--Advertisement--

विश्व जनसंख्या दिवस पर आयोजन

विश्व जनसंख्या दिवस पर बुधवार को सिविल सर्जन कार्यालय में परिवार विकास मेला का आयोजन किया गया। उद‌्घाटन जिला...

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 03:55 AM IST
विश्व जनसंख्या दिवस पर बुधवार को सिविल सर्जन कार्यालय में परिवार विकास मेला का आयोजन किया गया। उद‌्घाटन जिला परिषद अध्यक्ष रोबिन गोराई ने किया। परिवार मेले के माध्यम से परिवार नियोजन से संबंधित जानकारियां दी गईं। लोगों को बताया कि स्वस्थ और विकसित परिवार के लिए परिवार नियोजन आवश्यक है। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग एवं परिवार कल्याण विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे। इससे पहले विभाग की ओर से जागरूकता रैली निकाली गई। जागरूकता रैली सिविल सर्जन कार्यालय से शुरू हुई। जिला परिषद अध्यक्ष रोबिन गोराई ने हरि झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। रैली रणधीर वर्मा चौक, डीआरएम माेड़ सहित अन्य क्षेत्रों से होते हुए सिविल सर्जन कार्यालय पहुंची। पोस्टर-बैनर के माध्यम से लोगों को जनसंख्या नियंत्रण के प्रति जागरूक किया गया।

स्वस्थ-विकसित परिवार के लिए परिवार नियोजन जरूरी

सिविल सर्जन कार्यालय में परिवार विकास मेला का आयोजन

सीएस कार्यालय परिसर में परिवार विकास मेले में बोलते जिप अध्यक्ष रोबिन गोराई।

24 जुलाई तक चलेगा परिवार कल्याण पखवाड़ा

धनबाद|11 जुलाई से 24 जुलाई तक परिवार कल्याण पखवाड़ा मनाया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग को लक्ष्य दिया गया है। विश्व जनसंख्या दिवस पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से चलाये जा रहे पखवाड़ा कार्यक्रम के तहत 137 पुरुष नसबंदी व 1297 महिला बंध्याकरण का लक्ष्य तय किया गया है। यह जानकारी बुधवार को एसीएमओ चंद्राम्बिका श्रीवास्तव ने प्रेस से बातचीत में दी। कहा की 1179 आईयूसीडी, 2890 पीपीआईयूसीडी,1085 इंजेक्टेबल, 35263 ओरल पिल्स के साथ-साथ 195303 कंडोम देने का भी लक्ष्य है। बताया कि सभी आठ प्रखंडो में इस लक्ष्य को पूरा करने में विभाग जुट गया है। परिवार स्वास्थ्य मेला पखवारा का उद्देश्य परिवार नियोजन कार्यक्रम के माध्यम से मातृ शिशु दर एवं शिशु मृत्यु दर को कम करना है। साथ ही परिवार नियोजन कार्यक्रम की जानकारी देना व सेवा की पहुंच सुनिश्चित करना है। कहा कि विभाग द्वारा इस बार परिवार नियोजन पखवारा मेले में अन्य उत्पादों के साथ गर्भ निरोधक सूई दी जा रही है। यह सूई बाजार में तो काफी पहले से मौजूद थी लेकिन, सरकारी व्यवस्था में इसे इस बार सुनिश्चित की गई है। महिला बंध्याकरण के लाभार्थियों को 1400 रुपये व उत्प्रेरक को 200 रुपये, प्रसव के बाद बंध्याकरण करने पर लाभार्थी को 2200 रुपये, उत्प्रेरक को 200 रुपए, पुरुष नसबंदी में लाभार्थियों को 2000 व उत्प्रेरक को 200 रुपये प्रोत्साहन राशि दी जाती है। कार्यक्रम के दौरान अंतरा और छाया (टेबलेट) का भी विमोचन किया गया। इन दो गोली के तीन महीने के सेवन से अनचाहे गर्भधारण से बचा जा सकता है। प्रति सप्ताह दो गोलियों का सेवन करना होता है। गोली बांटने की जिम्मेवारी सहियाओं और एएनएम की होगी।