किसी के बहकावे में आकर गलत कार्य नहीं करें ग्रामीण

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मॉब लीचिंग के विरुद्ध लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से बुधवार को रंका थाना परिसर में बैठक हुई। इस मौके पर अनुमंडल पदाधिकारी संजय कुमार पांडेय ने कहा कि किसी भी घटना को हवा देकर किसी व्यक्ति के साथ मारपीट या अभद्र व्यवहार उचित नहीं है।

लोगों को किसी भी घटना को पहले अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए। इसके बाद पुलिस प्रशासन को घटना की सूचना देनी चाहिए। सूचना मिलते ही प्रशासन त्वरित निष्पादन करेगा। उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग के तहत जो घटनाएं हो रही हैं उसके दुष्परिणाम भयानक होते हैं। इसकी वजह से कई परिवार बर्बाद हो जाते हैं। एसडीपीओ मनोज कुमार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा मॉब लिंचिंग की घटनाओं में त्वरित कार्रवाई करते हुए निर्णय लिया जा रहा है। इसलिए कोई भी समुदाय के लोग बहकावे में आकर गलत काम नहीं करें और कानून को हाथ में नहीं लें। उन्होंने कहा कि थोड़ी सी चूक की वजह से बड़ी घटना घटित हो जाती है, जिसका खामियाजा समाज को भुगतना पड़ता है। बीडीओ मोहम्मद परवेज ने कहा कि अफवाहों को सुनकर लोग किसी भी तरह का निर्णय नहीं लें। किसी तरह की अफवाह की सूचना मिलने पर प्रशासन को जानकारी दें। जिससे बड़ी घटनाओं को रोका जा सके।

थाना प्रभारी चिंतामणि रजक ने कहा कि मॉब लिंचिंग की घटनाएं शर्मनाक हैं। ऐसी घटना अगर कहीं हो रही हो तो तत्काल पुलिस को सूचित करें। इसके लिए 100 नंबर डायल कर घटना की जानकारी दे सकते हैं। सूचना देने वाले का नाम गोपनीय रखा जाएगा। प्रखंड प्रमुख लीलावती देवी, जिप सदस्य उमा देवी, अंचलाधिकारी निशाच अंबर, महंत बलराम पांडेय, सुरेश पांडेय, किशोर कुमार, राजेश पांडेय, जैनुलाह अंसारी व पवन पांडेय आदि ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर अंकुश लगाने पर जोर दिया। इस मौके पर मुखिया अनिल कुमार चंद्रवंशी, रंका मुखिया प्रतिनिधि राजेश कुमार मद्धेशिया, मानपुर मुखिया प्रतिनिधि सलीम अंसारी, कंचनपुर मुखिया प्रतिनिधि नवरंगी भुईयां, संदीप कमलापुरी, भाजपा के मंडल अध्यक्ष शिव शंकर सोनी, अजय कुमार सिंह, भरत लाल चौधरी, जलील खलीफा व पूर्व मुखिया महिमा गुप्ता सहित कई लोग मौजूद थे।

शांति समिति की बैठक में शामिल अनुमंडल पदाधिकारी व अन्य।

खबरें और भी हैं...