• Home
  • Jharkhand News
  • Dulmi
  • नशामुक्त प्रखंड बनाने में सहयोग करें महिलाएं
--Advertisement--

नशामुक्त प्रखंड बनाने में सहयोग करें महिलाएं

जेएसएलपीएस के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को एकजुट कर महिला ग्राम संगठन का गठन कर उनके विकास के लिए कार्य...

Danik Bhaskar | Jul 01, 2018, 02:30 AM IST
जेएसएलपीएस के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को एकजुट कर महिला ग्राम संगठन का गठन कर उनके विकास के लिए कार्य किया जा रहा है। जिससे ग्रामीण महिलाएं समाज के विकास में भागीदार बन ही रही हैं। जहां महिलाओं ने दुलमी प्रखंड को खुले से शौच मुक्त बनाने में अहम योगदान दिया।

उसी प्रकार सभी दुलमी प्रखंड की महिलाओं को प्रखंड को नशामुक्त बनाने के लिए आगे आने की जरूरत है। इसके लिए महिलाओं को आगे आकर नशामुक्ति अभियान चलाने की जरूरत है। जिससे हमारा प्रखंड पूरे राज्य में पहला नशामुक्त प्रखंड बन सके। ये बातें रामगढ़ जिला परिषद अध्यक्ष ब्रह्मदेव महतो ने कही। वह शनिवार को पंचायत सचिवालय उसरा में जेएसएलपीएस के तहत आयोजित आजीविका महिला संकुल संगठन नौ दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण के समापन सभा को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व सभा के दौरान महिलाओं को संगठन चलाने के लिए आंध्रा से पहुंची ट्रैनर उमा देवी व यशोदा देवी द्वारा प्रशिक्षण में दी गई जानकारी के बारे में बताया गया। कार्यक्रम का संचालन बबीता देवी ने किया। कार्यक्रम को जिप अध्यक्ष सहित प्रमुख सुरेंद्र करमाली, मुखिया शैलेश चौधरी, देवंती देवी, आजसू प्रखंड अध्यक्ष बलराम महतो, सचिव संतोष महतो ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का समापन एफटीसी अनिता महतो ने किया। मौके पर जेएसएलपीएस के डीएम गौरव कुमार, वाईपी विनय कुमार सहित संतोष महतो, छात्र नेता अनिल कुमार इग्नेश, रमन पटेल कई मौजूद थे।

क्लस्टर अध्यक्ष बनी राखी

कार्यक्रम के दौरान जिप अध्यक्ष की मौजूदगी में महिला क्लस्टर का गठन किया गया। इसमें अध्यक्ष राखी देवी,सचिव उर्मिला देवी व कोषाध्यक्ष यशोदा देवी को बनाया गया। वहीं क्लस्टर गठन के बाद पंचायत सचिवालय में ही क्लस्टर कार्यालय खोला गया। इसका उद्घाटन जिप अध्यक्ष सहित अन्य अतिथि ने विधिवत पूजा अर्चना व फीता काटकर किया।

उसरा में हुआ आजीविका महिला संकुल के संगठन का नौ दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का समापन

कार्यक्रम के दौरान मौजूद जिप अध्यक्ष, मुखिया व अन्य।