• Hindi News
  • Jharkhand
  • Dulmi
  • ताजा सब्जियों का नया बाजार बना कुल्ही चौक, रोज लाखों का कारोबार
--Advertisement--

ताजा सब्जियों का नया बाजार बना कुल्ही चौक, रोज लाखों का कारोबार

अंजनी जायसवाल| दुलमी ताजी और हरी सब्जियों का नया बाजार बना है गोला-चारु पथ पर स्थित कुल्ही चौक। यहां आसपास के...

Dainik Bhaskar

Jul 02, 2018, 02:20 AM IST
ताजा सब्जियों का नया बाजार बना कुल्ही चौक, रोज लाखों का कारोबार
अंजनी जायसवाल| दुलमी

ताजी और हरी सब्जियों का नया बाजार बना है गोला-चारु पथ पर स्थित कुल्ही चौक। यहां आसपास के गांव की दर्जनों महिलाएं रोजाना सुबह आठ बजे से शाम सात बजे तक टोकरियों में ताजी और हरी सब्जियां लेकर सड़क के किनारे बैठ जाती हैं। रांची और बोकारो की ओर आने वाले सैकड़ों लोग यहां रोजाना रुककर सब्जियों की खरीदारी करते है। जिससे यह चौक अब डेली मार्केट के रूप में विकसित होता जा रहा है। यहां दुलमी प्रखंड क्षेत्र के कुल्ही, बयांग, बोगई, माथागोड़ा, प्रियातु, सीरु, दुलमी, गंधौनियां सहित आसपास के गांव की महिलाएं रोज सब्जियां लेकर बिक्री के लिए पहुंचती हैं।

सिकिदरी से होकर रांची और बोकारो जाने वाले लोग नहीं भूलते यहा रुककर सब्जियां खरीदना

गोला-चारु पथ के किनारे कुल्ही चौक में सब्जियों की बिक्री करती महिलाएं।

रोज होती है 80 हजार से 1 लाख की बिक्री : कुल्ही चौक में लगने वाले बाजार में रोजाना लगभग 80 हजार से से एक लाख रुपए तक का सब्जी बिक्री का व्यापार किया जाता है। एक अनुमान के अनुसार, सड़क के किनारे लगभग 30 से 35 छोटी-छोटी टोकरियों में सब्जी लेकर ग्रामीण महिलाएं दो से ढाई हजार रुपए की बिक्री कर लेती हैं। जिससे जहां महिला किसान काफी खुश हैं। उनका कहना है कि पहले खेतों से सब्जियां तोड़कर गोला या चितरपुर बाजार व गांवों में घूम-घूमकर सब्जियों की बिक्री करनी पड़ती थी। लेकिन जब से कुल्ही सड़क किनारे टोकरी लेकर बिक्री कर रही हैं, सब्जियां भी बिक जाती हैं और पैसे भी ठीक ठाक मिल जाते हैं।

चौक पर दुर्घटना होने की बनी रहती है संभावना

चूंकि महिलाएं अपनी सब्जियों को बेचने के लिए गोला-चारु पथ मार्ग के किनारे बैठती है इस वजह से यहां हमेशा दुर्घटना होने की आंशका बनी रहती है। उनका कहना है कि अगर सरकार द्वारा डेली मार्केट का निर्माण कर दिया जाय तो ग्रामीण महिला किसानों को काफी सुविधा मिल सकेगी। साथ ही दुर्घटना होने की आंशका भी दूर हो जाएगी।

यहां की सब्जियां एकदम ताजा होती हैं : पुष्पांजलि

कुल्ही चौक के किसान दुकानदार अझनु महतो कहते है कि अगर यहां डेली मार्केट का निर्माण कर दिया जाता तो आसपास के किसान वर्ग के लोगों को अपनी फसलों को बेचने के लिए कही भटकना नहीं पड़ता। बल्कि मार्केट में आकर सब्जियों की बिक्री हो जाती। वही बोकारो से रांची जा रही एक ग्राहक पुष्पाजंलि कहती है कि यहांं मिलने वाली सब्जियां एकदम ताजी रहती हैं। साथ ही साथ दाम भी कम होता है। जिसके कारण जब भी मैं इधर से गुजरती हूं कभी भी यहां से सब्जी लेना नहीं भूलती हू।

X
ताजा सब्जियों का नया बाजार बना कुल्ही चौक, रोज लाखों का कारोबार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..