बच्चों को अच्छे संस्कार देना माता का पहला दायित्व ः अमृत प्रकाश महाराज

Dhanbad News - श्री सिद्ध हनुमान मंदिर के रजत समारोह में प्रवचन के दूसरे दिन हरिद्वार के मानस मर्मज्ञ अमृत प्रकाश महाराज ने कहा...

Jan 25, 2020, 07:30 AM IST
Nirsa News - mother39s first responsibility to give good values to children amrit prakash maharaj

श्री सिद्ध हनुमान मंदिर के रजत समारोह में प्रवचन के दूसरे दिन हरिद्वार के मानस मर्मज्ञ अमृत प्रकाश महाराज ने कहा कि बच्चों को अच्छे संस्कार देना माता का दायित्व है। संस्कारी माताओं के संतान ही संस्कारी होते हैं। मां का गुण बच्चों में स्वाभाविक रूप से आता है। बच्चों की पहली पाठशाला मां और परिवार है। मां जिस तरह संस्कार अपने संतान को देती हैं, उसी तरह बच्चे जीवन में आगे बढ़ते हैं। स्वामी ने कहा कि पाश्चात्य संस्कृति के हावी होने के कारण ही हम बच्चों का नामकरण पश्चिमी देशों की तरह कर रहे हैं। भारतीय संस्कृति से विपरीत अपने बच्चों का नामकरण करते हैं, जो गलत है। इसलिए आज के दौर में हमें अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देने की आवश्यकता है। उन्हाेंने कहा कि जब-जब दुनिया में अधर्म होता है, तब धर्म की रक्षा के लिए भगवान अवतार लेते हैं। भक्तों की पुकार भगवान अवश्य सुनते हैं और उनकी समस्याओं का समाधान करते हैं। कुशल संस्कारी माता गर्भ से भगवान पैदा होते हैं। उन्होंने कहा कि मनुष्य को अहंकार कभी नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अपने कर्तव्य का पालन करना ही धर्म है। कथा के दूसरे दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। स्वामी आत्मप्रकाश रामायण भवन ट्रस्ट के अध्यक्ष शंभूनाथ अग्रवाल, मुख्य यजमान रामबाबू अग्रवाल, जवाहर प्रसाद गुप्ता व राजकुमार तायल, नंदलाल अग्रवाल, बलराम अग्रवाल, बजरंग अग्रवाल, पवन अग्रवाल आदि ने अतिथियों का स्वागत किया। कथा प्रतिदिन 3 बजे से शाम 6 बजे तक हो रही है।

राम नाम से ही होगी मौक्ष्य की प्राप्ति हाेगी: यशोनंदन

निरसा| निरसा के हाईस्कूल स्थित भारद्वाज परिवार की अाेर से सप्ताह व्यापी श्रीमद्भागवत कथा के दूसरे दिन शुक्रवार को वृंदावन से आये आचार्य यशोदानंदन महाराज ने सुखदेव के जीवन चरित्र, भगवान के 24 अवतारों का वर्णन, व्यास प्रसंग, नारद चरित्र, राजा परीक्षित के जन्म, कुंती प्रसंग, विदुर जी द्वारा दिए गए उपदेश, राजा परीक्षित को श्रृंगी ऋषि का श्राप की कथा सुनाई। कथावाचक यशोनंदन महाराज ने कहा कि कलयुग में सभी व्यक्ति को गाय, गंगा व गायत्री की उपासना करनी चाहिए। जिससे हमारे एवं समाज के अंदर संस्कार पैदा होती है। राम नाम के जाप से कलयुग में मोक्ष प्राप्ति होगी। धर्म की रक्षा हमारा कर्तव्य है। मौके पर नर्मदेश्वर प्रसाद सिंह, माधव प्रसाद गोयल, रामकिशन शर्मा, पृथ्वी नाथ झा, उपेंद्र सिंह, रविंदर अग्रवाल, बजरंग अग्रवाल, मधुरेंद्र गोस्वामी, विजय सिंह, शिवशंकर सिंह, उमाशंकर सिंह, कुमार हर्ष, कुमार अभिषेक, रामाशंकर सिंह, मनोज सिंह आदि थे।

निरसा में श्रीमद्भागवत कथा सुनते भक्त।

गाेविंदपुर में प्रवचन सुनतीं महिलाएं।

Nirsa News - mother39s first responsibility to give good values to children amrit prakash maharaj
X
Nirsa News - mother39s first responsibility to give good values to children amrit prakash maharaj
Nirsa News - mother39s first responsibility to give good values to children amrit prakash maharaj

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना