सफलता / एक्सिस बैंक निरसा शाखा से डकैती कांड का खुलासा, चार अभियुक्त गिरफ्तार

प्रेसवार्ता के दौरान जानकारी देते एसएसपी व ग्रामीण एसपी। प्रेसवार्ता के दौरान जानकारी देते एसएसपी व ग्रामीण एसपी।
X
प्रेसवार्ता के दौरान जानकारी देते एसएसपी व ग्रामीण एसपी।प्रेसवार्ता के दौरान जानकारी देते एसएसपी व ग्रामीण एसपी।

  • एक अक्टूबर को 7 अपराधियाें ने दिया था घटना काे अंजाम, ग्राहकों से आठ मोबाइल भी लूटे थे

दैनिक भास्कर

Oct 09, 2019, 07:43 PM IST

धनबाद. एक्सिस बैंक की निरसा शाखा में एक अक्टूबर की दोपहर 16 लाख रुपए की डकैती के मामले में चार अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। धनबाद वरीय पुलिस अधीक्षक को मिली गुप्त सूचना के आधार पर ये कार्रवाई की गई। मंगलवार को प्रेसवार्ता कर एसएसपी किशोर कौशल ने बताया कि अपराधियों के पास से पिस्टल, देशी कट्टा, गोली, मोबाईल, डकैती की रकम तथा तीन मोटर साईकिल बरामद किया गया है। चारों अभियुक्तों को जेल भेज दिया गया है। साथ ही उनके सहयोगियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। 

 

सिटी एसपी के नेतृत्व में गठित की गई थी टीम
एक अक्टूबर को निरसा थाना के अंतर्गत एक्सिस बैंक निरसा शाखा में कुख्यात अंतरराज्यीय अपराधकर्मियों द्वारा 16 लाख 35 हजार 768 रुपए की डकैती की गई थी। इस संबंध में निरसा थाना में संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। मामले की जांच व खुलासे के लिए धनबाद के एसएसपी किशोर कौशल के निर्देश पर ग्रामीण एसपी अमन कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया था। एसएसपी को मिली गुप्त सूचना के आधार पर गठित टीम ने विभिन्न स्थानों पर छापामार कार्रवाई कर चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार अभियुक्तों ने कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली।

 

इन्हें किया गया गिरफ्तार
35 वर्षीय अप्पू सिंह, निवासी- नॉर्थ आसनसोल, पश्चिम बंगाल।
42 वर्षीय अखिलेश कुमार, निवासी- नॉर्थ आसनसोल, पश्चिम बंगाल।
36 वर्षीय जय सहनी, निवासी- सुल्तानगंज, बिहार।
40 वर्षीय ब्रिज कुमार यादव, निवासी- धनसार, धनबाद।

 

अभियुक्तों के पास से बरामद सामानों की सूची
एक पीस पिस्टल।
एक पीस देशी कट्टा।
चार पीस कारतूस।
तीन मोबाइल फोन।
एक लूटा गया मोबाइल।
लूट की रकम 3 लाख, 45 हजार, 450 रुपए।
कांड में प्रयुक्त तीन बाइक।


ग्राहक बनकर बैंक के अंदर पहुंचे थे अपराधी
अपराधी ग्राहक बन कर दोपहर 12: 55 बजे बैंक में घुसे थे। अंदर घुसते ही अपराधियाें ने कर्मियों को बंधक बनाकर बाथरूम में बंद दिया था, जबकि मौजूद ग्राहकों को हथियार की नोंक पर कब्जे में लेकर उनके मोबाइल छीन लिये थे। इसके बाद अपराधी कैशियर के दराज अाैर स्ट्रांग रूम में माैजूद रुपए को बैग में डाल कर अाराम से फरार हाे गए थे। भागने से पहले अपराधियों ने बैंक के मेनगेट पर दाे देसी बम रख दिए थे। उन्होंने बैंक में मौजूद लोगों को धमकी दी थी कि पांच मिनट बाद निकलना, वरना बम फट जाएंगे। डकैतों के जाने के पांच मिनट बाद बैंककर्मियाें ने सायरन बजाया। वहीं, शाखा प्रबंधक बीएन काैंडिल्य ने निरसा पुलिस काे सूचना दी थी। सूचना मिलने के बाद एसएसपी किशाेर काैशल, ग्रामीण एसपी अमन कुमार, निरसा एसडीपीअाे विजय कुशवाहा अाैर निरसा थाना प्रभारी बैंक पहुंचे थे। पुलिस अधिकारियाें ने बैंक कर्मियाें अाैर ग्राहकाें से पूछताछ की थी। अपराधी सीसीटीवी का डीवीआर अपने साथ ले गए, परंतु बैंक की मुख्य शाखा के सर्वर में अपराधियों के फुटेज मिल गए थे। उसी फुटेज के आधार पर डकैतों की तलाश की जा रही थी। 

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना