जामताड़ा / सोनारडीह में युवक पर चढ़ा क्रेन का पहिया, मौके पर मौत; नाराज लोगों ने की तोड़फोड़ और आगजनी

घटना बुधवार शाम की है। गुस्साए लोगों ने सड़क पर हाइवा जला दिया। घटना बुधवार शाम की है। गुस्साए लोगों ने सड़क पर हाइवा जला दिया।
दारा बाउरी की फाइल फोटो। दारा बाउरी की फाइल फोटो।
X
घटना बुधवार शाम की है। गुस्साए लोगों ने सड़क पर हाइवा जला दिया।घटना बुधवार शाम की है। गुस्साए लोगों ने सड़क पर हाइवा जला दिया।
दारा बाउरी की फाइल फोटो।दारा बाउरी की फाइल फोटो।

  • तीन हाइवा में लगाई आग, देर रात तक सड़क जाम, आज वार्ता
  • पुलिस के सामने ही तोड़फोड़ और आगजनी करते रहे लोग
  • एक वर्ष पूर्व पिता की हुई थी मौत, बदले में मिलनी थी नौकरी

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2020, 06:31 AM IST

कतरस/सोनारडीह. सोनारडीह ओपी क्षेत्र के नीमतल्ला के समीप बुधवार की शाम सवा छह बजे क्रेन की चपेट में आने से 30 साल के युवक दारा बाउरी की मौके पर ही मौत हाे गई। सोनारडीह हनुमान नगर में में रहने वाले दारा क्रिकेट खेलने के बाद बाइक से अपने मित्र को कतरास से छोड़कर वापस लौट रहा था। इस दौरान नीमतल्ला मैदान के समीप वह फिसल कर गिर पड़ा। विपरीत दिशा से आ रही क्रेन का अगला पहिया उसके सिर पर चढ़ गया।

हादसे के बाद लोग आक्रोशित हो उठे। मौके पर मौजूद वाहनों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। तीन हाइवा में आग लगा दी। दुकानदारों ने धड़ाधड़ दुकानें बंद कर दीं। सूचना पाकर सोनारडीह समेत आसपास के थानों की पुलिस के साथ डीएसपी नितिन खंडेलवाल पहुंच लोगों को समझाने का प्रयास किया, पर लोग नहीं माने। मुआवजा व मृतक के आश्रित को नौकरी देने की मांग को लेकर देर रात तक महुदा-कतरास-राजगंज मुख्य सड़क को जाम रखा। बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो भी पहुंचे। बताया जाता है कि क्रेन फोरलैन सड़क निर्माण का काम में काम करने वाली कंपनी अशोका बिल्डकॉन में चलती है। रात 12.30 बजे विधायक ढुल्लू के आश्वासन के बाद लोगों ने जाम हटाया। मुआवजा व नियोजन पर गुरुवार को वार्ता होगी।

ऊबड़-खाबड़ सड़क पर फिसलन बनी दुर्घटना का कारण

जिस रोड पर हादसा हुआ, उसमें प्रतिदिन सैकड़ों काेयला से लदे हाइवा चलते हैं, जिससे कोयले की डस्ट गिरती रहती है। प्रबंधन द्वारा जलछिड़काव के कारण डस्ट सड़क पर जम गई है। ऊबड़-खाबड़ के साथ सड़क पर फिसलन भी है। इस कारण हादसा हुआ।

पुलिस के सामने ही आगजनी और तोड़फोड़

क्रेन का चालक भागने की कोशिश में हत्थे चढ़ गया। शव की स्थिति देखकर ही लोग गुस्से में आकर तोड़फोड़ और आगजनी शुरू कर दी। इस दौरान मौके पर मौजूद पुलिस कुछ नहीं कर पाई। लोगों ने एक दर्जन से भी अधिक वाहनों के शीशे तोड़ डाले। तीन हाइवा में आग लगाई, पर पुलिस मूकदर्शक बनी रही। अंधेरा होने के कारण भी पुलिस को थोड़ी परेशानी हो रही थी।

एक साल पहले पिता की हुई थी मौत

दारा बाउरी के पिता मंगल बाउरी गोविंदपुर एरिया के ब्लॉक फोर में ड्रील ऑपरेटर के पद पर कार्यरत थे। सात जनवरी 2019 को वे पास की ही जोरिया में नहाने के दौरान फिसल गए थे, जिससे वे गंभीर रूप से जख्मी हुए थे और फिर बाद में उनकी मौत हो गई थी। पिता के बदले पुत्र दारा को बीसीसीएल में शीघ्र नौकरी मिलने वाली थी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना