--Advertisement--

पकड़े गए तीन युवकों को थाने से दिया बेल

ग्रामीणों द्वारा देशी कट्टा के साथ पकड़ पुलिस को सौंपे गए तीनों युवकों को देर रात ढिबरा मजदूरों के दबाव में पुलिस...

Danik Bhaskar | Jan 29, 2018, 02:15 AM IST
ग्रामीणों द्वारा देशी कट्टा के साथ पकड़ पुलिस को सौंपे गए तीनों युवकों को देर रात ढिबरा मजदूरों के दबाव में पुलिस ने छोड़ दिया। वहीं मामले में चौधरीडीह निवासी अनुज यादव के आवेदन पर पकड़ गए बाराटांड निवासी मनोवर अंसारी, जमाल अंसारी व चटकरी निवासी रामावतार साव लोगों के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

उल्लेखनीय हो की चौधरीडीह स्कूल के समीप शनिवार को एक देशी कट्टा, दो खोखे व एक जिंदा कारतूस के साथ धराए तीन आरोपी को ग्रामीणों ने सपही पिकेट को सौंप दिया था। जहां से डोमचांच थाना पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए थाना ले आई थी।

बाद में सैकड़ों की संख्या में ढिबरा मजदूरों ने गिरफ्तार किए गए लोगों को छोड़ने को लेकर डोमचांच थाने में आकर धरने पर बैठ गई। जहां एएसपी अजय पाल के द्वारा निष्पक्ष जांच के आश्वासन पर धरने पर बैठे लोग थाने से बाहर निकल गए। जबकि मजदूरों ने गिरफ्तार लोगों के साथ ले जाने के जिद पर थाने के बाहर कड़ाके ठंड में देर रात बैठे रहे, जिसके दबाव में आकर पुलिस ने देर रात 10 बजे जमानत देकर छोड़ दिया।

इस संबंध में एसडीपीओ अनिल शंकर ने बताया कि मामला फर्जी होने के कारण आरोपियों को देर रात जमानत दे दी गई। सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार यह मामला बिहार के रजौली थाना क्षेत्र के शारदा माइंस में अवैध उत्खनन को लेकर आपसी वर्चस्व का बताया जा रहा है। जानकारी अनुसार शारदा माइंस से प्रतिदिन लाखों रुपए का ढिबरा अवैध उत्खनन हो रहा है।