घास-फूस की छावनी बनाकर सबर परिवार रहने को विवश

Ghatsila News - डुमरिया के आस्ताकवाली पंचायत के भीतर चाकड़ी के बरजू होनहागा (50) एक अदद आवास के लिए 10 साल से ब्लॉक का चक्कर काट रहा है।...

Nov 11, 2019, 06:32 AM IST
डुमरिया के आस्ताकवाली पंचायत के भीतर चाकड़ी के बरजू होनहागा (50) एक अदद आवास के लिए 10 साल से ब्लॉक का चक्कर काट रहा है। उसे अब तक आवास नहीं मिल पाया है। घास-फूस की छावनी बनाकर झोपड़ी में रहने को विवश है। वहीं डुमरिया प्रखंड के वैसे लोगों को आवास मिला है जिनके पास पहले से आवास तथा गाड़ी है। पैरवी की बदौलत उन्हें आवास मिला पर जिनकी पहुंच अधिकारियों तक नहीं है उन्हें आवास मिलना टेढ़ी खीर है। वह जंगल के अंदर मिट्‍टी की दीवार बनाकर छावनी में घास-फूस की छावनी बनाकर बरजू अपनी प|ी सीनी होनहागा व तीन बेटे के साथ गुजर बसर करता है। बरजू की प|ी सीनी ने बताया कि 10 साल से आवास के लिए ब्लाॅक का चक्कर काट रहे हैं। अब तक नहीं मिला है। अनाज व पेंशन भी नहीं मिलती है। सुबह से जंगल में साल पत्ता तोड़ते हैं, उसे सुखाकर बेचने पर कुछ पैसे मिल जाते हैं। उसी से हम लोग चावल खरीदते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना