• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • Dhanbad News There Is A Halt For The Buses Despite The Complaint From The Road Workers Of The Workers Chak From The Worship Tackies The 5 Buses Standing There

बसाें का पड़ाव बनी है पूजा टाॅकीज से श्रमिक चाैक की सड़क डीएसपी से शिकायत के बावजूद दिनभर वहीं खड़ी रहीं 5 बसें

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जाम... जाम... अाैर जाम। पूजा टाॅकीज से लेकर श्रमिक चाैक अाैर गया पुल तक जाम। हर दिन जाम, हर शाम जाम। वह भी तब, जब इस सड़क पर ट्रैफिक दुरुस्त रखने अाैर जाम राेकने के लिए राेजाना 7-8 पुलिसकर्मियाें काे तैनात किया जाता है। असल में, श्रमिक चाैक की अाेर जानेवाली लेन पर जगह-जगह बसें, जीप अाैर अन्य वाहन खड़े रहते हैं। पुलिसवाले देखकर भी उन्हें नहीं हटाते। यही वजह है कि राेजाना इस सड़क पर जाम लगा रहता है, खासकर दिन में साढ़े नाै बजे 11 बजे तक शाम में पांच बजे से सात बजे तक। शनिवार काे भी दिन अाैर शाम, दाेनाें वक्त पूजा टाॅकीज से लेकर गया पुल जानेवाली लेन जाम रही अाैर पुलिसवाले श्रमिक चाैक पर अपने अापकाे व्यस्त दिखाते रहे। इस दाैरान पांच बसें अाैर अन्य छाेटी गाड़ियां जगह-जगह खड़ी रहीं। वहीं, ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त रही। सैकड़ाें वाहन जाम में फंसे रहे अाैर चींटियाें की तरह सरकते रहे। ट्रैफिक डीएसपी दिनेश कुमार गुप्ता से जाम अाैर गाड़ियाें के खड़े हाेने की शिकायत की गई, इसके बावजूद बसें वहां से नहीं हटाई गईं। पूछने पर डीएसपी ने बेपरवाही से कहा कि गाड़ियाें पर जुर्माना लगाकर उन्हें हटाने का निर्देश जवानाें काे दिया था। इसका पालन नहीं हुअा, ताे जांच कर कार्रवाई करेंगे।

पूजा टाॅकीज से रांगाटाड़ वाली लेन में फंसे वाहन और (लाल घेरे में) सड़क किनारे खड़ी बस।

सड़क पर ही बस को रोककर उठाई जा रही सवारी।

वर्दी वाले ट्रैफिक दुरुस्त करने के बजाय वसूली में मस्त।

स्टैंड बनाने में पुलिस वालों की शह, गाड़ी संचालक करते हैं खुश

सड़क पर जाे बसें अाैर दूसरी गाड़ियां खड़ी रहती हैं, वे गिरिडीह की अाेर जानेवाली हाेती हैं। वहीं पर सवारियाें काे चढ़ाया अाैर उतारा जाता है। एक तरह से यह इलाका गिरिडीह की अाेर जानेवाली गाड़ियाें का स्टैंड बन गया है। ट्रैफिक पुलिस वालाें काे इसकी पूरी खबर है। बल्कि, यह कहना ज्यादा सही हाेगा कि इस अवैध व्यवस्था में उनकी भी पूरी भागीदारी है। बदले में गाड़ियाें के संचालक उन्हें खुश करते हैं, इतना कि वे अपने अफसराें के अादेश के बावजूद उन्हें सड़क से नहीं हटाते।

चाैक पर ही रहते हैं जवान, सड़क पर ट्रैफिक कंट्रोल में ध्यान नहीं

श्रमिक चाैक पर वाहनाें के दबाव काे देखते हुए जमादार सहित छह से अधिक ट्रैफिक जवानाें की तैनाती वहां की गई है। इनका पूरा ध्यान गया पुल पर रहता है, क्याेंकि सबसे ज्यादा जाम वहीं लगता है। पूजा टाॅकीज से लेकर श्रमिक चाैक में जाम न लगे, यह देखना भी इन्हीं जवानाें का काम है, लेकिन इस मामले में ये पूरी तरह लापरवाह बने रहते हैं।

  दिनेश गुप्ता, ट्रैिफक डीएसपी

जांच करेंगे कि बसें क्याें नहीं हटीं, कार्रवाई होगी

सवाल : पूजा टाॅकीज से लेकर श्रमिक चाैक तक जगह-जगह किसके अादेश से बसें खड़ी हाे रही हैं?

जवाब : किसी ने अादेश नहीं दिया है। यह अवैध पार्किंग है।

सवाल : ताे अापने इस पर क्या कार्रवाई की है?

जवाब : जुर्माना वसूलने अाैर बसाें काे वहां से हटाने का अादेश जवानाें काे दिया है।

सवाल : लेकिन, इसके बाद भी बसें वहीं क्याें खड़ी रहीं?

जवाब : अादेश का पालन क्याें नहीं हुअा, इसकी जांच करेंगे। जाे दाेषी मिलेगा, उस पर कार्रवाई करेंगे।

खबरें और भी हैं...