--Advertisement--

गिरिडीह: हाथियों के झुंड ने चार घरों में की तोड़फोड़, एक को मार चुके हैं कुचलकर

सोमवार देर रात जरमुने पंचायत में हाथियों ने जमकर उत्पात मचाया।

Danik Bhaskar | Jul 10, 2018, 11:09 AM IST

गिरिडीह. बगोदर थाना क्षेत्र के कई गांवों में पिछले चार दिनों से 18-20 हाथियों के झुंड ने उत्पात मचाया रखा है। सोमवार रात को अडवारा पंचायत के लुकुइयां गांव में घुसे हाथियों के झुंड ने चार घरों में तोड़फोड़ की। रविवार को देवराडीह पंचायत के धवैया गांव में हाथियों के झुंड ने 50 वर्षीय कार्तिक महतो को कुचल दिया था, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। हाथियों के झुंड को लेकर वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही पश्चिम बंगाल से एक्सपर्ट की टीम को बुलाया जाएगा, जो इन हाथियों के झुंड को जंगल की ओर खदेड़ेंगे।

चार घरों की चाहरदीवारी को तोड़ा
सोमवार देर रात जरमुने पंचायत में हाथियों ने जमकर उत्पात मचाया। मंझिलाडीह तथा माहुरी समेत आसपास के कई गांव के घरों और बाउंड्रीवाल को हाथियों ने तोड़ दिया। खेतों में लगे मकई की फसल को नुकसान पहुंचाया। बताया जाता है कि रविवार की रात ही देवरडीह के जंगलों से हाथियों का झुंड बगोदर पहुंचा। चार-पांच घरों के बाउंड्री वॉल हाथियों ने तोड़ डाले। हालांकि घटना की सूचना पाकर बगोदर पुलिस समेत कई लाेग अंधेरे में ही हाथियों को दूर तक खदेड़ने की मुहिम में जुट गए थे। लेकिन तब तक कई लोगों को नुकसान पहुंचाया जा चुका था। बताया जाता है कि झुंड में करीब 20 हाथी हैं। सभी एक साथ पूरे इलाके में तबाही मचा रहे हैं। वन विभाग से हाथियों को नियंत्रित करने की लगातार मांग की जा रही है। एक इलाके से खदेड़ने के बाद झुंड दूसरे इलाके में घुस जा रहे हैं।

हाथियों के झुंड को भगा रहे ग्रामीण की कुचलकर हुई थी मौत
बगोदर प्रखंड अंतर्गत देवराडीह पंचायत के धवैया गांव में रविवार अहले सुबह झुंड से भटके हाथियों ने 50 वर्षीय कार्तिक महतो को कुचल कर मार डाला। गांव के ही 3 लोगों के घरों को क्षतिग्रस्त कर अनाज खा गए। कार्तिक महतो कोलकाता हावड़ा में मजदूरी करता था। दो दिन पहले ही वह अचानक घर आया था। जेल में बंद अपने किसी साथी से मिलना था। लिहाजा घरवालों को बगैर सूचित किए अचानक घर पहुंचा, फिर अगले दो दिन बाद उसे कोलकाता लौटना था।