--Advertisement--

कंपनी का आरोप- विधायक की गुंडई के कारण 10 दिनों में 50 लाख का नुकसान, अब काम करना मुश्किल

असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट एसएस शेट्टी ने कहा कि रंगदारी और अन्य मांगों को लेकर 28 जून से आकाशकिनारी में कार्य ठप है।

Danik Bhaskar | Jul 09, 2018, 09:49 AM IST

धनबाद. ओरिएंटल कंपनी आकाशकिनारी और ब्लॉक टू में अपना प्रोजेक्ट बंद करने पर विचार कर रही है। रविवार को कंपनी के असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट एसएस शेट्टी ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि हालात नहीं सुधर रहे। विधायक ढुल्लू महतो की गुंडई के कारण 10 दिनों में 50 लाख का नुकसान हो चुका है। अब काम करना मुश्किल है। उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री रघुवर दास को पत्र भी लिखा है।

अब पीएमओ को पत्र लिखने की तैयारी

दरअसल, शनिवार को एसडीओ की मौजूदगी में विधायक समर्थक और ओरिएंटल कंपनी के बीच हुए समझौते का कोई असर प्रोजेक्ट में नहीं दिखा। वार्ता के अनुरूप उत्पादन शुरू करने में विफल होने पर ओरिएंटल कंपनी आकाशकिनारी और ब्लॉक टू में अपना प्रोजेक्ट बंद करने पर विचार कर रही है। एसएस शेट्टी ने कहा कि हालात सुधरते नहीं दिख रहे हैं। रंगदारी से कंपनी परेशान हो चुकी है। सहयोग के नाम पर शुरू हुई मांग को विधायक ढुल्लू महतो ने अपना अधिकार बना लिया है। जबरन कंपनी की गाडिय़ां ले जाना, कंपनी के डीजल को अपने निजी काम में इस्तेमाल करना... ये सबकुछ यहां आम हो गया है। अब कंपनी जल्द ही मामले को लेकर पीएमओ को पत्र लिखेगी। इसके बाद भी हालात नहीं सुधरे तो कंपनी प्रोजेक्ट पर पूरी तरह बंद करने पर विचार करेगी। प्रोजेक्ट बंद होने की सारी जवाबदेही विधायक ढुल्लू महतो की होगी।

वार्ता के बाद विधायक के भाई ने कहा था आल इज वेल
असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट एसएस शेट्टी ने कहा कि रंगदारी और अन्य मांगों को लेकर 28 जून से आकाशकिनारी में कार्य ठप है। इसकी जानकारी बीसीसीएल को दी गई थी। जिसके बाद एसडीओ के नेतृत्व में शनिवार को बैठक हुई। बैठक में विधायक ढुल्लू महतो के भाई शत्रुघ्न महतो और बीसीसीएल के प्रबंधक भी शामिल हुए थे। बैठक में सभी मुद्दों पर सहमति बनने के बाद एसडीओ ने काम शुरू करने का आदेश दिया था। विधायक के भाई ने बैठक के बाद कहा था कि अब कोई समस्या नहीं है। मगर विधायक के इशारे पर वहां काम शुरू करने में बाधा डाला जा रहा है। विधायक ढुल्लू महतो वार्ता के बिना काम शुरू नहीं होने देने की बात पर अड़े हुए हैं। ऐसे में कंपनी को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

सरकार से नाराजगी, कहा : गुंडागर्दी से राज्य में काम करना मुश्किल हुआ
असिस्टेंट प्रेसिडेंट एसएस शेट्टी ने कहा कि प्रोजेक्ट में लगातार 10 दिनों से काम बंद है। ऐसे में कंपनी को अब तक 50 लाख रुपए का नुकसान हो चुका है। उन्होंने कहा कि एक ओर राज्य सरकार मोमेंटम झारखंड की बात करती है, वहीं, झारखंड में पहले से जो कंपनियां हैं, उनपर राज्य सरकार का कोई ध्यान नहीं है। गुंडागर्दी की वजह से राज्य में काम करना मुश्किल हो गया है। बाघमारा में विधायक समर्थकों की मनमानी जगजाहिर है। आए दिन किसी न किसी बात को लेकर बवाल खड़ा किया जाता है।