निर्माण से संबंधित, अवैध भवन निर्माण जांच व सत्यापन, नक्शा विचलन जांच व सत्यापन का काम होगा।

कार्यक्षेत्र : समिति निगम अंतर्गत आने वाली वाहनों का रख-रखाव, फोगिंग की स्थिति, ईंधन तथा सिटी बस परिचालन से संबंधित काम देखेगी।

कार्यक्षेत्र : समिति निगम को प्राप्त समस्त प्रकार के आय तथा उसके विरोध किए गए व्यय का अंकेक्षण तथा लेखा संधारण से संबंधित मामलों को देखेगी।