बाइक सवार दो चचेरे भाइयों की सड़क हादसे में मौत, एक घायल

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रोते बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
रोते बिलखते परिजन।
  • परिजनों ने 108 एंबुलेंस चालक पर लगाया लापरवाही का आरोप

गिरिडीह. खोरीमहुआ-जमुआ मुख्य मार्ग पर तेज रफ्तार का कहर एक बार पुनः रविवार की रात को देखने को मिला, जहां धनवार थाना क्षेत्र के चादगर गांव में अज्ञात वाहन ने बाइक सवार को टक्कर मार दी। इस हादसे में सवार तीन युवकों में दो की मौत हो गई। जबकि एक गंभीर रूप से घायल है। घायल का इलाज गिरिडीह में चल रहा है। 
 

बाइक को पीछे से मारी टक्कर
हीरोडीह निवासी सुखदेव राणा का पुत्र पंकज राणा (33), चचेरा भाई मंटू राणा (22), पिता केदार राणा तथा पड़ोसी साथी विक्की चक्रम (24), पिता लखन पंडित अपने रिश्तेदार के घर से सूर्याही पर्व में शामिल होकर वापस घर लौट रहे थे कि अचानक धनवार तथा हीरोडीह थाना क्षेत्र के सीमा स्थित चादगर में अज्ञात वाहन ने पीछे से ठोकर मार दिया। वाहन के धक्के से बाइक सवार तीनों युवकों में पंकज राणा तथा मंटू राणा की मौत इलाज के लिए ले जाते हुए रास्ते में ही हो गई, जबकि विक्की चक्रम का गिरिडीह स्थित नवजीवन नर्सिंग होम में इलाज चल रहा है, जहां स्थिति नाजुक बतायी जा रही है। 
 

108 वाहन चालक पर लगाया लापरवाही का आरोप
वहीं मृतक के परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे 108 वाहन के चालक की लापरवाही तथा घटनास्थल से महज पांच किलोमीटर दूर धनवार स्थित रेफरल अस्पताल या फिर जमुआ रेफरल अस्पताल ले जाने के बजाए कई किलोमीटर घूमाते हुए बिरनी होते हुए लगभग चार घंटे बाद गिरिडीह अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। जबकि एक का इलाज किया जा रहा है। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने एम्बुलेंस चालक के खिलाफ सड़क जाम करने का भी प्रयास किया पर कुछ लोगों के समझाने-बुझाने पर लोग शांत हुए। पंकज राणा हैदराबाद में मजदूरी का काम करता था और पिछले दो दिन पूर्व सूर्याही पर्व में भाग लेने आया था। पत्नी सहित दो पुत्री व एक पुत्र को पीछे छोड़ गया। वहीं मंटू राणा, केदार राणा का इकलौता पुत्र था।
 


 

खबरें और भी हैं...