विज्ञापन

पाकुड़ / पारा टीचर ने ही मारी थी प्रेमिका के पति को गोली, तीन गिरफ्तार

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 04:15 PM IST


पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार। पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार।
X
पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार।पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार।
  • comment

  • त्रिकोणीय प्रेम में हुई थी पारा टीचर की गोली मारकर हत्या
  • भागलपुर से 20 हजार में खरीदा था माउजर और 5 गोली

पाकुड़.  पारा शिक्षक महेश्वर की सोमवार को तीन गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने मामले का उद्भेदन करते हुए आरोपियों को को गिरफ्तार कर लिया। महेश्वर को पारा टीचर ने खुद गोली मारी थी। आरोपी का महेश्वर की पत्नी से अफेयर था। जब महेश्वर को यह बात पता चली तो उसने आरोपी दीपक भगत को ऐसा करने रोका। इस वजह से दीपक ने उसकी हत्या कर दी।

माना जा रहा पांच लोग शामिल थे हत्या में

  1. पुलिस के अनुसार, दीपक ने भागलपुर से 20 हजार में माउजर और 5 गोली खरीदा था। माना जा रहा है कि इस हत्याकांड में पांच लोग शामिल थे। मर्डर में शामिल 3 आरोपी दीपक भगत (पारा टीचर), मो मिनसार अंसारी (पूर्व में भी हत्या का आरोपी) और मो सद्दाम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

  2. क्या थी घटना

    महेशपुर के भिलाई बरमसिया स्कूल से पारा शिक्षक महेश्वर हेम्ब्रम अपने घर वापस लौट रहे थे। इसी क्रम में पहले से घात लगाए बैठे पारा शिक्षक दीपक भगत व उसके अन्य दो साथियों ने महेश्वर पर ताबड़तोड़ चार गोली चला दी, जिससे महेश्वर की मौके पर ही मौत हो गई थी। मौके से पुलिस को गोली के खोखे व अपराधी की एक बाइक मिली थी।

  3. मृतक की मां ने दिया था बयान

    तफ्तीश में पुलिस को त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग का मामला मिला। जिसके बाद पुलिस ने जांच में तेजी लाई। महेशपुर पुलिस ने मृतक की माता जगती सोरेन के लिखित बयान पर आरोपी पारा शिक्षक दीपक भगत के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद उसके दो साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

  4. स्कूल में शुरू हुई थी प्रेम कहानी

    पुलिस ने बताया कि महेश्वर हेम्ब्रम की शादी शिकारीपाड़ा की उर्मिला मुर्मू से वर्ष 2013 में हुई थी। इनके दो बच्चे भी हैं। महेश्वर महेशपुर में पारा शिक्षक थे। जबकि, उनकी पत्नी उर्मिला अमड़ापाड़ा स्थित कस्तूरबा गांधी अवासीय विद्यालय में शिक्षिका है। वर्ष 2017 में उर्मिला व अमड़ापाड़ा निवासी तथा तिलईपाड़ा संथाली स्कूल के पारा शिक्षक दीपक भगत एक दूसरे के संपर्क में आकर प्रेम करने लगे। महेश्वर को इसकी भनक लगी तो दीपक से काफी झगड़ा होने लगा। बाद में उर्मिला का तबादला महेशपुर स्थित कस्तूरबा गांधी विद्यालय में हो गया। बावजूद इसके दीपक व उर्मिला का प्यार कम न हुआ।

  5. महेश्वर की धमकी से डर कर दी हत्या

    दीपक दो बच्चों की मां उर्मिला मुर्मू से देवघर के बाबा मंदिर में गुपचुप तरीके से शादी भी कर ली थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार, आरोपी पारा शिक्षक ने अपने कबूलनामा में बताया है कि महेश्वर हमेशा उसे उर्मिला को छोड़ देेने नहीं तो जान से मारने की धमकी देता था। इससे भयभीत होकर उसने महेश्वर की ही हत्या कर देने की साजिश रची और सोमवार को दो सुपारी किलर के साथ उसकी हत्या कर दी।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन