Hindi News »Jharkhand »Dhanbad» Woman Injured By Beating Her Husband In Dhanbad

धनबाद: पहले शराब पी, फिर पत्नी से कहा कि दोस्त के साथ संबंध बनाओ, इंकार किया तो पीटा

हक्के-बक्के पुलिसकर्मियों ने तुरंत उसे कपड़े ओढ़ाए और अस्पताल पहुंचाया

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 11, 2018, 09:51 AM IST

धनबाद: पहले शराब पी, फिर पत्नी से कहा कि दोस्त के साथ संबंध बनाओ, इंकार किया तो पीटा

धनबाद.बरवाअड्डा थाना क्षेत्र के ज्ञान विहार काॅलोनी में एक शख्स ने अपनी बर्बरता से बर्बरता की हद कर दी। उसने पहले तो पत्नी पर अपने दोस्त के साथ शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाया और नहीं मानने पर उसे बेरहमी से मारा-पीटा। इतने से मन नहीं भरा, तो उसे उसके प्राइवेट पार्ट में बेलन डालकर बुरी तरह जख्मी कर दिया। बेहद गंभीर हालत में महिला को इलाज के लिए पीएमसीएच में भर्ती कराया गया। वहां उसकी स्थिति नाजुक बनी हुई है। पति के खिलाफ बरवाअड्डा थाने में एफआईआर दर्ज की गई है।

महिला ने पुलिस को बताया कि गुरुवार की देर रात उसका पति नशे में घर आया। अपने साथ दोस्त सोनू नाम के दोस्त को लेकर आया था। घर में भी दोनों ने साथ बैठकर घंटों शराब पी। इस दौरान उसकी पत्नी और बच्चे सो गए। पति ने तड़के करीब तीन बजे पत्नी को जगाया और अपने दोस्त के साथ संबंध बनाने के लिए कहने लगा। पत्नी हक्का-बक्का रह गई। उसने साफ मना कर दिया। इस पर पति उसे पीटने लगा। बच्चे जाग गए, तो उन्हें भी पीट डाला। फिर बच्चों के सामने ही पत्नी के सारे कपड़े उतार दिए। बेलन से पीटने लगा और प्राइवेट पार्ट में बेलन डालकर लहूलुहान कर दिया। बच्चे रोने-चिल्लाने लगे, तो पति उन्हें लेकर दूसरे कमरे में गया। इसी बीच महिला वहां से जान बचाकर भाग निकली। वह नग्न हालत में ही करीब एक किमी दौड़ती हुई बरवाअड्डा थाने पहुंची। हक्के-बक्के पुलिसकर्मियों ने तुरंत उसे कपड़े ओढ़ाए और अस्पताल पहुंचाया।


शादी के बाद से ही करने लगा था प्रताड़ित
पुलिस से खबर मिलने पर पीड़िता की मां भी पीएमसीएच पहुंची। वहां उन्होंने बताया कि बेटी की शादी साल 2009 में अशोक पांडेय के साथ की थी। शादी के बाद से ही वह उसे प्रताड़ित करने लगा था। एक बार मसाला पीसने वाले पत्थर से भी मारकर जख्मी कर दिया था। तब बेटी मायके चली आई थी, लेकिन वह मिन्नतें कर फिर उसे साथ ले गया था। महिला थाने में बांड भरकर पत्नी को अच्छे से रखने का वादा किया था। इस बार तो उसने हैवानियत कर दी। पुलिस को उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।


पति की गिरफ्तारी के लिए कई जगहों पर छापेमारी
महिला की अापबीती सुनकर पुलिस पति को पकड़ने उसके घर गई। लेकिन, तब तक वह दो बच्चों को लेकर दोस्त के साथ वहां से भाग चुका था। भागकर वह पहले धैया स्थित अपनी ससुराल गया। वहां कहा कि पत्नी घर से भाग गई है। फिर वह पुरूलिया गया। बच्चों को वहीं छोड़ दिया और वहां से भी भाग गया।


पुलिस का संवेदनशील चेहरा- जब पीड़िता की हालत बिगड़ी तो थानेदार ने किया रक्तदान
एक तरफ महिला ने पति की हैवानियत देखी, तो दूसरी तरफ पुलिस का मानवीय चेहरा भी सामने आया। महिला की जान बचाने के लिए थानेदार दिनेश कुमार और एक जवान दिनेश कुमार ने अपना खून भी दिया। थानेदार दिनेश कुमार ने बताया कि तड़के चार बजे एक महिला की चीखें सुनाई पड़ी। थानेदार और दूसरे जवान दौड़कर थाने से बाहर अाए। देखा कि एक महिला नग्न हालत में खून से लथपथ जान बचाने की गुहार लगा रही है। जवान भागकर गमछा अाैर कुछ कपड़े आए। किसी तरह महिला का बदन ढंका, तो तुरंत गाड़ी से उसे लेकर पीएमसीएच पहुंचे। डॉक्टर से तुरंत उसका इलाज शुरू करने को कहा। डॉक्टर ने कहा कि काफी खून बह चुका है। ऑपरेशन करना पड़ेगा। खून की जरूरत पड़ेगी। जांच के बाद पता चला कि महिला का ब्लड ग्रुप बी पॉजीटिव था, लेकिन अस्पताल के ब्लड बैंक में इस ग्रुप का खून था ही नहीं। थानेदार ने कहा कि उनका ब्लड ग्रुप बी पॉजीटिव है, उनका खून ले लें। जवान दिनेश राम भी ब्लड देने को तैयार हो गया। दोनों ने एक-एक यूनिट ब्लड दिया, उसके बाद महिला का अॉपरेशन किया गया।


तीन घंटे तक चला आपरेशन

चिकित्सक डॉ सीमा साहू की टीम ने महिला का ऑपरेशन किया। उन्होंने बताया कि अंदरूनी हिस्सा काफी क्षतिग्रस्त हो गया था। जान बचने की संभावना कम थी। करीब तीन घंटे की मशक्कत से आपरेशन किया गया। इस दौरान थानेदार और जवान वहीं रुके रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Dhanbad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×