• Home
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • दक्ष पूर्णा ठाना संघ के मंगल प्रवेश पर मधुबन पहुंचे श्वेतांबर संप्रदाय
--Advertisement--

दक्ष पूर्णा ठाना संघ के मंगल प्रवेश पर मधुबन पहुंचे श्वेतांबर संप्रदाय

जैनियों के विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल मधुबन में बुधवार को श्वेतांबर संप्रदाय के दक्ष पूर्णा ठाना संघ का मंगल...

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 03:15 AM IST
जैनियों के विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल मधुबन में बुधवार को श्वेतांबर संप्रदाय के दक्ष पूर्णा ठाना संघ का मंगल प्रवेश हुआ। कई प्रांत का भ्रमण करते हुए वह मधुबन पहुंचे। जहां जैन श्वेतांबर सोसाइटी के पदाधिकारी- कर्मचारी ने उनका भव्य स्वागत किया।

मधुबन स्थित कच्ची भवन से गाजे-बाजे के साथ उनकी आगवानी कर उन्हें जैन श्वेतांबर सोसाइटी तक ले जाया गया जहां वह इस वर्ष चतुर्मास स्थापित करेंगे। सनद रहे कि बरसात के चार महीने में जैन धर्म के साधु, साध्वी, श्रावक-श्राविका एक जगह रह कर भगवान की आराधना, पूजा-पाठ करते हैं। जीव हिंसा नहीं हो। दक्ष पूर्णा के स्वागत में जैन श्वेतांबर सोसाइटी के गिरधारी सिंह, अनिल कुमार दुग्गल, महाप्रबंधक दीपक बैगाने, शैलेंद्र सिंह उर्फ विक्की, गंधारी सिंह राजपुरी आदि शामिल थे।

मधुबन पहुंचे श्वेताम्बर संप्रदाय के साधु, साध्वी।

पर्वत वंदना को निकले तीर्थ यात्री।

तीर्थयात्रियों ने उपवास में रहकर की पर्वत वंदना

मधुबन | जैनियों के विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल मधुबन के पारसनाथ पर्वत की वंदना निर्जला रह कर देश के कोने-कोने से आए तीर्थ यात्रियों ने की। भारत वर्षीय दिगंबर जैन तीर्थ क्षेत्र कमेटी के महाप्रबंधक सुमन कुमार सिन्हा ने बताया कि महाराष्ट्र एवं कर्नाटक के 50 तीर्थ यात्रियों का जत्था मधुबन स्थित 20 पंथी कोठी से वहां के प्रबंधक सुधाकर अन्नदाता के नेतृत्व में पारसनाथ पर्वत की वंदना दर्शन एवं पूजा की। यात्रा में सुधाकर अन्नदाता के अलावा इंदौर के समाजसेवी अतुल बघेरवाल, मनोज जैन, अर्जुन जैन, नागेंद्र सिंह, कर्नाटक के धनराज पाटिल, ममता पाटिल, कविता पाटिल आदि शामिल थे। यह यात्रा 20 पंथी कोठी से प्रारंभ होकर पारसनाथ पर्वत स्थित 24 टोंक पूजा अर्चना की यात्रा में शामिल सभी लोग बिना अन्न, पानी, ग्रहण किए पूजा अर्चना की।