एक वर्ष बाद दानरो नदी किनारे नहीं होगा कचरा का डंप

Garhwa News - एक वर्ष बाद शहर के दानरो नदी के किनारे नगर परिषद क्षेत्र से निकले कचरों काे डंप नहीं किया जाएगा। नगर परिषद क्षेत्र...

Nov 11, 2019, 06:36 AM IST
एक वर्ष बाद शहर के दानरो नदी के किनारे नगर परिषद क्षेत्र से निकले कचरों काे डंप नहीं किया जाएगा। नगर परिषद क्षेत्र के कचरा डंप करने को लेकर नगर परिषद के द्वारा सुखबाना गांव में कचरा रिसाइकलिंग डंपिंग यार्ड का निर्माण किया जा रहा है। इसका निर्माण चार माह पूर्व शुरू कर दिया गया है। निर्माण कार्य को पूर्ण करने का समय 16 माह रखा गया है। जिसमें चार माह बीत गया है। ऐसे में अगले वर्ष नवंबर माह में कार्य पूर्ण होने की संभावना है। नगर परिषद के द्वारा कचरा रिसाइकलिंग डंपिंग यार्ड का निर्माण कार्य जोरों पर किया जा रहा है। ताकि निर्धारित समय तक निर्माण कार्य पूर्ण हो सके।

नगर परिषद के पदाधिकारियों के अनुसार कचरा रिसाइकलिंग डंपिंग यार्ड का निर्माण एक अरब पांच करोड़ रुपए की लागत से किया जा रहा है। डंपिंग यार्ड बनने के बाद शहर का सारा कचरा उसी यार्ड में जाएगा। जानकारी के अनुसार कचरा रिसाइक्लिंग डंपिंग यार्ड में कचरा को रिसाइकलिंग कर उससे खाद, अंडा का ट्रे व थर्माकोल आदि का निर्माण किया जाएगा डंपिंग यार्ड निर्माण के लिए चिन्हित 10 एकड़ भूमि में चहारदीवारी का निर्माण किया जा रहा है। डंपिंग यार्ड तक पहुंचने के लिए नगर परिषद द्वारा मदरसा रोड से लेकर केरवा सुखबाना तक कालीकरण सड़क का निर्माण कराए जाने की योजना है। इस सड़क को बनाने को लेकर टेंडर भी हो चुका है। सड़क का भी निर्माण कार्य जल्द ही शुरू की जाएगी। विदित हो कि वर्तमान समय में नगर परिषद क्षेत्र के डोर टू डोर के अलावे सभी जगहों से कचरा कलेक्शन करने के बाद शहर के दानरो नदी के किनारे डंप किया जाता है।

क्या कहते हैं शहर के लोग इस संबंध में शहर के लोगों का कहना है कि कचरा रिसाइक्लिंग डंपिंग यार्ड के बन जाने से शहर के लोगों को काफी लाभ होगा। वर्तमान समय में जो शहर के दानरों नदी के किनारे कचरा का डंपिंग किया जाता है। उससे छुटकारा मिलेगा। साथ ही नदी के किनारे भी स्वच्छ रहेगा। प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सूरज प्रकाश ने कहा कि नगर परिषद के द्वारा लगातार शहर के विकास का का किया जा रहा है ताकि यहां के लोगों को हर तरह की सुविधा उपलब्ध हो सके उन्होंने कहा कि नगर परिषद के द्वारा नगर परिषद क्षेत्र में सड़क के निर्माण के साथ-साथ अन्य कार्य भी किया जा रहा है। सतीश कुमार सोनी ने कहा कि डंपिंग यार्ड बन जाने से जहां कचरा का निस्तारण करने में सहूलियत होगी वही वहां कई लोगों को रोजगार मिलने से बेरोजगारी भी दूर होगी। साथ ही नदी भी साफ रहेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना