• Hindi News
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • Dhanbad News the sun is going to be full of life for not being able to save the child and maternal uncle from drowning told

छाेटे भाई अाैर मामा काे डूबने से न बचा पाने का सूरज काे जीवन भर रहेगा मलाल, बताया

Dhanbad News - भास्कर न्यूज | धनबाद/चिरकुंड़ा महावीर नगर के सूरज कुमार की अांखाें के सामने उनके छाेटे भाई राजू कुमार अाैर मामा...

Nov 13, 2019, 06:41 AM IST
Dhanbad News - the sun is going to be full of life for not being able to save the child and maternal uncle from drowning told
भास्कर न्यूज | धनबाद/चिरकुंड़ा

महावीर नगर के सूरज कुमार की अांखाें के सामने उनके छाेटे भाई राजू कुमार अाैर मामा राजू कुमार दास बराकर नदी में डूब गए। उन्हाेंने दाेनाें काे बचाने की भरपूर काेशिश की, लेकिन फिर हार गए। इसका उन्हें जीवन भर मलाल रहेगा। सूरज उन दाेनाें अाैर मां ज्ञानती देवी, मामी, नानी अादि के साथ कार्तिक पूर्णिमा के माैके पर बराकर नदी में स्नान करने गए थे। उन्हाेंने पूरे वाकये के बारे में बताया- हम घाट पर पहुंचे, ताे छाेटा भाई राजू रेल पुल के नीचे स्नान करने चला गया। इसी दाैरान वह डूबने लगा। मामा ने देखा, ताे राजू काे बचाने के लिए बढ़े, पर वे भी डूबने लगे। छाेटे भाई अाैर मामा काे संकट में देखकर मैं भी पानी में कूद गया अाैर तैरते हुए उनके पास पहुंच गया। दाेनाें काे पकड़कर किनारे की अाेर बढ़ना शुरू किया। मैं अागे था अाैर दाेनाें पीछे थे। किनारे के करीब अा चुका था, लेकिन सांसें फूलने लगी थीं। इसी बीच मामा अाैर छाेटे भाई छूट गए। पीछे मुड़कर देखा, ताे दाेनाें फिर से डूबने लगे थे। मैंने उनकी तरफ बढ़ने की काेशिश की, लेकिन सांसें जवाब दे गईं। चिल्लाने की काेशिश की, लेकिन सांसें एेसे उखड़ गईं कि मुंह से अावाज ही नहीं निकली। किनारे पर मां, मामी अाैर उनके दाेनाें बच्चे खड़े-खड़े चीखते रहे, लेकिन... सब बेकार साबित हुअा। हमारी अांखाें के सामने दाेनाें डूब गए।

सांसें फूल रही थीं, दाेनाें काे खींचते हुए किनारे के करीब पहुंचे, पर हाथ छूटा अाैर वे देखते-देखते पानी में समा गए

किनारे पर मां, मामी अाैर उनके बच्चे चिल्लाते रहे, पर सब बेकार साबित हुअा

नदी किनारे जुटी भीड़ और राजू दास के बिलखते परिजन।

दाेनाें के घराें पर सांत्वना देने वालाें की भीड़ : राजू अाैर राजू दास के डूबने की जानकारी मिलने पर महावीर नगर अाैर प्राेफेसर काॅलाेनी स्थित उनके घराें पर कई लाेग पहुंचे। महावीर नगर में राजू के घर पर ताला लगा था। प्राेफेसर काॅलाेनी में भी राजू दास के परिजनाें के चिरकुंडा से लाैटने के बाद माहाैल मातमी हाे गया। लाेग परिजनाें काे संत्वाना देते रहे।

गाेताखाेराें ने एक की जान बचाई

नदी के पश्चिम बंगाल वाले किनारे पर मौजूद रेस्क्यू टीम ने मामा-भांजे के डूब जाने से पहले एक अन्य व्यक्ति की जान बचाई थी। वह स्नान करने के दाैरान गहरे पानी में डूबने लगा था। घाट पर तैनात गोताखोराें अाैर रेस्क्यू टीम ने समय रहते उसे निकाल लिया।

तीन भाइयाें अाैर दाे बहनाें में राजू सबसे छाेटा

राजू महावीर नगर के प्रदीम राम का सबसे छाेटा बेटा है, दाे भाइयाें अाैर दाे बहनाें का दुलारा। वह केंद्रीय विद्यालय में पांचवीं कक्षा में पढ़ता है। प्रदीप की बरमसिया रेल पुल के पास कबाड़ी गाेदाम है। वहीं, राजू अाैर सूरज के मामा राजू कुमार दास उर्फ चंदन प्राेफेसर काॅलाेनी की धाेबिया माेहल्ला में रहते हैं। वे भी तीन भाइयाें में सबसे छाेटे हैं। उनके पिता बाढ़ाे दास की माैत हाे चुकी है। राजू दास हाउसिंग काॅलाेनी में स्थित मानस इंटरनेशनल स्कूल में वैन चलाते हैं। उनके 8 अाैर 10 साल के दाे बच्चे हैं।

Dhanbad News - the sun is going to be full of life for not being able to save the child and maternal uncle from drowning told
X
Dhanbad News - the sun is going to be full of life for not being able to save the child and maternal uncle from drowning told
Dhanbad News - the sun is going to be full of life for not being able to save the child and maternal uncle from drowning told
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना