ईमानदारी की कमी से दिव्यांगाें तक नहीं पहुंचती याेजनाएं

Garhwa News - जिला विधिक सेवा प्राधिकार गढ़वा के तत्वाधान में विश्व दिव्यांग दिवस मनाया गया। इस अवसर पर जिला एवं सत्र...

Dec 04, 2019, 08:46 AM IST
जिला विधिक सेवा प्राधिकार गढ़वा के तत्वाधान में विश्व दिव्यांग दिवस मनाया गया। इस अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष योगेश्वर मणि ने कहा कि हम सभी विधाता के संतान हैं। बिना भेदभाव सभी के लिए एक ही तरह कानून भी बने हुए हैं तथा सरकार बहुत सारी योजनाएं दिव्यांग जनों के लिए चला रही है। लेकिन ईमानदार लोगों की कमी होने के वजह से योजनाएं दिव्यांगों तक नहीं पहुंच पाती है।

उन्होंने कहा कि दिव्यांग जनों के लिए द राइट ऑफ प्रशंस विद डिसेबिलिटीज अधिनियम 2016 कानून लागू है। जिसमें प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश को ही दिव्यांगों की सारी मामले की सुनवाई करनी है। उक्त कानून में भोजन, शिक्षा, कानून पालन, फ्री अधिवक्ता, रहने की व्यवस्था, सुरक्षा का अधिकार, दिव्यांग जनों के परिवार घरवालों की सुरक्षा इत्यादि कई व्यवस्थाएं हैं।

उन्होंने कहा कि दिव्यांग जनों को पांच प्रतिशत आरक्षण प्राप्त है। जरूरत है बगैर भेदभाव किए दिव्यांग जनों के प्रति सहृदयता पूर्वक कार्य करने की। उन्होंने सभी दिव्यांग जनों से अपील किया कि मन से कुंठित होने की आवश्यकता नहीं है। जिला विधिक सेवा प्राधिकार कानूनी सहायता उपलब्ध कराने को तैयार है। जरूरत है जागरूकता लाने की तथा ईमानदारी पूर्वक कार्य करने की। इस अवसर पर मंच का संचालन जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव सिंधु नाथ लामाय ने की। जबकि मौके पर अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश शरद कुमार त्रिपाठी, स्थाई लोक अदालत के अध्यक्ष कमलनयन पांडेय, सदस्य राकेश त्रिपाठी, अर्पणा कुमारी, अधिवक्ता राकेश कुमार शुक्ला, दीपक कुमार सिंह, राहुल ऋषि, प्रेमचंद तिवारी, दिव्यांग संघ के गढ़वा जिला अध्यक्ष बबलू राम, एनजीओ संचालक रोबिन कुमार मन्ना सहित व्यवहार न्यायालय गढ़वा के कर्मचारी प्रमोद दुबे, अमर कुमार सहित काफी संख्या में दिव्यांग जनों सहित कई लोग उपस्थित थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना