--Advertisement--

विधायक ढुल्लू महतो सहित 8 को एक साल की सजा, 200 रुपए जुर्माना; बीडीओ से दुर्व्यवहार और सरकारी काम में रुकावट का मामला

12 साल बाद आया फैसला, 10 हजार रुपए के एक निजी मुचलकों पर 30 दिन के लिए अपील जमानत मिली

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2018, 08:16 AM IST
बीडीओ प्रभाकर सिंह का कहना था बीडीओ प्रभाकर सिंह का कहना था

धनबाद. बाघमारा बीडीओ प्रभाकर सिंह के साथ दुर्व्यवहार और सरकारी कार्य में बाधा डालने के मामले में गुरुवार को 12 साल बाद कोर्ट का फैसला आया। एसडीजेएम शशिभूषण शर्मा की अदालत ने आरोपी बाघमारा विधायक ढुल्लूमहतो सहित आठ लोगों को एक साल की सजा सुनाई। सजा पाने वालों में ढुल्लूमहतो के अलावे रावण महतो, विनोद महतो, मानिक महतो, सीताराम महतो, संतोष महतो, धीरन महतो और मनोज महतो शामिल हैं। एसडीजेएम शशिभूषण शर्मा ने विधायक ढुल्लूमहतो व अन्य आरोपियों को धारा 353 में एक साल, धारा 143 में 5 महीना, धारा 341 में 1 महीना और धारा 283 में दो सौ रुपए जुर्माना लगाया। जुर्माना नहीं देने पर सात दिन की अतिरिक्त सजा सुनाई। अभियोजन पक्ष से अवर लोक अभियोजक हरेश राम ने पैरवी की थी। हरेश राम ने अदालत में सजा के सपोर्ट में हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के कई रुलिंग दाखिल किए थे। बचाव पक्ष से कई वरीय अधिवक्ताओं ने अपनी-अपनी दलीलें दी थी। अभियोजन की ओर से सूचक तत्कालीन थानेदार बीडी राम, बाघमारा के तत्कालीन बीडीओ प्रभाकर सिंह सहित 16 गवाहों ने अदालत में बयान दर्ज कराया था। सजा सुनाए जाने के बाद विधायक ढुल्लूमहतो सहित सभी आठ आरोपियों की ओर से अपील जमानत याचिका दी गई। अदालत ने ढुल्लूमहतो सहित सभी आठ लोगों को 10 हजार रुपए के एक निजी मुचलकों पर 30 दिन के लिए अपील जमानत दे दी।

यह है मामला: 6 जून 2006 को वकील महतो की दर्दामोड़ के पास सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी। घटना के वक्त वकील महतो मोटरसाइकिल के पीछे बैठे थे। पीछे से एक अनियंत्रित हाइवा ने ठोकर मार दी थी। वकील महतो की मौत के बाद किसी ने विधायक ढुल्लू महतो को घटना की जानकारी दी थी। पुलिस के अनुसार ढुल्लू महतो अपने समर्थकों के साथ आकर मृतक वकील महतो के लिए मुआवजे की मांग करने लगे। उन्होंने सड़क जाम कर दिया था। इसी दौरान पुलिस और ढुल्लू समर्थकों के बीच नोक-झोंक भी हुई थी। जानकारी मिलते ही बाघमारा के बीडीओ प्रभाकर सिंह मौके पर पहुंचे थे। बीडीओ प्रभाकर सिंह का कहना था कि ढुल्लू महतो ने उनपर रिवाल्वर तान दी थी और दुर्व्यवहार किए थे। बरोरा थाना के पूर्व थानेदार बलदेव सिंह (बीडी सिंह ) के लिखित शिकायत पर बाघमारा थाना में ढुल्लू महतो सहित आठ लोगों के खिलाफ धारा 143, 144, 353, 504, 290, 283 के तहत प्राथमिकी दर्जकराई गई थी। आईओ ने 1 अप्रैल 2007 को ढुल्लू महतो आदि के खिलाफ चार्जशीट दी थी।

दोषी करार होते ही उतर गया विधायक का चेहरा

गुरुवार को 2:30 बजे विधायक ढुल्लू महतो लाव लश्कर के साथ अदालत पहुंचे। विधायक ढुल्लू महतो के साथ सुरक्षा कर्मी (अंगरक्षक) मौजूद थे। बचाव पक्ष और अभियोजन पक्ष के पैरवीकार अदालत में उपस्थित थे। लगभग 3:30 बजे एसडीजेएम शशिभूषण शर्माने कार्रवाई प्रारंभ की। अदालत ने फैसला सुनाया। दोषी करार होते ही विधायक व उनके समर्थकों का चेहरा उतर गया।

एक मामलों में हो चुकी है सजा: 25 फरवरी 2016 को मो. उमर की अदालत ने ढुल्लू महतो समेत सात लोगों को भादवि की धारा 147 व 353 में एक एक वर्ष व धारा 341 में एक माह की सजा सुनाई थी। 19 मार्च 2016 को ढुल्लूने पीडीजे की अदालत में क्रिमिनल अपील याचिका 59/16 दायर की थी। अदालत ने 30 नवंबर 2017 को उक्त याचिका को स्वीकृत करते हुए सभी को बरी कर दिया था। यह मामला बाघमारा थाना कांड संख्या 242/05 से संबंधित है।

X
बीडीओ प्रभाकर सिंह का कहना था बीडीओ प्रभाकर सिंह का कहना था
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..