राइस मिल कर्मी को हाथी ने सूंड़ से पटका, इलाज में देर होने पर दम तोड़ा

Ghatsila News - शनिवार की शाम जंगली हाथियों के झुंड ने एक व्यक्ति की पटक कर जान ले ली। मरने वाले व्यक्ति संजय भारती (40) चाकुलिया नगर...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 06:26 AM IST
Chakulia News - rice mill worker beats elephant with trunk died due to delay in treatment
शनिवार की शाम जंगली हाथियों के झुंड ने एक व्यक्ति की पटक कर जान ले ली। मरने वाले व्यक्ति संजय भारती (40) चाकुलिया नगर पंचायत स्थित कमारीगोड़ा का निवासी था। हाथी को देखने के लिए संजय सुबह से ही भालुकविंदा में जमा हुआ था। शनिवार की शाम हाथी को भगाने के क्रम में वह झुंड के बीच में आ गया। जिसके बाद एक हाथी सूंड़ में लपेटकर जमीन पर पटक दिया। इस दौरान मौके पर ही उसका पैर टूट गया। हाथियों के झुंड के बीच में रहने के कारण उसे निकालने में काफी देर हो गई। जिसके कारण उसकी मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने 108 एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉ केबी महतो ने उसे मृत घोषित कर दिया। संजय चाकुलिया नपं स्थित पूर्णापानी की राइस मिल में मजदूरी का काम करता था। संजय का एक बेटा और एक बेटी है। दूसरी ओर शनिवार की दोपहर चतराडोबा निवासी 30 वर्षीय प्रवीर नायक को जंगली हाथी ने पटक कर घायल कर दिया। कमारीगोड़ा के ही एक अन्य युवक वंशी दास भी हाथी के हमले से घायल हो गया। उसकी कमर में गंभीर चोट है। हाथी भगाने के क्रम में वह गिर पड़ा। इसी बीच हाथी पैर से कमर पर प्रहार कर दिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। झामुमो प्रखंड सचिव मनोरंजन ने 108 एंबुलेंस से दोनों घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया। प्राथमिक इलाज कर झाड़ग्राम रेफर कर दिया गया।

मृतक संजय।

मृतक के परिजन को दिए गए 25 हजार रुपए

हाथी के हमले से मृत संजय भारती के परिजन को रेंजर अशोक कुमार सिंह ने 25 हजार का आर्थिक सहयोग किया। शेष 3 लाख 75 हजार की मुआवजा राशि प्रक्रिया पूरी करने के बाद दे दी जाएगी। उन्होंने कहा कि हाथी द्वारा मारे जाने पर 4 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाता है। इस दौरान पद्मश्री जमुना टुडू , बीस सूत्री प्रखंड अध्यक्ष शंभुनाथ मल्लिक आदि उपस्थित थे। रेंजर अशोक कुमार सिंह ने जमुना से कहा कि हाथी द्वारा मरने पर तत्काल प्रभाव से 25 हजार की राशि देनी होती है। इसके लिए फंड नहीं होने के कारण यह राशि उन्हें अपने पास से देने में काफी परेशानी होती है।

हाथियों के झुंड में फंसने के कारण नहीं पहुंचाया जा सका समय पर अस्पताल

भालुकविंदा में जमे हाथी।

घायलों का हाल जानने अस्पताल पहुंची जमुना टुडू

सूचना पाकर पद्मश्री जमुना टुडू अस्पताल पहुंच घायल का हाल जाना। वहीं विधायक कुणाल षाड़ंगी भी अस्पताल पहुंच हाथी के हमले से घायल प्रबीर नायक का हाल जाना। वन विभाग के डीएफओ से दूरभाष पर बात कर हाथियों को क्षेत्र से भगाने की पहल करने तथा मृतक के परिजनों को मुआवजा देने तथा घायलों के इलाज में वन विभाग से मदद करने की अपील की। हाथियों का झुंड शनिवार की सुबह भालुकविंदा गांव में प्रवेश किया है। ग्रामीण जंगल के पास जमा होकर पटाखे आदि फोड़े तो हाथी एक जंगल से निकल कर पास के दूसरे जंगल की ओर भाग गए। सूचना पाकर रेंजर अशोक सिंह एवं थाना प्रभारी त्रिभुवन राम भालुकविंदा गांव पहुंचे। हाथियों को भगाने के लिए वन विभाग व ग्रामीण प्रयास कर रहे हैं।

भास्कर न्यूज| चाकुलिया

शनिवार की शाम जंगली हाथियों के झुंड ने एक व्यक्ति की पटक कर जान ले ली। मरने वाले व्यक्ति संजय भारती (40) चाकुलिया नगर पंचायत स्थित कमारीगोड़ा का निवासी था। हाथी को देखने के लिए संजय सुबह से ही भालुकविंदा में जमा हुआ था। शनिवार की शाम हाथी को भगाने के क्रम में वह झुंड के बीच में आ गया। जिसके बाद एक हाथी सूंड़ में लपेटकर जमीन पर पटक दिया। इस दौरान मौके पर ही उसका पैर टूट गया। हाथियों के झुंड के बीच में रहने के कारण उसे निकालने में काफी देर हो गई। जिसके कारण उसकी मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने 108 एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉ केबी महतो ने उसे मृत घोषित कर दिया। संजय चाकुलिया नपं स्थित पूर्णापानी की राइस मिल में मजदूरी का काम करता था। संजय का एक बेटा और एक बेटी है। दूसरी ओर शनिवार की दोपहर चतराडोबा निवासी 30 वर्षीय प्रवीर नायक को जंगली हाथी ने पटक कर घायल कर दिया। कमारीगोड़ा के ही एक अन्य युवक वंशी दास भी हाथी के हमले से घायल हो गया। उसकी कमर में गंभीर चोट है। हाथी भगाने के क्रम में वह गिर पड़ा। इसी बीच हाथी पैर से कमर पर प्रहार कर दिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। झामुमो प्रखंड सचिव मनोरंजन ने 108 एंबुलेंस से दोनों घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया। प्राथमिक इलाज कर झाड़ग्राम रेफर कर दिया गया।

अनुमंडल अस्पताल में घायल प्रवीर से जानकारी लेतीं पद्मश्री जमुना टुडू।


भालुकविंदा गांव में हाथियोें ने धान की फसल को रौंदा

हाथियों ने भालुकविंदा गांव के खेतों में लगी कई एकड़ धान की फसल को रौंद डाला। हाथियों ने अब तक केवल धान की फसल को ही नष्ट किया है। भालुकविंदा में 13 हाथियों का झुंड एक साथ घुसा है। इससे वन विभाग और गांव के लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। ग्रामीणों ने बताया कि पहले रात में हाथी जंगल से बाहर निकलते थे। लेकिन अब दिन में भी गांव में प्रवेश कर जा रहे हैं। रेंजर ने बताया कि हाथियों का झुंड सुनसुनिया जंगल से निकल भालुकविंदा के जंगल में प्रवेश किया है। हाथियों को भगाने में वन विभाग और ग्रामीण संयुक्त से पहल कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि हाथी द्वारा मारे जाने पर मुआवजा देने का प्रावधान है।

Chakulia News - rice mill worker beats elephant with trunk died due to delay in treatment
Chakulia News - rice mill worker beats elephant with trunk died due to delay in treatment
Chakulia News - rice mill worker beats elephant with trunk died due to delay in treatment
X
Chakulia News - rice mill worker beats elephant with trunk died due to delay in treatment
Chakulia News - rice mill worker beats elephant with trunk died due to delay in treatment
Chakulia News - rice mill worker beats elephant with trunk died due to delay in treatment
Chakulia News - rice mill worker beats elephant with trunk died due to delay in treatment
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना