• Hindi News
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • पहले 9वीं में नामांकन, अब दिखा रहे बाहर का रास्ता
--Advertisement--

पहले 9वीं में नामांकन, अब दिखा रहे बाहर का रास्ता

Dhanbad News - पहले टीसी दिया, फिर टीसी वापस लेकर नामांकन लिया और अब फिर से टीसी देने की तैयारी है। झारखंड बालिका आवासीय विद्यालय...

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2018, 04:05 AM IST
पहले 9वीं में नामांकन, अब दिखा रहे बाहर का रास्ता
पहले टीसी दिया, फिर टीसी वापस लेकर नामांकन लिया और अब फिर से टीसी देने की तैयारी है। झारखंड बालिका आवासीय विद्यालय की छात्राओं के साथ शिक्षा विभाग ऐसे ही टीसी-टीसी खेल रहा है। छात्राओं ने आठवीं बोर्ड परीक्षा पास क्या की, उनके भविष्य के साथ मजाक शुरू हो गया। विभाग को इस बात का भी ख्याल नहीं है कि शैक्षणिक सत्र 2018-19 शुरू हुए तीन महीने से अधिक बीच चुके हैं। धनबाद जिले में तीन ऐसे आवासीय विद्यालय हैं, जहां 50-50 को एक बार फिर से बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है। इस कारण छात्राएं और उनके अभिभावक फिर से चिंतित हैं। छात्राओं को डर है कि उनकी पढ़ाई बीच में ही ड्रॉप हो सकती है। वहीं अभिभावक परेशान हैं कि अब बेटी का नामांकन बीच सत्र में किस विद्यालय में कराया जाए। चर्चा है कि बुधवार को सभी डीएसई के साथ हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में छात्राओं के टीसी दिए जाने पर प्रधान सचिव ने कड़ा एतराज जताया है। इसके बाद कस्तूरबा विद्यालयों में नामांकन के प्रयास शुरू हो गए हैं।

दूसरी जगह नामांकन को लिखा था पत्र

डीएसई विनीत कुमार ने 22 मार्च 2018 को डीईओ को छात्राओं के नामांकन को लेकर पत्र लिखा था। कहा था कि तीनों विद्यालयों में आठवीं बोर्ड में कुल 150 छात्राएं शामिल हुई है। चूंकि इन विद्यालयों में आठवीं के बाद शिक्षा के लिए कोई निर्देश अब तक नहीं मिला है। ऐसे में आठवीं बोर्ड के बाद छात्राएं ड्रॉप कर सकती हैं। इसलिए उच्च विद्यालयों में नौवीं कक्षा में नामांकन ले लिया जाए।

जिले में तीन विद्यालय

झारखंड बालिका आवासीय विद्यालयों का संचालन कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय के तर्ज पर शुरू हुआ था। जिन प्रखंडों में कस्तूरबा विद्यालय नहीं था, उन्हीं प्रखंडों में स्कूल शुरू किया। धनबाद जिले में कोलाकुसमा धनबाद, बाघमारा और पूर्वी टुंडी में विद्यालय है। तीनों विद्यालयों में छठी कक्षा में नामांकन लिया गया था। नामांकन का आधार भी कस्तूरबा विद्यालय की ही तरह था। ऐसे परिवारों की छात्राओं का नामांकन लिया गया, जो अभिवंचित और गरीब कोटि से आती हैं।

पूर्वी टुंडी में छात्राओं को दिया टीसी

फतेहपुर पूर्वी टुंडी स्थित विद्यालय ने फिर से नौवीं में नामांकित सभी छात्राओं को टीसी दे दिया है। यहां पहले भी छात्राओं को टीसी देकर हॉस्टल खाली करने को कहा गया था। तब छात्राओं के अभिभावकों ने विरोध किया था। कहा था कि नामांकन के वक्त 12वीं तक की पढ़ाई का वादा गया था। कोलाकुसमा स्थित विद्यालय की वार्डन रेणु वर्मा सवालों से बचती रहीं। उन्होंने बताया कि एक सप्ताह पहले छात्राओं के स्कूल में रहने और नहीं रहने के मामले में जिलास्तरीय बैठक हुई थी। रविवार तक का इंतजार है, फिर कुछ बता पाएंगे।

डीएसई ने कहा

सुबह में : मार्गदर्शन मांगे तीन महीने बीत चुके हैं। अभी तक मार्गदर्शन नहीं मिला है। छात्राओं का सत्र बरबाद हो सकता है। इसलिए उन्हें टीसी दिया जाएगा, ताकि वे उच्च विद्यालयों में नौवीं कक्षा में नामांकन ले सकें।

शाम के वक्त : फिलहाल छात्राएं विद्यालयों में रहेंगी। सभी वार्डन को निर्देश दिया जाएगा। साथ ही सभी वार्डन की बैठक बुलाई जाएगी। आठवीं बोर्ड में सफल सभी छात्राओं के कस्तूरबा विद्यालय में नामांकन लिया जा सकता है।

जानकारी नहीं, डीएसई से पूछूंगा


X
पहले 9वीं में नामांकन, अब दिखा रहे बाहर का रास्ता
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..