• Home
  • Jharkhand News
  • Giddi
  • प्रदूषण नियंत्रक यंत्र के बिना शुरू हुई फैक्ट्री, ग्रामीणों ने िकया विरोध
--Advertisement--

प्रदूषण नियंत्रक यंत्र के बिना शुरू हुई फैक्ट्री, ग्रामीणों ने िकया विरोध

चुंबा के दर्जनों ग्रामीणों ने आन्दिता स्पंज आयरन फैक्ट्री सेनेगढ़ा को बुधवार को एक हस्ताक्षर युक्त मांग पत्र सौंप...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:15 AM IST
चुंबा के दर्जनों ग्रामीणों ने आन्दिता स्पंज आयरन फैक्ट्री सेनेगढ़ा को बुधवार को एक हस्ताक्षर युक्त मांग पत्र सौंप प्रदूषण यंत्र लगाए बिना फैक्ट्री चालू करने पर विरोध जताया है। मांडू बीस सूत्री उपाध्यक्ष राजेंद्र कुशवाहा उर्फ राजू ने बताया कि सेनेगढ़ा स्पंज फैक्ट्री द्वारा प्रदूषण के नाम पर जहर उगल रही थी। इसके विरोध में ग्रामीणों ने धरना प्रदर्शन कर प्रदूषण रहित फैक्ट्री को चलाने की मांग की थी। जिसके बाद प्रदूषण बोर्ड ने 26 दिसंबर 2017 को सेनेगढ़ा स्पंज फैक्ट्री को बंद करा दिया था। परंतु मंगलवार को फैक्ट्री प्रबंधन ने प्रदूषण यंत्र लगाए बिना ही चालू कर दिया है। जिससे पुनः आसपास के गांव में निवास करने वाले ग्रामीणों को प्रदूषण से परेशानी बढ़ गई है।

राजेंद्र कुशवाहा का कहना था कि फैक्ट्री प्रबंधन ने प्रदूषण यंत्र लगाए बिना किस आधार पर फैक्ट्री को चालू किया है। इसकी जानकारी दो दिनों के अंदर ग्रामीणों को दिया जाए। अन्यथा ग्रामीण फैक्ट्री को प्रदूषण रहित चलाने की मांग को लेकर फैक्ट्री को बंद कर दिया जाएगा। ग्रामीणों ने मांग पत्र की एक-एफ प्रतिलिपि मुख्यमंत्री, हजारीबाग सांसद, मांडू विधायक, उपायुक्त हजारीबाग/रामगढ़, एसपी हजारीबाग/रामगढ़, एसडीओ हजारीबाग/रामगढ़, बीडीओ-अंचलाधिकारी मांडू/डाड़ी, गिद्दी थाना को भी भेजा है। हस्ताक्षर करने वालों में राजेंद्र कुशवाहा, जीतन प्रजापति, मनोज महतो, गणेश महतो, इंद्रदेव प्रसाद, निरंजन महतो, मुस्तकीन अंसारी, बलराम महतो, अनिल सोनी, विनोद महतो, संदीप कुशवाहा, फूलचंद महतो, नंदू महतो, निर्मल कुमार, बसंत प्रजापति, किशोर प्रजापति, बलराम साव, बासुदेव महतो, आनंद कुमार, सुखदेव साव, बिहारी महतो, वीरेंद्र मुंडा आदि शामिल है।

मांग पत्र देने के दौरान नारेबाजी करते ग्रामीण।