• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • 15 दिनों के एकांतवास के बाद 14 को जगन्नाथ देंगे दर्शन, सुभद्रा और बलराम के साथ करेंगे नगर भ्रमण
--Advertisement--

15 दिनों के एकांतवास के बाद 14 को जगन्नाथ देंगे दर्शन, सुभद्रा और बलराम के साथ करेंगे नगर भ्रमण

भगवान जगन्नाथ के एकांतवास के दौरान धनसार मंदिर के बंद पट। 23 को देवशयनी एकादशी पर चार माह के शयन में जाएंगे भगवान,...

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 03:55 AM IST
भगवान जगन्नाथ के एकांतवास के दौरान धनसार मंदिर के बंद पट।

23 को देवशयनी एकादशी पर चार माह के शयन में जाएंगे भगवान, बंद रहेंगे शुभ कार्य

23 जुलाई को देवशयनी एकादशी पर भगवान जगन्नाथ चार महीने के लिए शयन में चले जाएंगे। मंदिर के पट भी चार महीने तक बंद रहेंगे। देवशयनी एकादशी से ही चतुर्मास शुरू हो जाएगा। पंडित एकानंद पांडेय कहते हैं कि हिंदू शास्त्रों में देवशयनी एकादशी से चार महीने तक भगवान के शयन में रहने के दौरान शादी-विवाह, उपनयन संस्कार, मुंडन, गृह-प्रवेश आदि शुभ कार्य बंद रहेंगे। 19 नवंबर को कार्तिक महीने में देवोत्थान एकादशी पर भगवान शयन से जागेंगे और तुलसी विवाह के साथ ही हिंदू धर्मावलंबियों के यहां शादी-विवाह, उपनयन संस्कार आदि शुरू हो जाएंगे।

अनुष्ठान के लिए पुरी से पधारेंगे पंडा

धनसार के जगन्नाथ मंदिर में रंगरोगन का काम चल रहा है। रथ की सजावट का काम भी शुरू कर दिया गया है। प्रबंध समिति के सचिव महेश्वर राउत ने बुधवार को बताया कि रथ यात्रा के सिलसिले में पुरी के जगन्नाथ मंदिर से पंडा ब्रह्मानंद पारीक और टिंकू पांडा विशेष तौर पर धनसार पधार रहे हैं। 13 को मंदिर परिसर में सुबह 6:30 बजे नेत्र उत्सव शुरू होगा। फिर शनिवार 14 जुलाई की शाम 4:30 बजे मंदिर परिसर से रथयात्रा शुरू होगी। यह बैंक मोड़, पुराना बाजार, हावड़ा मोटर होते हुए मौसीबाड़ी पहुंचेगी। हीरापुर के हरि मंदिर से भी शाम 4:30 बजे ही रथयात्रा निकलेगी। यह पार्क मार्केट, ज्ञान मुखर्जी रोड, हरि मंदिर रोड होते हुए मौसीबाड़ी आएगी।